NDTV Khabar

छत्तीसगढ़ में चुनाव प्रभावित करने के लिए माओवादियों ने कैसे बिछाया है 'मौत का जाल', देखें- VIDEO

माओवादी जंगलों में सुरक्षाबलों और मतदान कर्मियों को निशाना बनाने के लिए लोहे की नुकीली छड़ें, बूबी ट्रैप आदि का इस्तेमाल करते रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
छत्तीसगढ़ में चुनाव प्रभावित करने के लिए माओवादियों ने कैसे बिछाया है 'मौत का जाल', देखें- VIDEO

दंतेवाड़ा में ही धनिकारका के जंगलों में सुरक्षाबलों ने 14 बूबी ट्रैप पकड़ा है.

खास बातें

  1. छत्तीसगढ़ में चुनाव प्रभावित करने की साजिश
  2. माओवादियों ने बिछा रखा है जाल
  3. बूबी ट्रैप और नुकीली रॉड का इस्तेमाल
छत्तीसगढ़:

छत्तीसगढ़ में सोमवार को होने वाले पहले चरण के मतदान से पहले बड़ी खबर सामने आ रही है. इंटेलिजेंस सूत्रों के मुताबिक महाराष्ट्र, तेलंगाना और अोडिशा से माओवादी छत्तीसगढ़ में दाखिल हो गए हैं. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने एनडीटीवी को बताया 'माओवादी इस बार दहशत फैलाने के लिए सॉफ्ट टार्गेट ढूंढ रहे हैं, लेकिन सुरक्षाबल उनसे निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं'. आपको बता दें कि माओवादियों ने आज ही राजधानी रायपुर से करीब 175 किलोमीटर दूर अंतागढ़ में दो गावों के 7 धमाके किये. इसमें बीएसएफ का एक जवान शहीद हो गया. दूसरी तरफ, बीजापुर में भी माओवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई. जिसमें एक माओवादी मारा गया और एक को गिरफ्तार किया गया.
 

aju9tdtg

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया ' पीएलजीए ( People's Liberation Guerrilla Army) ऐसे स्थानों पर अचानक हमला कर सकती है जो कम संवेदनशील हैं. आखिरी जानकारी के मुताबिक उनका प्रमुख हिडमा सुकमा में सक्रिय बताया जाता है'. उन्होंने कहा कि सुकमा और दंतेवाड़ा में कम से कम 150 माओवादी भारी हथियारों के साथ सक्रिय हो सकते हैं. गौरतलब है कि पीएलजीए प्रतिबंधित संगठन कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (माओवादी) की सैन्य इकाई है. 


गौरतलब है कि माओवादी जंगलों में सुरक्षाबलों और मतदान कर्मियों को निशाना बनाने के लिए लोहे की नुकीली छड़ें, बूबी ट्रैप आदि का इस्तेमाल करते रहे हैं. बस्तर में ऐसे कई ट्रैप पकड़े जा चुके हैं. अकेले दंतेवाड़ा में ही धनिकारका के जंगलों में सुरक्षाबलों ने 14 बूबी ट्रैप पकड़ा है. बूबी ट्रैप एक तरीके के छिपे हुए गड्ढे होते हैं.
 

1timv9uo

जिसके अंदर नूकीले रॉड या आईडी छिपा होता है और यह गड्ढा घास आदि से ढंका होता है. इस पर पैर पड़ते ही सुरक्षाबल इसकी चपेट में आ जाते हैं.  इंटेलिजेंस सूत्रों का कहना है कि माओवादियों ने अपनी लोकल टीम से उन इलाकों में ऐसे कम से कम 500 बूबी ट्रैप बनाने को कहा है, जहां सुरक्षाबलों की आवाजाही ज्यादा है. 

टिप्पणियां

छत्तीसगढ़ में फिर नक्सली हमलाः दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने उड़ाई बस, जवान सहित 5 लोगों की मौत 

VIDEO: बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ में फिर नक्सली हमला


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement