Election 2019: रवीश के रोड शो में अखिलेश यादव ने PM मोदी को बताया '180 डिग्री प्रधानमंत्री', कारण भी गिनाए

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) पर भी निशाना साधा. अखिलेश यादव ने नरेंद्र मोदी देश का पहला 180 डिग्री प्रधानमंत्री बताया.

नई दिल्ली:

अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने रवीश कुमार (Ravish Kumar)  के रोड शो में पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला.  अखिलेश यादव ने कहा कि पीएम मोदी 180 डिग्री प्रधानमंत्री हैं. सपा प्रमुख ने पीएम मोदी को 180 डिग्री प्रधानमंत्री कहने का कारण भी बताया. बता दें कि सपा प्रमुख और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव इस बार आजमगढ़ से चुनाव मैदान में हैं. अखिलेश के खिलाफ भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' को मैदान में उतारा है. 

यह भी पढ़ें: Election 2019: सपा प्रमुख अखिलेश यादव बोले- वाराणसी से अगर 'फौजी' प्रधानमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ता तो...

अखिलेश यादव ने कहा कि पीएम मोदी ने पिछले चुनाव में जितने भी वादे किए थे उसे उन्होंने पूरा नहीं किया. अखिलेश यादव ने कहा कि मोदी जो कहते हैं वह ठीक उसका उल्टा करते हैं. अखिलेश यादव ने इसका उदाहरण भी दिया. अखिलेश ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा अच्छे दिन आएंगे, अच्छे दिन नहीं आए, इन्होंने कहा करोड़ो नौकरी हर साल देंगे, लेकिन नौकरियां छीन ली. इन्होंने कहा कि कालाधन वापस आ जाएगा, लेकिन कालाधन लेकर भाग गए लोग. 

यह भी पढ़ें: Election 2019: सपा प्रमुख अखिलेश यादव बोले- वाराणसी से अगर 'फौजी' प्रधानमंत्री के खिलाफ चुनाव लड़ता तो...

बीजेपी से चुनाव जीतने का फॉर्मूला भी बताया
अखिलेश यादव ने इस दौरान बीजेपी से चुनाव जीतने का फॉर्मूला भी बताया. अखिलेश यादव ने कहा कि अगर आपको भारतीय जनता पार्टी से चुनाव जीतना है तो बीजेपी और उनके नेताओं को फॉलो करना छोड़ना होगा. उन्होंने कहा कि कभी-कभी शांत रहकर भी लड़ाई जीती जा सकती है. अगर आप उनको फॉलो करेंगे तभी आप चुनाव जीत सकेंगे. अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी में तीन लोकसभा सीटों पर उपचुनाव हुए थे. गोरखपुर, फुलपुर और कैराना. जब गोरखपुर चुनाव हो रहा था, उस समय बीजेपी ने हमलोगों को कहा था कि यह गठबंधन नहीं है सांप-छछूंदर का गठबंधन है. हम शांत रहे और लोगों ने क्या परिणाम दिया यह सब जानते हैं. उन्होंने कहा कि हमें अपने मुद्दे जनता को बताना पड़ेगा.

यह भी पढ़ें: Election 2019: SP-BSP गठबंधन क्या दिल्ली की राजनीति को बदल देगा? अखिलेश यादव ने रवीश कुमार को दिया यह जवाब...

'तेज बहादुर चुनाव लड़ता तो दिलचस्प होता मुकाबला'
सपा प्रमुख ने कहा कि कई घटना ऐसी है जिस पर जनता सवाल करना चाहती है. उन्होंने कहा मान लीजिए कि एक सरकार आतंकवाद से लड़ना चाहती है और वाराणसी में बीएसएफ के एक फौजी से घबरा गए. ये भी जनता जानती है. उन्होंने कहा कि बनारस में अगर फौजी को चुनाव लड़ने का मौका मिल जाता तो शायद उससे दिलचस्प चुनाव कोई नहीं होता. बता दें कि समाजवादी पार्टी ने वाराणसी से बीएसएफ के बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव को मैदान में उतारा था, हालांकि चुनाव आयोग ने उनका नामांकन खारिज कर दिया. निर्वाचन अधिकारी ने 1 मई को तेज बहादुर यादव का नामांकन पत्र खारिज कर दिया था. तेज बहादुर यादव (Tej Bahadur Yadav News) ने जवानों को खराब खाना दिए जाने संबंधी एक वीडियो इंटरनेट पर डाला था, इसके बाद 2017 में उन्हें सीमा बर्खास्त कर दिया गया था.

यह भी पढ़ें: Exclusive: सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने BJP को हराने का बताया फॉर्मूला, गोरखपुर का उदाहरण भी दिया

गठबंधन क्या दिल्ली की राजनीति बदल देगा?
अखिलेश यादव ने कहा कि गठबंधन उत्तर प्रदेश में अच्छी सीटें जीतकर आ रही हैं. सीट की संख्या बोल पाना मुश्किल है, लेकिन हर चरण में सबसे ज्यादा महागठबंधन की सीटें जीतीं हैं और गठबंधन ही जीतकर आ रहा. गठबंधन की राजनीति का होगी इस सवाल पर अखिलेश ने कहा कि फिलहाल तो 23 तारीख तक इंतजार करना पड़ेगा. क्या रिजनल पार्टी से ही दिल्ली में कोई नेता आएगा? क्या रिजनल पार्टी से ही कोई प्रधानमंत्री बनेगा के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि मुझे इस बात का भरोसा है कि कोई न कोई नया प्रधानमंत्री बनेगा और रिजनल पार्टी से ही प्रधानमंत्री बनेगा.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

यह भी पढ़ें: क्या आप चाहेंगे मायावती PM बनें और आप उनका समर्थन करेंगे? अखिलेश यादव ने डॉ प्रणय रॉय को दिया यह जवाब

जब उनसे पूछा गया कि प्रधानमंत्री कांग्रेस की तरफ से होगा या रिजनल पार्टी का होगा, तो अखिलेश ने कहा कि रिजनल पार्टी से ही प्रधानमंत्री होगा. क्या मायावती प्रधानमंत्री पद की दावेदार हो सकती हैं? इस सवाल के जवाब में अखिलेश यादव ने कहा कि यह हमारे गठबंधन का फैसला होगा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कोई भी बन सकता है और गठबंधन की जहां बात होगी तो मिलकर फैसला लेंगे. अखिलेश ने कहा कि अगर गठबंधन फैसला लेगा तो गठबंधन अपने लिए फैसला लेगा, लेकिन यह फैसला 23 तारीख के बाद होगा. अखिलेश ने कहा कि मैं कभी भी गठबंधन से अलग नहीं हो सकता.