Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

6 महीने से छोटे बच्चों को पानी पिलाने से हो सकता है पीलिया, जानें क्या है सही समय

ब्रेस्टमिल्क में लगभग 90 प्रतिशत पानी ही होता है, इसी वजह से छोटे बच्चों को उनके शुरुआती दिनों में पानी नहीं दिया जाता.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
6 महीने से छोटे बच्चों को पानी पिलाने से हो सकता है पीलिया, जानें क्या है सही समय

नवजात बच्चों को पानी पिलाने से हो सकता है पीलिया, जानें क्या है सही वक्त

खास बातें

  1. ब्रेस्टमिल्क में लगभग 90 प्रतिशत पानी
  2. मां का दूध ही बच्चों को रखे पूरी तरह हाइड्रेट
  3. दूध छुड़ाने के लिए वक्त से पहले ना पिलाएं पानी
नई दिल्ली:

छोटे बच्चों को कब पानी पिलाना शुरू करना चाहिए? यह सवाल लगभग सभी नई मां बनी महिलाओं को परेशान करता है. क्योंकि ब्रेस्टमिल्क में लगभग 90 प्रतिशत पानी ही होता है, इसी वजह से छोटे बच्चों को उनके शुरुआती दिनों में पानी नहीं दिया जाता. यह कंडीशन मई या जून जैसे गर्मी भरे मौसम में भी लागू होती है, क्योंकि मां का दूध ही उन्हें पूरी तरह से हाइड्रेट रखता है. कई रिसर्च से यह भी मालूम हुआ कि मां का दूध बच्चों में पानी की कमी को पूरी करने के साथ-साथ सभी जरूरी न्यूट्रिएंट्स भी देता है. और, लगभग 6 महीनों तक बच्चे मां के दूध पर ही निर्भर रह सकते हैं. 

खाना या पढ़ाई ही नहीं, बच्चों को खिलौने देते वक्त भी बरते सावधानियां, पढ़ें 5 बातें

डॉ. गोरिका बंसल के मुताबिक ब्रेस्ट मिल्क छोटे बच्चों के ग्रोथ के लिए संपूर्ण आहार है. मां के दूध को इस तरह समझा जा सकता है. सबसे पहले आता है हिंडमिल्क जिसमें फैट मौजूद होता है और फिर आता है फोरमिल्क यह पानी होता है जिससे बच्चे की प्यास बुझती है. लेकिन यह पानी और फैट दोनों बच्चों तक पहुंचाने के लिए जरूरी है कि उन्हें हरेक साइड से पूरा दूध पिलाया जाए. एक साइड से पूरा दूध पिलाने के बाद ही दूसरी तरफ उन्हें दूध पिलाया जाए. ऐसा ना करने पर उन्हें संपूर्ण पोषक तत्त्व नहीं मिल पाते. 


बच्चों को देना चाहते हैं मोबाइल फोन? तो ये है सही उम्र और तरीका​

आगे उन्होंने कहा कि यह फॉर्मूला पाउडर दूध में भी लागू होता है. आप उन्हें गुनगुने पानी में दूध पाउडर मिला कर दें. खाली पानी 6 महीने तक के बच्चों के लिए फायदेमंद नहीं होता. 

दूध नहीं पसंद? तो बच्चों और बड़ों को पिलाएं ये 5 तरह के Milk​

एक महीने से छोटे बच्चों को पानी देने से होते हैं ये नुकसान:
1. बच्चों को पानी पिलाने से उनका वजन कम हो सकता है और उन्हें पीलिया होने का खतरा बढ़ सकता है. 
2. नवजात बच्चों को पानी पिलाने से उन्हें ओरल वाटर इन्टॉक्सीकेशन हो सकता है. 
3. बच्चों को पानी पिलाने से वह मां के दूध से दूर हो जाते हैं जो उनकी सेहत के लिए अच्छा नहीं.  

पढ़ाई के साथ अपनाएं ये 4 TIPS, बढ़ेगी मेमोरी और रिजल्ट होगा बेहतर​

बच्चों को पानी कब पिलाएं:
1. जब बच्चा 4 महीने का हो जाए हो आप उसे दिन में एक या दो बार दो से तीन चम्मच पानी पिला सकते हैं.
2. जब भी बच्चा सॉलिड फूड खाने लगे तब आप उसे पानी पिला सकते हैं. ताकि उसे कब्ज की परेशानी ना हो. 
3. 6 महीने के बाद बच्चों को मां का दूध और पानी दोनों पिला सकते हैं.

टिप्पणियां

18 साल के बाद भी बढ़ सकता है बच्चों का कद, अपनाने होंगे ये 4 आसान तरीके​​ 

देखें वीडियो - बहते बच्चे की बहादुरी ने बचाई जान
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... नवीन पटनायक द्वारा आयोजित भोज में साथ भोजन करते नजर आए अमित शाह और ममता बनर्जी

Advertisement