NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव से पहले सपा को झटका: पूर्व सांसद ने थामा कांग्रेस का हाथ, बांदा से लड़ेंगे चुनाव

बाल कुंवर पटेल समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में कुर्मी समुदाय का बड़ा चेहरा थे. अब वे बांदा लोकसभा सीट से कांग्रेस (Congress) के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव से पहले सपा को झटका: पूर्व सांसद ने थामा कांग्रेस का हाथ, बांदा से लड़ेंगे चुनाव

ल ने साल 2009 में सपा के टिकट पर मिर्जापुर लोकसभा सीट से चुनाव जीता था.

नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) से पहले अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) की समाजवादी पार्टी को बड़ा झटका लगा है. उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर से समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद बाल कुंवर पटेल (Bal Kunwar Patel) ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. पटेल ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और कांग्रेस महासचिव और पूर्व उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) वाड्रा की मौजूदगी में पार्टी ज्वाइन की है. इस दौरान उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर और पश्चिमी यूपी कांग्रेस प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया भी वहां मौजूद थे. 

बाल कुंवर पटेल समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में कुर्मी समुदाय का बड़ा चेहरा थे. अब वे बांदा लोकसभा सीट से कांग्रेस (Congress) के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे. पटेल ने साल 2009 में सपा के टिकट पर मिर्जापुर लोकसभा सीट से चुनाव जीता था. साल 2014 में पार्टी ने उनकी सीट मिर्जापुर से बदलकर बांदा कर दी, जहां वे बहुत कम अंतर से हार गए. 


गाजियाबाद : सपा ने बदला लोकसभा चुनाव का उम्मीदवार, अब इन्हें उतारा मैदान में

बता दें, बांदा में बाल कुंवर पटेल को समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार श्यामा चरण गुप्ता से मुकाबला करना होगा. उत्तर प्रदेश की प्रयागराज लोकसभा सीट से भाजपा सांसद श्यामा चरण गुप्ता ने हालही समाजवादी पार्टी का दामन थामा है. इसके बाद समाजवादी पार्टी ने उन्हें बांदा से अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया.

 विपक्षी पार्टियों की जीत के लिए यूपी में 'एक्स फैक्टर' साबित होंगे मुस्लिम वोटर, पढ़ें डॉ. प्रणय रॉय का विश्लेषण

बता दें, गुप्ता 2014 का चुनाव भाजपा के टिकट पर लड़े थे और प्रयागराज से लोकसभा सांसद निर्वाचित हुए थे. 2004 में वह सपा के टिकट पर बांदा से चुनाव जीत चुके हैं. बताया जाता है कि गुप्ता को इस बार भाजपा द्वारा टिकट काटे जाने की आशंका थी इसलिए उन्होंने सपा में जाने का फैसला किया. इस बीच भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा था कि गुप्ता को अहसास था कि उनके कर्मों से इस बार उन्हें भाजपा से टिकट नहीं मिलेगा इसलिए उन्होंने अपना नया ठिकाना तलाश लियाय

लोकसभा चुनाव के दौरान मामूली 'बदलाव' भी पूरे UP में बदल डालेगा नतीजों की सूरत : डॉ प्रणय रॉय का विश्लेषण

गुप्ता, जो एक बडे कारोबारी हैं, 2009 का चुनाव सपा के टिकट पर फूलपुर से लडे थे लेकिन उन्हें पराजय का सामना करना पडा था. बसपा के साथ समझौते के तहत सपा को 37 सीटें मिली हैं जबकि बसपा 38 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. तीन सीटें रालोद को दी गयी हैं जबकि गठबंधन ने सोनिया गांधी के निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली और राहुल गांधी के क्षेत्र अमेठी से उम्मीदवार नहीं उतारने का फैसला किया है. 

80 लोकसभा सीटों वाले उत्तर प्रदेश में 11 अप्रैल से शुरू होने जा रहे चुनाव के सभी चरणों में मतदान होगा.

(इनपुट- एजेंसी)

यूपी में त्रिकोणीय मुकाबला: कांग्रेस और SP-BSP के अलग-अलग चुनाव लड़ने से BJP को कितना मिलेगा फायदा? आंकड़ों में समझें

टिप्पणियां

VIDEO- बीजेपी सांसद श्यामाचरण गुप्ता को सपा ने बांदा से दिया टिकट

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement