RJD से बागी हुए तेजप्रताप को मिला BJP और JDU का साथ, डिप्टी CM सुशील मोदी ने कही यह बात...

तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) को विरोधियों का साथ मिला है. भारतीय जनता पार्टी (BJP) और जनता दल यूनाइटेड (JDU) तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav News) के पक्ष में उतर आए हैं.

RJD से बागी हुए तेजप्रताप को मिला BJP और JDU का साथ, डिप्टी CM सुशील मोदी ने कही यह बात...

तेजप्रताप यादव को मिला बीजेपी और जेडीयू का समर्थन.

खास बातें

  • तेजप्रताप को मिला विरोधियों का साथ
  • अपनी पार्टी से नाराज चल रहे हैं तेजप्रताप
  • दो सीटों पर अपने उम्मीदवार को उतारने को लेकर है नाराजगी
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) से ठीक पहले बिहार में राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के परिवार में विवाद बढ़ता जा रहा है. लालू यादव (Lalu yadav) के बड़े बेटे तेजप्रताप (Tej Pratap Yadav) ने परिवार की टेंशन बढ़ाई हुई है. तेजप्रताप सीट बंटवारे के बाद बागी हो चुके हैं और उन्होंने लालू-राबड़ी मोर्चा बना लिया है. तेजप्रताप (Tej Pratap Yadav News)  अपनी पार्टी से 2 सीटों की मांग कर रहे हैं. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर उनकी मांग नहीं मानी गईं तो वह 'लालू-राबड़ी' (Lalu-Rabri Morcha) मोर्चे के तहत अपने उम्मीदवारों को राजद के खिलाफ मैदान में उतारेंगे. इस बीच तेजप्रताप यादव को विरोधियों का साथ मिला है. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और जनता दल (यूनाइटेड) तेजप्रताप के पक्ष में उतर आए हैं.

यह भी पढ़ें:  लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने इन 2 सीटों के लिए की पार्टी से बगावत, सारण को लेकर भी अड़े

भाजपा के नेता और बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि वंशवादी रातनीतिक पार्टियों में जब दो वारिस हो जाते हैं, तो ऐसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है. सुशील मोदी ने कहा, 'राजद वंशवाद की कलह झेल रहा है. यह दो वारिसों को बीच का संघर्ष है. सारण से तेजप्रताप यादव के ससुर को टिकट देना उनके लिए जले पर नमक छिड़कने जैसा है. राजद तेजप्रताप के जले पर नमक छिड़कने का काम कर रही है.' 

यह भी पढ़ें: लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप ने बनाया नया मोर्चा, मां राबड़ी देवी से की ये अपील, साथ ही RJD को धमकी भी दी

उन्होंने कहा कि राजद के कार्यकर्ताओं में तेज प्रताप की मांग ज्यादा है. लोगों का कहना है कि तेज प्रताप के भाषण देने की शैली लालू प्रसाद जैसी है. उन्होंने यह भी कहा कि यह संघर्ष अब थमने वाला नहीं है. इधर, जेडीयू के प्रवक्ता नीरज कुमार ने भी तेजप्रताप के पक्ष में उतरते हुए कहा कि यह राजनीतिक हक की लड़ाई है, जो वह लड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि तेजप्रताप अपने छोटे भाई से ज्यादा अंतर से विधानसभा चुनाव में विजयी हुए थे. इसके बावजूद उनको हक नहीं दिया गया.

यह भी पढ़ें:क्या बिहार के चुनावी मैदान में 'तेज VS तेजस्वी' होने वाला है? ससुर के खिलाफ चुनाव लड़ सकते हैं तेजप्रताप

तेजप्रताप यादव ने इन 2 सीटों के लिए की पार्टी से बगावत
तेजप्रताप यादव ने धमकी दी है कि अगर उनकी मांगे नहीं मानी गईं तो अपनी ही पार्टी के खिलाफ वह उम्मीदवार खड़े करेंगे. तेजप्रताप यादव ने साफ कर दिया है कि अगर शिवहर (Sheohar) और जहानाबाद (Jehanabad) से उनके मनपसंद नेता को टिकट नहीं मिलता है तो 'लालू-राबड़ी मोर्चा' (Lalu-Rabri Morcha) के बैनर तले अपने उम्मीदवारों को उतारेंगे.

VIDEO: तेजप्रताप ने बनाई 'राबड़ी-लालू मोर्चा'​

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com