NDTV Khabar

बेगूसराय : अमित शाह ने कन्हैया को कहा नमूना, जानिए- 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' कहने के पीछे क्या है मंशा

लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में 29 अप्रैल को बिहार के पांच संसदीय क्षेत्रों में मतदान होगा, बेगूसराय सीट पर सबकी निगाहें टिकीं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बेगूसराय : अमित शाह ने कन्हैया को कहा नमूना, जानिए- 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' कहने के पीछे क्या है मंशा

बेगूसराय में चुनावी रैली के दौरान बीजेपी के प्रत्याशी गिरिराज सिंह के साथ पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह.

खास बातें

  1. अमित शाह ने अपने भाषण में कांग्रेस और कन्हैया दोनों को निशाने पर रखा
  2. कहा- टुकड़े-टुकड़े गैंग के लोगों को पराजित करें ताकि वे वापस दिल्ली जाएं
  3. बेगूसराय के प्रचार अभियान का मुख्य मुद्दा राष्ट्र भक्ति को बनाने की कोशिश
बेगूसराय:

बिहार (Bihar) में चौथे चरण में जिन पांच संसदीय क्षेत्रों में मतदान होना है उसमें से बेगूसराय (Begusarai) ऐसी सीट है जिस पर सबकी निगाहें टिकी हैं. यहां मुख्य मुकाबला NDA के उम्मीदवार केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) और CPI के कन्हैया (Kanhaiya Kumar) के बीच है. प्रचार जैसे-जैसे तेज हो रहा है, BJP और उनके सहयोगी दलों से बड़े-बड़े नेता गिरिराज सिंह के समर्थन में प्रचार मैदान में आ रहे हैं. बुधवार को BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) बेगूसराय पहुंचे. वहां उन्होंने CPI उम्मीदवार कन्हैया का नाम लिए बिना उन्हें नमूना बताया और लोगों से अपील की कि 'टुकड़े-टुकड़े गैंग' को परास्त कर उल्टे पैर वापस दिल्ली भेजें.

अमित शाह (Amit Shah) ने अपने भाषण में साफ कहा कि भले उनके उम्मीदवार गिरिराज सिंह विकास को मुख्य मुद्दा मानते हैं लेकिन विकास और गरीबी से ज़्यादा बड़ा मुद्दा बेगूसराय के लोगों के लिए टुकड़े-टुकड़े गैंग को परास्त करना है. शाह ने अपने भाषण में कांग्रेस और कन्हैया दोनों को निशाने पर रखा लेकिन कन्हैया (Kanhaiya Kumar) का नाम नहीं लिया. वहीं कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का बार-बार नाम लेकर कहा कि वे राजद्रोह की धारा खत्म कर देशद्रोहियों को बढ़ावा दे रहे हैं.


बिहारः कन्हैया कुमार के लिए कैंपेनिंग करने पहुंचे सीताराम येचुरी बोले- राजद से रिश्ता पुराना मगर यह 'खेदजनक'

अपने भाषण में शाह (Amit Shah) ने कहा कि वह कहते हैं कि राजद्रोह की दफा ही हटा दो, तो बताइए कि देशद्रोहियों को जेल की सलाखों के पीछे डालना चाहिए या नहीं. शाह ने कहा कि गठबंधन वाले कहते हैं कि देशद्रोह की दफ़ा ही हटा दो. क्यों कर रहे हैं, आपको मालूम है? मैं आपको बताता हूं. आपके यहां एक नमूना आया है... JNU (जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी) में जो नारे लगे थे,  भारत तेरे टुकड़े होंगे हजार इंशा अल्लाह.. इंशा अल्ला, मित्रो नरेंद्र मोदी की सरकार ने राजद्रोह का मुकदमा कर जेल की सलाखों के पीछे इन लोगों को डाल दिया. उस वक्त राहुल गांधी JNU पहुंचे और उन्होंने कहा कि यह अभिव्यक्ति की आजादी का मामला है.

शाह (Amit Shah) ने कहा कि बेगूसराय में यह बड़ा मुद्दा है कि इन टुकड़े-टुकड़े गैंग के लोगों को पराजित किया जाए जिससे कि वह वापस दिल्ली जाएं.

VIDEO : सिर्फ पीएम की चापलूसी कर सकते हैं गिरिराज

टिप्पणियां

निश्चित रूप से अमित शाह (Amit Shah) ने कन्हैया पर टुकड़े-टुकड़े गैंग के सदस्य होने का आरोप लगाकर बेगूसराय के प्रचार अभियान का मुख्य मुद्दा राष्ट्र भक्ति को बनाने की कोशिश की है. लेकिन वहीं उन्होंने कन्हैया (Kanhaiya Kumar) ने जो ट्वीट कर उनसे पांच सवाल पूछे थे, उनके बारे में अपने भाषण में कोई चर्चा नहीं की.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement