जापान में फिर मिली Oarfish, मछली को देख लोगों को याद आया फुकुशिमा भूकंप, जानिए क्यों

2011 में आए फुकुशिमा भूंकप (Fukushima Earthquake) से कुछ समय पहले ही दर्जनों ओरफिश को समुद्र के किनारे देखा गया था. इस भूंकप में जापान में करीब 20 हज़ार लोगों ने अपनी जान गवाई थी.

जापान में फिर मिली Oarfish, मछली को देख लोगों को याद आया फुकुशिमा भूकंप, जानिए क्यों

जापान:

जापान में फिर एक बार ओरफिश (Oarfish) पाई गई. इस मछली को देखने के बाद लोगों को एक बार फिर फुकुशिमा भूकंप (Fukushima Earthquake) की याद आ गई. इस बार दो बहुत ही दुर्लभ प्रजाति की ओरफिश जापान के ओकिनावा द्वीप (Okinawa Island) पर पाई गईं. मछली पकड़ने द्वीप पर गए मछवारों के जाल में ये 4 मीटर लंबी दो मछलियां फंस गईं, लेकिन ओकिनावा चुरूमी एक्वेरियम ले जाने से पहले ही दोनों मर गईं.

जापान टाइम्स के मुताबिक, इन मछलियों के जाल में फंसने से मछुआरा पहले काफी घबरा गया. इनमें एक मछली की लंबाई 4 मीटर की थी और दूसरी की लंबाई 3.6 मीटर थी, जो द्वीप के सिर्फ 2.5 किलोमीटर पास ही जाल में आ गईं.

भारत ने लिया पुलवामा का बदला, तो इस गुजराती ने तैयार की Surgical Strike साड़ी, देखें VIDEO

बता दें, ओरफिश अटलांटिक, इंडिया और पैसेफिक ओशिएन में पाई जाने वाली दुर्लभ प्रजाति की मछली है. ऐसा माना जाता है कि इनका पानी से बाहर दिखना भूपंक (Earthquake) की ओर इशारा करता है. 2011 में आए फुकुशिमा भूंकप (Fukushima Earthquake) से कुछ समय पहले ही दर्जनों ओरफिश को समुद्र के किनारे देखा गया था. इस भूंकप में जापान में करीब 20 हज़ार लोगों ने अपनी जान गवाई थी. हालांकि, विज्ञान में किसी भी मछली का प्राकृतिक आपदा से कोई संबंध नहीं पाया गया है. 

साल 2019 के शुरुआत में भी जापान के समद्री किनारों पर ओरफिश को देखा गया था. इसी वजह से कई लोग घबराए हुए हैं.

21 करोड़ में नीलाम हुई ये मछली, जानिए क्यों है इतनी खास

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by (@uozuaquarium_official) on

 

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by (@uozuaquarium_official) on

 

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by (@uozuaquarium_official) on

 

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by (@uozuaquarium_official) on

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

 

 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by (@uozuaquarium_official) on