बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने पोहा खा रहे मजदूर को बताया बांग्लादेशी, जमकर हुए Troll

भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने बृहस्पतिवार को सनसनीखेज दावा किया कि उनके घर के निर्माण कार्य में संदिग्ध बांग्लादेशी (Bangladesh) नागरिक मजदूर के रूप में काम कर रहे थे.

बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने पोहा खा रहे मजदूर को बताया बांग्लादेशी, जमकर हुए Troll

बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने पोहा खा रहे मजदूर को बताया बांग्लादेशी.

भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (Kailash Vijayvargiya) ने बृहस्पतिवार को सनसनीखेज दावा किया कि उनके घर के निर्माण कार्य में संदिग्ध बांग्लादेशी (Bangladesh) नागरिक मजदूर के रूप में काम कर रहे थे. विजयवर्गीय ने यहां एक सामाजिक संगठन के कार्यक्रम में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) की जमकर पैरवी करते हुए यह दावा किया. उन्होंने कहा कि उनके घर में नये कमरे के निर्माण कार्य के दौरान उन्हें छह-सात मजदूरों के खान-पान का तरीका थोड़ा अजीब लगा, क्योंकि वे भोजन में केवल पोहा (नाश्ते के रूप में खाया जाने वाला स्थानीय व्यंजन) खा रहे थे. विजयवर्गीय ने कहा कि इन मजदूरों और भवन निर्माण ठेकेदार के सुपरवाइजर से बातचीत के बाद उन्हें संदेह हुआ कि ये श्रमिक बांग्लादेश के रहने वाले हैं. 

मध्य प्रदेश : कैलाश विजयवर्गीय सहित बीजेपी के 350 नेताओं-कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज

उनके इस बयान के बाद ट्विटर पर पोहा टॉप ट्रेंड करने लगा. ट्विटर पर ज्यादातर लोगों ने बताया कि इंदौर में पोहा बहुत ही लोकप्रिय नाश्ता है और ये महाराष्ट्र की डिश है. सस्ता होने के साथ-साथ उससे पेट भी भरा जा सकता है. ट्विटर पर लोगों ने ऐसे रिएक्शन्स दिए है...

विजयवर्गीय के इंदौर को आग लगाने वाले बयान पर बवाल, कांग्रेस ने बांटी 'कैलाश छाप' माचिस

संवाददाताओं ने जब भाजपा महासचिव से इन संदिग्ध लोगों के बारे में सवाल किये, तो उन्होंने कहा, "मुझे शंका थी कि ये मजदूर बांग्लादेश के रहने वाले हैं. मुझे संदेह होने के दूसरे ही दिन उन्होंने मेरे घर काम करना बंद कर दिया था." उन्होंने कहा, "मैंने पुलिस के सामने इस मामले में फिलहाल शिकायत दर्ज नहीं करायी है. मैंने तो केवल लोगों को सचेत करने के लिये उन मजदूरों का जिक्र किया था."

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय की अधिकारी को धमकी, बोले- संघ के पदाधिकारी इंदौर में हैं नहीं तो आग लगा देता, देखें- VIDEO 

विजयवर्गीय ने कार्यक्रम के दौरान अपने सम्बोधन में यह दावा भी किया कि बांग्लादेश का एक आतंकवादी पिछले डेढ़ साल से उनकी "रेकी" (नजर रखना) कर रहा था. उन्होंने कहा, "मैं जब भी बाहर निकलता हूं, तो छह-छह बंदूकधारी सुरक्षा कर्मी मेरे आगे-पीछे चलते हैं. यह देश में आखिर क्या हो रहा है? क्या बाहर के लोग देश में घुसकर इतना आतंक फैला देंगे?"

भीड़ ने फिर रोका कैलाश विजयवर्गीय का रास्ता तो बोले BJP नेता- अपने हथकंडो से बाज नहीं आएगी TMC...देखें Video

विजयवर्गीय ने सीएए की वकालत करते हुए कहा, "भ्रम और अफवाहों के चक्कर में मत आइये. सीएए देश के हित में है. यह कानून भारत में वास्तविक शरणार्थियों को शरण देगा और उन घुसपैठियों की पहचान करेगा जो देश की आंतरिक सुरक्षा के लिये खतरा है."

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com