फिर लौटा 'सिंदूर' का फैशन, इस डिज़ाइनर ने अपने कलेक्शन में दिखाया कुछ ऐसे

नीना गुप्ता और दिग्गज क्रिकेट खिलाड़ी विवियन रिचर्ड्स की बेटी मसाबा ने कहा, "सिंदूर एक फैशन स्टेटमेंट बन सकता है और आपके दैनिक जीवन का हिस्सा हो सकता है, इस परिधान संग्रह के जरिए हम आधुनिक महिला की पसंद पर जोर दे रहे हैं."

फिर लौटा 'सिंदूर' का फैशन, इस डिज़ाइनर ने अपने कलेक्शन में दिखाया कुछ ऐसे

सिंदूर पुराना चलन नहीं, पसंद का मामला है : मसाबा गुप्ता

खास बातें

  • मसाबा गुप्ता का नया कलेक्शन
  • कलेक्शन की हाईलाइट रहा सिंदूर
  • आउटफिट्स के साथ दिखाया कमाल का मिक्स
नई दिल्ली:

मांग से सिंदूर भरना कुछ सालों से मॉर्डन भारत से गायब सा हो गया था, लेकिन डिज़ाइनर मसाबा गुप्ता एक बार फिर इस परंपरा को वापस ला रही हैं. उन्होंने अपने समर फेस्टिव 18 कलेक्शन में सिंदूर का बड़ी ही खूबसूरती से पेश किया. मसाबा का इस सिंदूर को अपने कलेक्शन में हाईलाइट करने के के बारे में कहना है कि वह सिंदूर को पुराना चलन नहीं मानतीं. 

सब्यासाची के कलेक्शन में रंगों और फूलों ने दिखाया 'वसंत', देखते रह जाएंगे

लीक से हटकर कपड़े डिजाइन करने के लिए जानी जाने वाली मसाबा के नए संग्रह का नाम बर्निंग गार्डन है और यह समकालीन है और इसमें सिंदूर का ट्विस्ट है. 

मुंबई से ईमेल के जरिए दिए साक्षात्कार में मसाबा ने बताया, "चूंकि कपड़े बहुत आधुनिक हैं, सिंदूर इसे एक अच्छा पारंपरिकता का स्पर्श प्रदान करता है. यह इस तथ्य को दर्शाता है कि सिंदूर पुराना फैशन या चलन नहीं है."

सब्यासाची मुखर्जी के 10 Facts: अनुष्का से दीपिका तक, जब इनके आउटफिट्स में दिखीं ये डीवाज़

फिल्म निर्माता मधु मंटेना की पत्नी मसाबा ने कहा कि आज सिंदूर पसंद का मामला ज्यादा है. उन्होंने सिंदूरी रंग के साथ प्रयोग कर परिधानों को ज्यादा शहरी और युवा लुक प्रदान किया है. 

मसाबा ने कहा, "हमने रंगों के साथ प्रयोग करने का फैसला किया. सफेद सिंदूर फैशन स्टेटमेंट है, जबकि हॉट पिंक पारंपरिक सिंदूर से थोड़ा अलग है. हॉट पिंक आधुनिक भारतीय महिला का प्रतिनिधित्व भी करता है...अगर कोई अलग व दिलचस्प तरीके से सिंदूर लगाना चाहता है, तो यह ऐसा करने का बेहतर तरीका है."

 

A post shared by Mufasa(@masabagupta) on


Fashion Trends: इस साल HIT होंगे ब्लाउज के ये डिजाइन्स, आज ही बनवाएं अपने टेलर से

यह पूछे जाने पर कि महिलाओं को अक्सर सिंदूर लगाने या नहीं लगाने पर कि वे पारंपरिक हैं या ज्यादा आधुनिक नहीं है, इस आधार पर आंका जाता है, क्या इस वजह से सिंदूर के इस्तेमाल में कमी आ रही है? नीना गुप्ता व दिग्गज क्रिकेट खिलाड़ी विवियन रिचर्ड्स की बेटी मसाबा ने कहा, "हां, मुझे ऐसा लगता है. एक डिजाइन हाउस के रूप में हमारे पास आवाज बुलंद करने का जरिया है और एक महिला होने के नाते, मेरी एक राय है, जिससे महिलाएं जुड़ सकती हैं...सिंदूर एक फैशन स्टेटमेंट बन सकता है और आपके दैनिक जीवन का हिस्सा हो सकता है, इस परिधान संग्रह के जरिए हम आधुनिक महिला की पसंद पर जोर दे रहे हैं."

Lehenga 2018: दोस्त की वेडिंग या घर में शादी, पहनें इस साल के सबसे स्टाइलिश लहंगे​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने कहा, "यह फैसला करना आधुनिक दौर की महिलाओं के ऊपर है कि सिंदूर को वे अपने दैनिक जीवन का हिस्सा बनाए या नहीं. इसलिए हमने विभिन्न अवतार दर्शाए हैं, जैसे साड़ी से लेकर हल्के परिधान व कुर्ता सेट." (इनपुट - आईएएनएस)

देखें वीडियो - विजयादशमी के मौके पर सिंदूर खेला