कांग्रेस के ऑफर पर बरसीं मायावती, कहा-कांग्रेस से कोई गठबंधन नहीं, अखिलेश ने सुर में सुर मिलाया

कांग्रेस ने सपा-बसपा गठबंधन के लिए 7 सीटें छोड़ने का ऐलान किया तो मायावती ने साफ कर दिया कि कांग्रेस जबरदस्ती यूपी में गठबंधन हेतु 7 सीटें छोड़ने की भ्रान्ति न फैलाएं.

कांग्रेस के ऑफर पर बरसीं मायावती, कहा-कांग्रेस से कोई गठबंधन नहीं, अखिलेश ने सुर में सुर मिलाया

कांग्रेस के ऑफर पर मायावती और अखिलेश ने जताया एतराज

खास बातें

  • कांग्रेस के ऑफर पर नाराज हुईं मायावती
  • कहा- हमारा गठबंधन बीजेपी को हराने में सक्षम
  • भ्रांति न फैलाएं कांग्रेस- बीएसपी सुप्रीमो
नई दिल्ली:

कांग्रेस द्वारा सपा बसपा रालोद गठबंधन के लिये सात सीटें छोडे जाने पर बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायवाती ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस जबरदस्ती यूपी में गठबंधन हेतु सात सीटें छोड़ने की भ्रान्ति न फैलाये, वह प्रदेश की पूरी अस्सी सीटों पर लडने के लिये स्वतंत्र है. मायावती के सुर में सुर मिलाते हुये समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उनका गठबंधन भाजपा को हराने में सक्षम है, कांग्रेस किसी तरह का भ्रम न पैदा करे.  

गौरतलब है कि रविवार को कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर ने प्रदेश की सात सीटों पर गठबंधन के प्रत्याशियों के खिलाफ उम्मीदवार नहीं उतारने का ऐलान किया था. बसपा सुप्रीमो ने सोमवार को एक टिवट में कहा कि ''बीएसपी एक बार फिर स्पष्ट कर देना चाहती है कि उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में कांग्रेस पार्टी से हमारा किसी भी प्रकार का तालमेल या गठबंधन नहीं है. हमारे लोग कांग्रेस पार्टी द्वारा आये दिन फैलाये जा रहे भ्रम में कतई न आएं. उन्होंने एक दूसरे ट्वीट में कहा कि ''कांग्रेस यूपी में भी पूरी तरह से स्वतंत्र है कि वह यहाँ की सभी 80 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ा करके अकेले चुनाव लड़े अर्थात हमारा यहां बना गठबंधन अकेले बीजेपी को पराजित करने में पूरी तरह से सक्षम है. कांग्रेस जबरदस्ती यूपी में गठबंधन हेतु सात सीटें छोड़ने की भ्रान्ति ना फैलाए. 

लोकसभा चुनावों में कांग्रेस के 'साथ' होने पर भीम आर्मी का बयान, कहा-साथ देने का कोई कारण नहीं

क्या सातवें उम्मीदवार की घोषणा के साथ AAP ने कांग्रेस से गठबंधन के सभी दरवाजे कर लिए बंद? जानिये गोपाल राय ने क्या दिया जवाब

मायावती के ट्वीट के बाद समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बसपा सुप्रीमो के सुर में सुर मिलाते हुये ट्वीट कर कहा कि'' उत्तर प्रदेश में सपा, बसपा और रालोद का गठबंधन भाजपा को हराने में सक्षम है. कांग्रेस पार्टी किसी तरह का कन्फयूजन न फैलाएं. 

Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस ने यूपी की 7 सीटों पर अपने कैंडिडेट्स नहीं उतारने का किया ऐलान, सपा-बसपा ने छोड़ी हैं 2 सीटें

Newsbeep

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस अध्यक्ष राजबबर ने रविवार को ऐलान किया था कि आगामी लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी सपा -बसपा-रालोद गठबंधन के लिए सात सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारेगी. राज बब्बर ने बताया था कि कांग्रेस सपा-बसपा-रालोद के लिए सात सीटें छोड रही है इनमें मैनपुरी, कन्नौज और फिरोजाबाद शामिल हैं. इसके अलावा पार्टी उन सीटों पर किसी प्रत्याशी को नहीं उतारेगी, जिन पर बसपा सुप्रीमो मायावती, रालोद प्रमुख अजित सिंह और उनके बेटे जयंत के लड़ने की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि गठबंधन ने रायबरेली और अमेठी सीटें कांग्रेस के लिए छोडी हैं. उसी क्रम में हम गठबंधन के लिए सात सीटें छोड रहे हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video: एक महाभारत के भीतर कई छोटे-मोटे युद्ध