Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

पाकिस्तान, बांग्लादेश के मुस्लिम घुसपैठियों को निकालने के लिए केंद्र सरकार को समर्थन देंगे : राज ठाकरे

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख ने कहा कि वे बांग्लादेशी और पाकिस्तानी मुसलमानों को देश से बाहर निकालने के लिए 9 फरवरी को मोर्चा निकालेंगे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. कहा- देश में प्रामाणिक मुसलमान इस देश के हैं, वे हमारे हैं
  2. कहा- मस्जिदों पर से लाउड स्पीकर हटा दीजिए, नमाज पढ़िए
  3. CAA, NRC पर बाहर से आए हुए लोगों का साथ हम क्यों दें?
मुंबई:

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) ने गुरुवार को मुंबई में पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि वे पाकिस्तान, बांग्लादेश से आए मुस्लिम घुसपैठियों को देश से बाहर करने के लिए केंद्र सरकार का समर्थन करेंगे. उन्होंने कहा कि इस देश में आए हुए बांग्लादेशी और पाकिस्तानी मुसलमानों को निकालने की जरूरत है. गृहमंत्री से मांग करेंगे, हम बम पर बैठे हैं. उन्होंने कहा कि वे बांग्लादेशी और पाकिस्तानी मुसलमानों को देश से बाहर निकालने के लिए 9 फरवरी को मोर्चा निकालेंगे.

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) ने कहा कि ''यहां जमे हुए मेरे सभी हिन्दू बंधुओ, कई मुद्दों पर बोलना है पर उसके पहले संगठन पर बोलना है. मुझे संगठन के विषय पर कोई भी बात अच्छी या खराब फेसबुक और ट्विटर पर नहीं दिखनी चाहिए. अगर ऐसा किसी ने किया तो उसे पार्टी के बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा. सफलता पर बाप बहुत होते हैं पर असफलता पर सलाहकार बहुत मिलते हैं. जिन्हें संगठन का काम करना है वे अपना नाम दे सकते हैं. उन्हें लिखकर देना होगा कि मुझे चुनाव नहीं लड़ना है. आपको इनका साथ देना है. जो साथ नहीं देगा उसका नाम भी मुझे पता चल ही जाएगा. तीसरी प्रमुख बात शैडो कैबिनेट बनाने की, जो सरकार के कामों पर नजर रखेगी.''

पार्टी के झंडे को लेकर राज ठाकरे (Raj Thackeray) ने कहा कि ''सन 2006 में जब एमएनएस बनाई थी तब मेरे मन का जो झंडा था वो यही भगवा है. संयुक्त महाराष्ट्र संघर्ष समिति का झंडा भी भगवा था. लेकिन समिति भंग हो गई और शिवसेना ने जन्म लिया. तब इस झंडे की कल्पना मैंने रखी थी. तब सोशल इंजीनियरिंग के नाम पर कई रंगों वाला झंडा आया था. लेकिन ये झंडा मेरे दिमाग से बाहर जा नहीं रहा था. आज लोग कह रहे हैं कि आज की परिस्थिति पर यह झंडा लाया गया. यह सिर्फ संयोग है. मूल डीएनए में तो यही झंडा था. इसलिए अधिवेशन के जरिए यह झंडा सामने लाया गया. एक बात और इस पर राजमुद्रा है. इस झंडे को बहुत जिम्मेदारी से पकड़ना है. कहीं इधर-उधर गिरना नहीं चाहिए. ठाकरे ने कहा कि दूसरा एक झंडा इंजिन चिन्ह वाला है. चुनाव में उस झंडे का इस्तेमाल होगा, इस राजमुद्रा वाले झंडे का नहीं. जनसंघ ने भी अपना झंडा और नाम बदला था. अच्छे काम के लिए परिवर्तन जरूरी होता है.''


राज ठाकरे ने अपने बेटे अमित को भी राजनीति में उतारा, पार्टी के झंडे को भगवा रंग में रंगा

राज ठाकरे ने कहा कि ''मराठी का क्या? आज सभी गांठ बांध लें. मैं मराठी भी हूं और हिन्दू भी हूं. मैंने धर्मांतरण नहीं किया है. ये आज नहीं कह रहा हूं. मैं फिर से कहना चाहता हूं कि अगर मेरी मराठी पर कोई उंगली उठाएगा तो मराठी बनकर मैं झपट पडूंगा. हिंदुत्व पर कोई उंगली उठाएगा तो उस पर हिन्दू बनकर झपट पड़ूंगा.''

उन्होंने कहा कि ''देश में प्रामाणिक मुसलमान इस देश के हैं, वो हमारे हैं. अब्दुल कलाम के योगदान को हम नकार नहीं सकते.'' उन्होंने कहा कि ''भाषा किसी धर्म की नहीं क्षेत्र की होती है. लेकिन यहां आकर कोई हंगामा करेगा तो मैं रास्ते में आऊंगा.  रजा अकादमी के लोगों ने जब आजाद मैदान पर दंगा करवाया था, महिला पुलिस कर्मियों पर हाथ डाला था तब एमएनएस ने ही मोर्चा निकालकर विरोध किया था.''

मनसे प्रमुख ने कहा कि ''धर्म को अपने घर में रखें. यह मस्जिदों पर जो लाउड स्पीकर लगे हैं, मैं पहले से कहता रहा हूं उन्हें हटा देना चाहिए, नमाज पढ़िए. आरती से किसी को कोई तकलीफ नहीं, नमाज से क्यों होनी चाहिए. मैं पहले भी हिंदुत्व के मुद्दों पर बोलता रहा हूं, तब किसी ने सवाल नहीं पूछा कि हिंदुत्व की बात कर रहे हो. अब क्यों पूछ रहे हो?''

राज ठाकरे की महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने लॉन्च किया पार्टी का नया झंडा, जानिए क्या है मतलब

ठाकरे ने कहा कि ''ये जो NRC और बाकी बात चल रही है न, पहले समझौता एक्सप्रेस बंद करो. पाकिस्तान से कोई संबंध नहीं होने चाहिए. मैंने पहले भी कहा है कि ये जो मोहल्ले बने हैं, पाकिस्तान से कभी युद्ध होगा तो अंदर से इनसे भी खतरा होगा.''

राज ठाकरे ने कहा कि ''मुझसे पूछते हैं कि मोदी की आपने निंदा की है? हां मैंने की है, पर अभिनंदन भी किया है. आज नागरिकता कानून पर जो चल रहा है, ठीक है, बहस हो सकती है. पर कौन, कैसा है? यह पुलिस सब जानती है. ये जो CAA, NRC के खिलाफ मुसलमान रोज मोर्चा निकाल रहे हैं, मुझे बताया गया कि 370 और राम मंदिर का गुस्सा CAA, NRC के बहाने निकल रहा है. ये लोग कौन हैं? बाहर से आए हुए लोगों का साथ हम क्यों दें? अमेरिका, यूरोप में जाइए,
यूट्यूब में देखिए. रेस्टोरेंट और बाकी जगहों पर पुलिस अंदर जाकर पूछती है, पासपोर्ट कहां है? क्योंकि ज्यादातर फेंक देते हैं. उनको दो ही पर्याय दिए जाते हैं, अपने देश वापसी या फिर जेल. अमेरिका और ब्रिटेन के पासपोर्ट धारकों को कई देशों में वीजा नहीं लगता है लेकिन हिंदुस्तान में लगता है. जबकि जो इधर-उधर से आते हैं उनके लिए कुछ नहीं है.''

एमएनएस के नेता ने कहा कि ''इस देश मे आए हुए बांग्लादेशी और पाकिस्तानी मुसलमानों को निकालने की जरूरत है.
मैं गृहमंत्री से मांग करूंगा, हम बम पर बैठे हैं. मुझे पता चला है, एक जगह है जहां मौलवी जाते हैं. क्या करते हैं, पता नहीं, पर कुछ तो साजिश हो रही है. गृहमंत्री और मुख्यमंत्री को नहीं पता है तो मैं बता रहा हूं. पता है तो पुलिस को खुली छूट दो.''

कौन हैं अमित ठाकरे? राज ठाकरे ने किसे करवाया अपनी पार्टी में शामिल

राज ठाकरे (Raj Thackeray) ने कहा कि ''बांग्लादेशी और पाकिस्तानी मुसलमानों को देश से बाहर निकालने के लिए 9 फरवरी को मोर्चा निकालेंगे. यह मोर्चा के ऊपर मोर्चा होगा.''

VIDEO : हिंदुत्व के मुद्दे पर शिवसेना के कमजोर पड़ने पर एमएनएस आक्रामक

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... सिर पर मटका लेकर डांस कर रही थीं महिलाएं, ऐसा था डोनाल्ड ट्रंप की पत्नी का रिएक्शन... देखें Video

Advertisement