क्या चुनाव बाद मायावती एक बार फिर BJP से हाथ मिला लेंगी? अखिलेश यादव ने NDTV को दिया यह जवाब

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से जब यह पूछा गया कि क्या चुनाव बाद मायावती (Mayawati) एक बार फिर बीजेपी (BJP) के साथ जा सकती हैं? इस पर सपा प्रमुख ने कहा कि गठबंधन का कोई भी साथी बीजेपी के साथ नहीं जाएगा.

खास बातें

  • यूपी के गाजीपुर में गठबंधन की रैली
  • अखिलेश ने NDTV से की कई मुद्दों पर बात
  • कहा- गठबंधन का कोई भी साथी बीजेपी में नहीं जाएगा
गाजीपुर:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) के छह चरण पूरे हो चुके हैं. 7वें और अंतिम चरण से पहले सभी पार्टियां पूरे दमखम से प्रचार में जुटी हुई हैं. आखिरी चरण में कुल 59 सीटों पर मतदान होने हैं. नतीजे 23 मई को आएंगे. इस बीच यूपी के गाजीपुर में चुनावी रैली के बाद NDTV ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से कई मुद्दों पर बात की. यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से जब यह पूछा गया कि क्या चुनाव बाद मायावती एक बार फिर बीजेपी के साथ जा सकती हैं? इस पर सपा प्रमुख ने कहा कि गठबंधन का कोई भी साथी बीजेपी के साथ नहीं जाएगा. वहीं, इसके बाद जब अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से मायावती (Mayawati) के प्रधानमंत्री बनने पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि 23 के बाद गठबंधन मिलकर यह तय करेगा. अखिलेश यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नया हो और उत्तर प्रदेश से हो तो हमसे ज्यादा खुश कौन होगा. जब उनसे पूछा गया कि उत्तर प्रदेश से तो प्रधानमंत्री मोदी और राहुल गांधी भी चुनाव लड़ रहे हैं? इस सवाल के जवाब में अखिलेश यादव ने कहा कि सबको पता होगा कि मैं किसके समर्थन में रहूंगा. लेकिन यह 23 मई के बाद तय होगा.  

यह भी पढ़ें: BSP प्रमुख मायावती का बड़ा बयान, कहा- अगर पीएम बनने का मौका मिला तो यूपी की इस सीट से लड़ूंगी चुनाव

NDTV से बातचीत के दौरान अखिलेश यादव ने कांग्रेस पर हमला भी बोला. अखिलेश यादव ने कहा कि कांग्रेस खुद ही स्वीकार कर रही है कि जीतने भी उन्होंने प्रत्याशी लड़ाए हैं वे सभी कमजोर हैं. कांग्रेस के लोग अपनी पार्टी को बनाने के लिए काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि यह गठबंधन बीजेपी को रोकने के लिए बनाई गई है. इससे पहले सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रैली में कहा, 'यह चुनाव देश के भविष्य का चुनाव है. यह हमारे आपके भविष्य से जुड़ा हुआ है. यह देश बहुत नाजुक स्थिति में है. चायवाला बनकर आने वालों की चाय पांच साल में पता चल गया कैसी थी. अब चाय वाले चौकीदार बनकर आ गए हैं.'

क्या आप चाहेंगे मायावती PM बनें और आप उनका समर्थन करेंगे? अखिलेश यादव ने डॉ प्रणय रॉय को दिया यह जवाब

उन्होंने कहा, 'इन लोगों ने किसानों को धोखा दिया है. आज पांच साल और दो साल बीत गए मगर लागत भी नहीं मिली. जो आय बढ़ाना चाहते थे, उन्होंने किसानों को गरीब कर दिया. युवाओं से नौकरी छीनने का काम किया है. प्रधानमंत्री ने जो कहा उसका उलटा कर दिया.'

Election 2019: रवीश के रोड शो में अखिलेश यादव ने PM मोदी को बताया '180 डिग्री प्रधानमंत्री', कारण भी गिनाए

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश ने कहा, 'देश के एक फीसद आबादी के प्रधानमंत्री हैं, हिसाब लगाइए आज दोगुना कर्जा देश पर हो चुका है. नोटबंदी से भरोसा दिया अच्छे दिन आएंगे, मगर कालाधन लेकर लोग भाग गए. हमारे किसान को चौकीदार बना दिया. भाजपा ने कहा कि स्लाटर हाउस बंद कर देंगे, मगर जानवर भी अब हेलिपैड पर शिकायत करना शुरू कर दिए हैं. अगर सांड से जान जाए तो किसके खिलाफ शिकायत करें। अगर कोई कानून नहीं तो मुख्यमंत्री जिम्मेदार हैं.'

Election 2019: सपा प्रमुख अखिलेश यादव बोले- वाराणसी से अगर 'फौजी' प्रधानमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ता तो...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उधर, बसपा अध्यक्ष मायावती ने रैली में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा और कहा कि गठबंधन केंद्र के साथ योगी सरकार को भी हटाएगा. मायावती ने कहा, 'बसपा, सपा और रालोद गठबंधन के बाद से भाजपा की हालत खराब है. विरोधी कुछ भी बोलें, हमारा गठबंधन मजबूत है और आगे तक चलेगा. यह गठबंधन केंद्र के साथ योगी सरकार को भी हटाएगा.'

बसपा मुखिया ने कहा, 'कांग्रेस के समय में लोग रोजगार के लिए पूर्वांचल से पलायन कर गए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के गरीबों को अच्छे दिन दिखाने के वादे किए, उसका एक-चौथाई भी काम पूरा नहीं हुआ. सरकारी नौकरियों में कोटा अधूरा पड़ा हुआ है. पदोन्नति आरक्षण प्रदेश में प्रभावहीन है. आम चुनाव में भाजपा भी सत्ता से बाहर हो जाएगी, अब जुमलेबाजी काम नहीं आएगी, चौकीदार की नाटकबाजी इस बार नहीं चलेगी.'