RJD से 'बागी' हुए तेजप्रताप ने फिर बढ़ाई परिवार की टेंशन, अलग पार्टी बनाने की दी धमकी- यह होगा नाम...

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) से पहले बिहार में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के परिवार में विवाद बढ़ता जा रहा है. लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने एक बार फिर लालू परिवार की टेंशन बढ़ा दी है.

खास बातें

  • तेजप्रताप यादव ने फिर बढ़ाई परिवार की टेंशन
  • तेजप्रताप ने नई पार्टी बनाने का किया ऐलान
  • 'लालू-राबड़ी' मोर्चा रखेंगे नई पार्टी का नाम
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) से पहले बिहार में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के परिवार में विवाद बढ़ता जा रहा है. लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने एक बार फिर लालू परिवार की टेंशन बढ़ा दी है. पिछले दिनों पार्टी छोड़ने वाले तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) ने अब अलग पार्टी बनाने की धमकी दी है. तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav News) ने कहा कि पार्टी का नाम उनके माता-पिता के नाम पर होगा और यह 'लालू-राबड़ी मोर्चा' कहलाएगा. तेज़प्रताप यादव ने चेतावनी देते हुए कहा कि मेरा शर्त है कि मेरे उम्मीदवार को टिकट दिया जाए, नहीं तो 'लालू-राबड़ी' मोर्चा (Lalu-Rabri Morcha) बना लिया है और उसी के बैनर तहत उम्मीदवार को खड़ा करूंगा.   

यह भी पढ़ें: क्या बिहार के चुनावी मैदान में 'तेज VS तेजस्वी' होने वाला है? ससुर के खिलाफ चुनाव लड़ सकते हैं तेजप्रताप

30 वर्षीय तेजप्रताप अपने ससुर चंद्रिका राय (Chandrika Ray) के राजद के टिकट पर चुनाव लड़ने से नाराज हैं. राजद के वरिष्ठ नेता चंद्रिका राय अप्रैल-मई में होने वाले चुनाव में राजद उम्मीदवारों की सूची में शामिल हैं. बता दें कि चंद्रिका राय सारण से चुनाव लड़ेंगे, जहां से राजद सुप्रीमो लालू यादव 4 बार चुनाव जीत चुके हैं. लालू यादव फिलहाल भ्रष्टाचार के आरोप में जेल की सजा काट रहे हैं. 

यह भी पढ़ें: पासवान ने राबड़ी देवी को कहा 'अंगूठा छाप', तो भड़क गए तेज प्रताप यादव, दिया यह बड़ा बयान

बता दें कि तेजप्रताप ने अपनी शादी के छह महीने के भीतर ही चंद्रिका राय की बेटी ऐश्वर्या से तलाक के लिए अर्जी दी थी. तेजप्रताप चंद्रिका राय के राजद की टिकट पर चुनाव लड़ने के खिलाफ थे, हालांकि लालू प्रसाद यादव और छोटे भाई तेजस्‍वी यादव जो फिलहाल पार्टी के सर्वेसर्वा हैं, ने उनकी उम्‍मीदवारी पर मुहर लगा दी. इस घोषणाके एक दिन बाद ही तेजप्रताप ने आरजेडी के युवा विंग के प्रमुख का पद छोड़ दिया था. उन्होंने ट्वीट कर कहा कहा था, अनुभवहीन वे खुद हैं जो सोचते हैं कि मैं अनुभवहीन हूं.' 

यह भी पढ़ें: तेजस्वी यादव ने छुए बड़े भाई के पैर, तेज प्रताप बोले- अब सारे दुश्मन हो जाएंगे धराशायी

बीते कुछ समय से लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रपात जिस तरह से राजनीतिक बयानबाजी कर रहे हैं, उससे राजद की परेशानियां बढ़ती रही हैं. राजनीतिक सक्रियता बढ़ाने को अमादा तेजप्रताप की वजह से राजद में कई बार फूट की खबरें आई हैं. दरअसल, राष्ट्रीय जनता दल के नेताओं की परेशानी है कि जब से उनकी पार्टी के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने पटना में अपनी राजनीतिक सक्रियता बढ़ायी है, तब से ऐसे कई मौके आए हैं जब पार्टी की किरकिरी और फ़ज़ीहत हुई है. हालांकि, यह बात और है कि अपने बयानों से तेजप्रताप हर दिन मीडिया में सुर्खियां तो बटोर ले रहे हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

बिहार में इस पर सात चरणों में लोकसभा चुनाव संपन्‍न होंगे.
11 अप्रैल : जमुई औरंगाबाद, गया, नवादा,
18 अप्रैल : बांका, किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, भागलपुर
23 अप्रैल : खगड़िया, झंझारपुर, सुपौल, अररिया, मधेपुरा,
29 अप्रैल : दरभंगा, उजियारपुर, समस्तीपुर, बेगूसराय, मुंगेर
6 मई : मधुबनी, मुजफ्फरपुर, सारन, हाजीपुर, सीतामढ़ी,
12 मई : पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, , शिवहर, वैशाली, गोपालगंज, सिवान, महाराजगंज, वाल्मीकिनगर
19 मई : नालंदा, पटना साहिब, पाटलिपुत्र, आरा, बक्सर, सासाराम, काराकट, जहानाबाद

VIDEO: तेजप्रताप के ट्वीट से बढ़ी राजद की टेंशन​