NDTV Khabar

लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप ने बनाया नया मोर्चा, मां राबड़ी देवी से की ये अपील, साथ ही RJD को धमकी भी दी

बिहार के वैशाली जिले के महुआ विधानसभा क्षेत्र से विधायक और प्रदेश के पूर्व मंत्री तेजप्रताप ने अपने नए संगठन 'लालू-राबड़ी मोर्चा' के बारे में बताया कि 'यह राजद से अलग नहीं है'.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप ने बनाया नया मोर्चा, मां राबड़ी देवी से की ये अपील, साथ ही RJD  को धमकी भी दी

लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव.

पटना:

राजद प्रमुख लालू प्रसाद (Lalu Prasad Yadav) के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने सोमवार को अपनी माता राबड़ी देवी (Rabri Devi) से सारण लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने का आग्रह करके राजद (RJD) के लिए नई मुसीबत खड़ी कर दी है, जहां उन्होंने यह भी कहा कि अगर उनके आग्रह पर विचार नहीं किया गया तो वह निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर इस सीट से चुनावी मैदान में कूद पडेंगे. तेजप्रताप (Tej Pratap Yadav) ने 'लालू-राबड़ी मोर्चा' के गठन का ऐलान करते हुए सोमवार को कहा, ‘सारण मेरे पिता लालू जी और मां राबड़ी जी की सीट है. मैं अपनी मां से हाथ जोड़कर आग्रह करता हूं कि वह खुद वहां से चुनावी मैदान में उतरें. अगर ऐसा नहीं होता है तो मैं एक निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लडूंगा और इसे जीतने की पूरी कोशिश करूंगा.'

बिहार के वैशाली जिले के महुआ विधानसभा क्षेत्र से विधायक और प्रदेश के पूर्व मंत्री तेजप्रताप ने अपने नए संगठन 'लालू-राबड़ी मोर्चा' के बारे में बताया कि 'यह राजद से अलग नहीं है' और उन्होंने अपने माता-पिता की तस्वीरों के अलावा छोटे भाई तेजस्वी यादव की ओर इशारा किया. 


RJD से 'बागी' हुए तेजप्रताप ने फिर बढ़ाई परिवार की टेंशन, अलग पार्टी बनाने की दी धमकी- यह होगा नाम...

सारण जिले के अंतर्गत पड़ने वाली परसा विधानसभा सीट से राजद विधायक चंद्रिका राय को उनकी पार्टी ने सारण लोकसभा सीट के लिए उम्मीदवार के रूप में घोषित किया था. उनकी बेटी ऐश्वर्या की पिछले साल मई में तेजप्रताप के साथ शादी हुई थी. हालांकि, बाद में शादी के छह महीने से कम समय के भीतर तलाक की याचिका दायर की गयी थी. राय ने उनकी उम्मीदवारी की उनके दामाद द्वारा विरोध किए जाने को नकारते हुए कहा था, 'वह पार्टी के स्टार प्रचारकों में से एक हैं. वह ऐसा कुछ नहीं करेंगे जो राजद के हितों के लिए हानिकारक हो.' 

क्या बिहार के चुनावी मैदान में 'तेज VS तेजस्वी' होने वाला है? ससुर के खिलाफ चुनाव लड़ सकते हैं तेजप्रताप

सारण लोकसभा सीट का कई बार प्रतिनिधित्व कर चुके राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने आखिरी बार वर्ष 2009 में यहां से जीत दर्ज की थी. चारा घोटाला मामले में दोषी ठहराए जाने पर उन्हें अयोग्य घोषित कर दिया गया था. 2014 में लालू की पत्नी और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को सारण सीट से चुनावी मैदान में उतारा गया था लेकिन वह भाजपा उम्मीदवार राजीव प्रताप रूडी से हार गईं थीं.

तेजप्रताप यादव ने छात्र RJD संरक्षक पद से दिया इस्तीफ़ा, लालू परिवार का टेंशन बढ़ा

तेजप्रताप अपने दो करीबी सहयोगियों-जहानाबाद से चंद्र प्रकाश और शिवहर लोकसभा सीट से अंगेश को राजद द्वारा उम्मीदवार बनाए जाने के लिए दबाव बना रहे थे. उन्होंने घोषणा की कि दोनों संबंधित सीटों पर अपने मोर्चे के तहत चुनावी मैदान में उतरेंगे. एक सवाल का जवाब देते हुए तेजप्रताप ने कहा कि पार्टी मेरे खिलाफ क्या कार्रवाई कर सकती है. राजद नेतृत्व को यह महसूस करना होगा कि बिहार में राजग सरकार के खिलाफ व्यापक आक्रोश है, जिसकी फसल हमें काटनी है. हमें लोगों को नाराज नहीं करना चाहिए.

(इनपुट- भाषा)

टिप्पणियां

मुलायम सिंह ने मैनपुरी से भरा पर्चा, साथ में थे अखिलेश और राम गोपाल यादव, नहीं दिखे शिवपाल

Video: तेजप्रताप ने बनाई 'राबड़ी-लालू मोर्चा'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement