NDTV Khabar

Jamyang Tsering Namgyal: जानिए लद्दाख के सांसद के बारे में, भाषण से पीएम मोदी हैरान, बने अमित शाह के 'तुरुप का इक्का'

Jamyang Tsering Namgyal सोशल मीडिया पर छा गए. पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) भी नामग्याल की तारीफ करने में पीछे नहीं रहे. अमित शाह (Amit Shah) ने भी उनकी खुलकर तारीफ की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Jamyang Tsering Namgyal: जानिए लद्दाख के सांसद के बारे में, भाषण से पीएम मोदी हैरान, बने अमित शाह के 'तुरुप का इक्का'

जानिए कौन हैं लद्दाख के सांसद Jamyang Tsering Namgyal

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से धारा 370 खत्म हो चुकी है. राज्यसभा और लोकसभा में ये बिल पास हो चुका है. धारा 370 (Article 370) के कई खंड लागू नहीं होंगे. सिर्फ खंड एक बचा रहेगा. इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) को मिला विशेष राज्य का दर्जा खत्म हो गया है. वहीं उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) अलग केंद्र शासित प्रदेश बनेगा और लद्दाख (Ladakh) को अलग केंद्र शासित प्रदेश (Union Territory) बनाया जाएगा. संसद में धारा 370 (Article 370) पर भाषण देने वाले लद्दाख के सांसद जामयांग शेरिंग नामग्याल (Jamyang Tsering Namgyal) सोशल मीडिया पर छा गए. लोकसभा में हुई बहस में भाग लेते हुए नामग्याल (Jamyang Tsering Namgyal) ने सभी का ध्यान खींचा. यहां तक कि पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) भी नामग्याल की तारीफ करने में पीछे नहीं रहे. अमित शाह (Amit Shah) ने भी उनकी खुलकर तारीफ की. आइए जानते हैं कौन हैं जामयांग शेरिंग नामग्याल, कैसे उन्होंने राजनीति में कदम रखा और कैसे पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को प्रभावित किया.

आर्टिकल 370 पर जोरदार भाषण से लद्दाख के सांसद ने पीएम मोदी और अमित शाह को बनाया अपना मुरीद

556egtrs

कौन हैं जामयांग शेरिंग नामग्याल (Who Is Jamyang Tsering Namgyal)
34 वर्षीय जमयांग सेरिंग नमग्याल (Jamyang Tsering Namgyal) ने अपना पॉलीटिकल करियर 2012 में शुरू किया था. वो लेह में भाजपा ऑफिस में केयरटेकर थे. सांसद बनने के बाद लोकसभा में उन्होंने दमदार भाषण दिया और लोगों की नजर में आ गए.

धारा 370 पर दमदार भाषण देने के बाद फेसबुक से परेशान हुए लद्दाख के सांसद, बोले- 'FB पर दोस्त...'

जमयांग सेरिंग नमग्याल (Jamyang Tsering Namgyal) ने राजनीति की शुरुआत ग्राउंड लेवल से शुरू की. ANI से बात करते हुए उन्होंने कहा- 2012 में मैं जम्मू पहुंचा. वहां बीजेपी और उसकी विचारधारा के संपर्क में आया. मैं वापस लेह आया और लेह में भाजपा जिला कार्यालय का कार्यालय सचिव बनाया गया. जो ऑफिस की सबसे छोटी पोस्ट थी. मैंने यह जिम्मेदारी स्वीकार की. मैं उन लोगों के लिए आवेदन पत्र लिखता था जो कार्यालय में आते थे, क्योंकि वे साक्षर नहीं थे या अच्छी तरह से पढ़ना भी नहीं जानते थे. धीरे-धीरे मुझे पार्टी का प्रवक्ता बना दिया गया. उन्होंने काम करते-करते लोगों का मन जीता और बीजेपी ने उनको सांसद का टिकट दिया और जीत हासिल की. 

टिप्पणियां

आर्टिकल 370 पर लोकसभा में कांग्रेसी नेता मनीष तिवारी ने मोदी सरकार को घेरा, उठाए ये सवाल

1r5e2guo

घर-घर जाकर लोगों को बताया क्या होता है केंद्र शासित प्रदेश
जामयांग शेरिंग नामग्याल और लद्दाख के लोग काफी समय से केंद्र शासित प्रदेश बनने का इंतजार कर रहे थे. लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाने में जामयांग का बड़ा हाथ रहा. केंद्र शासित प्रदेश बनाने के लिए सबसे पहले उन्होंने लोगों को जाग्रुक किया. संसद में दिए भाषण में उन्होंने बताया कि वो घर-घर जाकर लोगों से मिलते थे और बताते थे कि क्रेंद्र शासित प्रदेश होने के बाद प्रदेश को क्या-क्या फायदे होंगे. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement