NDTV Khabar

बर्थडे के दिन लड़के ने खाया चिकन बर्गर और रेस्टोरेंट से बाहर आते ही हो गई मौत

लंदन के 18 साल के ओवन कैरी की रेस्टोरेंट में बर्गर खाने के कुछ देर बाद ही मौत हो गई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बर्थडे के दिन लड़के ने खाया चिकन बर्गर और रेस्टोरेंट से बाहर आते ही हो गई मौत

ओवन कैरी

लंदन:

क्या आपने कभी सोचा है कि कोई इंसान अपना बर्थडे का खाना खाने के बाद मर सकता है. लेकिन लंदन के 18 साल के ओवन कैरी (Owen Carey) के साथ ऐसा तब हुआ जब वह एक ब्रिटिश बर्गर चेन बायरोन में बर्थडे पर खाना खाने गये थे. पीपल.कॉम के मुताबिक कैरी ने रेस्टोरेंट में बताया था कि उन्हें दूध से बनी चीजों से एलर्जी है. फिर भी रेस्टोरेंट ने उनकी बात को गंभीरता से नहीं लिया. यूके प्रेस ऐसोसिएशन के मुताबिक कैरी की मौत की जांच करने वाले अधिकारी ने कहा कि घटना 22 अप्रैल 2017 की है. कैरी (Owen Carey) अपना 18वां जन्मदिन मना रहे थे. जब उन्होंने रेस्टोरेंट को बताया कि उन्हें दूध से बनी चीजों से एलर्जी है तो रेस्टोरेंट ने उन्हें विश्वास दिलाया कि उनका किया हुआ ऑर्डर बिल्कुल सुरक्षित है.

महिला ने बनाई दूध डालकर Maggi, लोग बोले- 'ये जहर वाली खीर से भी खतरनाक...' देखें VIDEO


लेकिन आधा ग्रिल्ड चिकन बर्गर खाने के कुछ समय बाद ही कैरी को एलर्जी के लक्षण महसूस होने लगे. कैरी को नहीं पता था कि उसमें मसालेदार बटरमिल्क है. द गार्जियन के मुताबिक कैरी उस दिन अपनी गर्लफ्रेंड के साथ थे और वह भोजन के बाद लंदन एक्वेरियम में जाते समय उनकी बाहों में ही गिर गए. 

मेडिकल सहायकों ने कैरी को प्राथमिक उपचार दिया लेकिन 45 मिनट बाद ही सेंट थॉमस हॉस्पिटल में उनकी मौत हो गई. बीते शुक्रवार को कैरी की मौत की जांच करने वाले अधिकारी ब्रिओनी बालार्ड ने कहा कि यह एक दुखद घटना है. 

सीएनएन के मुताबिक बालार्ड ने साउथवार्क कोरोनर कोर्ट में अपनी जांच में कहा कि मृतक ने स्टाफ को उसकी एलर्जी के बारे में बताया था. लेकिन मीनू में यह सुनिश्चित किया गया था कि मृतक द्वारा चुने गए खाने में कोई एलर्जी वाला तत्व नहीं है. मृतक को सूचित नहीं किया गया कि उसके खाने में एलर्जी वाला तत्व है. बैलार्ड के बयान में कहा गया है कि मृतक को दूध से बनी चीजों से एलर्जी थी जिसकी वजह से उसे परेशानी हुई और उसकी मौत हो गई.

टिप्पणियां

ट्विटर यूजर्स ने हॉलीवुड फिल्मों को दिये देसी नाम, 'डनस्टन चेक्स इन' का नाम बदलकर हुआ 'एक बंदर होटल के अंदर'

वहीं कैरी के परिवार का कहना है कि उन्हें पता है कि उनके बेटे ने खाने से पहले पूरी सावधानी बरती होगी. परिवार की मांग है कि अब एक नया कानून बनाया जाये जिससे भविष्य में होने वाली इसी तरह की त्रासदी को रोकने के लिए सभी रेस्टोरेंट मेनू पर एलर्जी लेबलिंग हो. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement