NDTV Khabar

Diabetes Day: नहीं होना चाहते डायबिटीज का शिकार तो अपनाएं ये 8 टिप्स

World Diabetes Day 2019: टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज के अलावा एक और तरह का मधुमेह होता है जिसे गेस्टेशनल डायबिटीज (Gestational Diabetes) कहते हैं. ये प्रेग्नेंट महिलाओं में होता है, जो ज्यादातर मामलों में डिलीवरी के बाद खत्म हो जाता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Diabetes Day: नहीं होना चाहते डायबिटीज का शिकार तो अपनाएं ये 8 टिप्स

Diabetes से बचने के 8 टिप्स

नई दिल्ली:

World Diabetes Day: November 14 को चिल्ड्रन्स डे (Children's Day) के साथ-साथ वर्ल्ड डायबिटीज डे ( World Diabetes Day) भी मनाया जाता है. इस दिन मधुमेह से प्रति लोगों को जागरुक किया जाता है. भारत में डायबिटीज से बहुत ज्यादा लोग पीड़ित हैं. खून में शुगर की मात्रा ज्यादा होने के कारण लोगों में टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज का खतरा बढ़ रहा है. टाइप 1 डायबिटीज (Type 1 Diabetes) बच्चों और कम उम्र में ही लोगों को अपना शिकार बना लेता है. इसमें इंसुलिन का उत्पादन नहीं पर्याप्त मात्रा में नहीं होता. वहीं, खराब लाइफस्टाइल और बढ़ते वजन के कारण टाइप 2 डायबिटीज (Type 2 Diabetes) होता है. 

टाइप 1 और टाइप 2 डायबिटीज के अलावा एक और तरह का मधुमेह होता है जिसे गेस्टेशनल डायबिटीज (Gestational Diabetes) कहते हैं. ये प्रेग्नेंट महिलाओं में होता है, जो ज्यादातर मामलों में डिलीवरी के बाद खत्म हो जाता है. लेकिन गेस्टेशनल डायबिटीज से पीड़ित महिलाओं को बाद में डायबिटीज 2 होने का खतरा बढ़ जाता है. 

यहां जानिए वो टिप्स जिससे आप डायबिटीज (टाइप 2 से) से बच सकते हैं. (Lifestyle Tips to Avoid Diabetes)


1. एक्स्ट्रा वजन घटाएं - अपनी हाइट के मुताबिक अपने वजन को कंट्रोल करें. रेगुलर एक्सरसाइज़ करें और डाइट पर कंट्रोल करें.
2. लो-कार्ब डाइट को अपनाएं - कई स्टडीज़ बताती हैं कि लो-फैट या लो-कार्ब डाइट से ब्लड शुगर लेवल 12 प्रतिशत तक कम हो जाता है और इंसुलिन 50 प्रतिशत तक घट जाता है.
3. स्मोकिंग छोड़ें - धुम्रपान से टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है. इसलिए स्मोकिंग ना करें.
4. स्ट्रेस को करें कम - ज्यादा स्ट्रेस ब्लड शुगर लेवल को बढ़ाता है, जिससे डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है. 
5. पूरी नींद लें - स्ट्रेस की तरह कम नींद ब्लड शुगर लेवल को बिगाड़ती है. इसलिए 7 से 8 घंटों की नींद जरूर लें. 
6. एक्सरसाइज़ करें - रोज़ाना व्यायाम से स्ट्रेस, ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रोल नहीं बढ़ते. इसिलए हर दिन 30 मिनट तक अपनी कोई भी मनपसंद एक्सरसाइज़ जरूर करें.
7. शुगर कम करें - नैचुरल शुगर खाएं. कैंडी, ड्रिंक्स, मिठाई या फिर चीनी से बनें प्रोडक्ट्स को कम मात्रा में ही खाएं.
8. खूब पानी पीएं - पानी कई बीमारियों का इलाज है. स्टडी बताती है कि रोज़ाना 8 से 10 ग्लास पानी ब्लड शुगर को कंट्रोल कर सकता है.

लाइफस्टाइल से जुड़ी और खबरें...

डायबिटीज के मरीज बिंदास होकर खाएं अंडे लेकिन इस मात्रा से ज्यादा नहीं

मोटापे से हैं परेशान, तो इन 7 चीज़ों को जी भरकर खाएं...नहीं बढ़ेगा Fat

रोटी या चावल? जानिए वजन कम करने के लिए दोनों में से क्या है बेहतर

टिप्पणियां

Tulsi Benefits: सिर्फ सर्दी-जुकाम नहीं, तुलसी इन बीमारियों का भी है रामबाण इलाज



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement