NDTV Khabar

Elections 2019: पूर्व केंद्रीय मंत्री ने किया दावा- इस वजह से आई सेंसेक्स में तेजी

Elections 2019:: पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वह शिद्दत से महसूस करते हैं कि एक्जिट पोल जमीनी हकीकत को बयां नहीं करते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Elections 2019: पूर्व केंद्रीय मंत्री ने किया दावा- इस वजह से आई सेंसेक्स में तेजी

Elections 2019: वीरप्पा मोइली ने बताई वजह

नई दिल्ली:

Elections 2019: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एम वीरप्पा मोइली ने बुधवार को आरोप लगाया कि केंद्र में भाजपा सरकार की वापसी का पूर्वानुमान जताने वाले एक्जिट पोल का मकसद स्टॉक बाजार में निवेशकों की धारणा को बढ़ाने और विपक्षी दलों की एकता में ‘‘फूट'' डालना है. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वह शिद्दत से महसूस करते हैं कि एक्जिट पोल जमीनी हकीकत को बयां नहीं करते हैं.  उन्होंने दावा किया कि एक्जिट पोल करने वाली कुछ एजेंसियां यह कह कर ‘‘जिम्मेदारी से भाग'' रही हैं कि ‘‘इसमें पूरी तरह से गड़बड़ियां'' हैं. 

Election Result: पहला चुनाव परिणाम रात 10 बजे के बाद आने की उम्मीद- निर्वाचन अधिकारी


उन्होंने कहा इसे (मोदी सरकार की वापसी का दावा करने वाला एक्जिट पोल) निश्चित ही कुछ दूसरे मकसद से किया गया है. पहले स्थान पर स्टॉक मार्केट का प्रोजेक्ट है. लोगों को 4.5 लाख करोड़ से पांच लाख करोड़ रूपये तक का फायदा हुआ है. उनका इशारा सोमवार को बीएसई स्टॉक एक्सचेंज में आई 1422 अंकों की उछाल की ओर था जिससें निवेशकों का धन 5.33 लाख करोड़ रूपये बढ़ गया. ऐसा उछाल तब देखने को मिली जब एक्जिट पोलों में बीजेपी नीत राजग सरकार की वापसी का दावा किया गया. मोइली ने कहा कि और दूसरा (एक्जिट पोलों का ऐेसा होना) यह है कि विपक्षी एकता को तोड़ा जाए. इसमें वे सफल नहीं होंगे. 

Election Results: कांग्रेस ने EC से पूछा सवाल- VVPAT पर्चियों की गिनती की मांग किस आधार पर हुई खारिज

टिप्पणियां

कल (मतगणना के दिन) इस बात पर अचरज नहीं होना चाहिये अगर विपक्षी एकता बहुमत हासिल कर ले. जब उनसे पूछा गया कि क्या ‘‘कई तरह के'' गैर-भाजपा, गैर-राजग दल की एकता का प्रयास कारगर होगा तो उन्होंने ने कहा कि कई बार यह इसलिए काम करता है क्योंकि साझा दुश्मन मोदी और बीजेपी है. चूंकि चुनाव के समय ये सभी दल भाजपा की ज्यादती से परेशान हैं. इसलिए, मैं नहीं समझता कि वे बीजेपी के साथ जाएंगे. सरकार बनने पर प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार चुनने के "विवादास्पद" मुद्दे पर, उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि विपक्ष से प्रधानमंत्री चुनने में बहुत कठिनाई है. मोइली से जब पूछा गया था कि क्या कांग्रेस प्रधानमंत्री के पद पर जोर नहीं देगी तो उन्होंने कहा, ‘‘हम कल ही कोई प्रतिक्रिया देंगे''. 

Video: एग्जिट पोल के बाद सट्टा बाजार सकते में!



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement