NDTV Khabar

1862 करोड़ रुपए की छापेमारी पर पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा- 6 साल में ऐसा कभी नहीं देखा

भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी ने मंगलवार को एनडीटीवी से बातचीत की. लोकसभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग द्वारा देशभर में कई जगहों पर छापा मारकर 1800 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति जब्त की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
1862 करोड़ रुपए की छापेमारी पर पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा- 6 साल में ऐसा कभी नहीं देखा

पूर्व मुख्य चुनाव आयोग एसवाई कुरैशी- (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

भारत के पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी ने मंगलवार को एनडीटीवी से बातचीत की. लोकसभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग द्वारा देशभर में कई जगहों पर छापा मारकर 1800 करोड़ से ज्यादा की संपत्ति जब्त की है. इस मसले पर कुरैशी से सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा, 'जी, ये चौंकाने वाली बात तो है, लेकिन इसमें कोई सरप्राइज होने की जरूरत भी नहीं है क्योंकि चुनाव में पैसा तो बहुत खर्च होता है.' बता दें, चुनाव आयोग और आयकर विभाग के अधिकारियों ने अब तक करीब 1,862 करोड़ रुपए की बरामदगी कर चुका है. यह आंकड़ा 8 अप्रैल तक का है, जिसमें नकदी, शराब और ड्रग्स जब्त किए हैं. इस बारे में एनडीटीवी से बात करते हुए एसवाई कुरैशी ने कई बातें भी शेयर की.

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में BJP के काफिले पर नक्सलियों ने किया हमला, MLA भीमा मंडावी समेत 5 की मौत


कुरैशी ने कहा, ''1800 करोड़ से ज्यादा के माल जब्ती से साफ है कि लोकसभा चुनाव में पैसे का इस्तेमाल पहले से ज्यादा हो रहा है.'' इस बारे में उन्होंने आगे बताया, '700 करोड़ से ज्यादा की ड्रग्स और नशीले पदार्थ की जब्ती की है. पहले ड्रग्स पंजाब और मणिपुर में पकड़ी जाती थी. इस बार गुजरात में सबसे ज्यादा ड्रग्स पकड़ी गई है, जो मुझे समझ नहीं आ रहा है.'

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी ने कहा, 'चुनाव के दौरान आई छापा पर हैरानी हो रही है. इलेक्शन के वक्त सामान्यत: सरकार के सारे विभाग सतर्क हो जाती है, लेकिन कोई ऐसा काम करना कि सरकार दबाव डाल रही है और लेवल प्लेइंग फील्ड डिस्टर्ब करने की कोशिश हो रही है, ये अनयुजूअल है. हमने चुनाव आयोग में अपने 6 साल में ऐसा कभी नहीं देखा.'

Video: काले धन पर चुनाव आयोग की सख्ती

टिप्पणियां

पहले बताया खुद को 'राजनीति का दामाद', फिर बारात लेकर पहुंचे नामांकन करने, अब दर्ज हुई FIR

बता दें, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamal Nath) के करीबी सहयोगियों और अन्य के खिलाफ की गई आयकर विभाग (Income Tax) की छापेमारी में 281 करोड़ रूपये की बेहिसाबी नकदी के 'विस्तृत एवं सुसंगठित' रैकेट का पता लगाया है. मध्य प्रदेश तथा दिल्ली के बीच हुए संदिग्ध भुगतान से जुड़ी डायरी तथा कंप्यूटर फाइलें अपने कब्जे में ली हैं. केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने कहा कि विभाग को 20 करोड़ रुपये की संदिग्ध नकदी के तुगलक रोड पर रहने वाले महत्त्वपूर्ण व्यक्ति के घर से 'दिल्ली की बड़ी राजनीतिक पार्टी के मुख्यालय' तक कथित तौर पर जाने के सुराग भी मिले हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement