AIIMS ऋषिकेश में डॉक्टर्स ने कहा- 'तुम HIV Positive हो...', नहीं निकला AIDS तो कोर्ट ने किया ऐसा

ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (AIIMS) ऋषिकेश (AIIMS Rishikesh) में ऐसी घटना हुई जिसने हर किसी को हैरान कर दिया. अस्पताल ने शख्स को गलत HIV रिपोर्ट दे दी थी. रिपोर्ट में बताया गया था कि शख्स को HIV पोजीटिव है.

AIIMS ऋषिकेश में डॉक्टर्स ने कहा- 'तुम HIV Positive हो...', नहीं निकला AIDS तो कोर्ट ने किया ऐसा

ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस (AIIMS) ऋषिकेश (AIIMS Rishikesh) में ऐसी घटना हुई जिसने हर किसी को हैरान कर दिया. TimesOfIndia की खबर के मुताबिक, अस्पताल ने शख्स को गलत HIV रिपोर्ट दे दी थी. रिपोर्ट में बताया गया था कि शख्स को HIV पोजीटिव है. जिसके बाद उन्होंने दूसरे अस्पताल में चेकअप कराया तो HIV नेगेटिव निकला. शख्स सीधे हरिद्वार कंज्यूमर फोरम में पहुंचा. मामला कोर्ट तक पहुंचा तो जमकर हंगामा मचा. कोर्ट ने एम्स ऋषिकेश (AIIMS Rishikesh) पर 60 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. कोर्ट के मुताबिक, अस्पताल ने शिकायतकर्ता को मानसिक परेशानी दी है. कोर्ट ने अस्पताल को एक महीने के अंदर जुर्माना भरने को कहा है. शख्स का नाम नसीम अली है. 

'शादी से पहले सेक्स करने से फैलता है HIV', इस स्कूल में 10वीं के बच्चों ऐसे कराया जा रहा है एड्स से जागरुक

नसीम अली भगवानपुर में रहते हैं. 2014 में 12 जुलाई को नसीम को चोट लगी थी. जिसके बाद वो रुड़की के एक अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचे थे. ब्लड सही से क्लॉट नहीं होने की वजह से अस्पताल में भर्ती कराया गया. तीन दिन प्राइवेट अस्पताल में रहने के बाद उनको एम्स ऋषिकेश में भेज दिया गया. जहां उनके कई टेस्ट हुए और रिपोर्ट में उनको HIV पॉजीटिव बताया गया. रिपोर्ट देखकर उनके होश उड़ गए. 

दुनिया का दूसरा शख्स, जिसने AIDS वायरस को दे दी मात, ऐसे हुआ ठीक

28 जुलाई को जब उन्होंने श्री महंत इद्रेश अस्पताल में इलाज कराया तो रिपोर्ट्स में HIV निगेटिव आया. जिसके बाद नसीम अली ने कंज्यूमर कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. कोर्ट ने एम्स ऋषिकेश को लापरवाह मानते हुए 50 हजार जुर्माना और नसीम का समय और ऊर्जी बर्बाद करने के लिए अलग से 10 हजार से जुर्माना लगाया. ये ऑर्डर 22 अप्रैल को इश्यू किया गया है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

तमिलनाडु : ब्लड बैंक ने दिया ऐसा खून कि गर्भवती महिला को हो गया HIV संक्रमण

एम्स ऋषिकेश के स्पोकपर्सन डॉक्टर मनोज गुप्ता ने कहा- 'हम हाईकोर्ट में अपील करेंगे. ये सिर्फ डॉक्यूमेंटेशन एरर था. अगले ही दिन पता चल चुका था कि पेशेंट HIV निगेटिव है. डिस्चार्ज पेपर में कही नहीं लिखा है कि पेशेंट HIV पॉजीटिव है.'