NDTV Khabar

Sake Dean Mahomed: पटना से निकलकर इंग्लैंड को चखाया था भारतीय स्वाद, किया था कुछ ऐसा

Sake Dean Mahomed: गूगल (Google) ने आज शेक दीन मोहम्मद (Sake Dean Mahomed) का डूडल (Google Doodle) बनाया है. वो सर्जन, यात्री रहे हैं. उनका जन्म जनवरी 1759 में पटना में हुआ था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Sake Dean Mahomed: पटना से निकलकर इंग्लैंड को चखाया था भारतीय स्वाद, किया था कुछ ऐसा

Sake Dean Mahomed: गूगल (Google) ने आज शेक दीन मोहम्मद (Sake Dean Mahomed) का डूडल (Google Doodle) बनाया.

गूगल (Google) ने आज शेक दीन मोहम्मद (Sake Dean Mahomed) का डूडल (Google Doodle) बनाया है. वो सर्जन, यात्री रहे हैं. उनका जन्म जनवरी 1759 में पटना में हुआ था. 1794 में आज ही के दिन उन्होंने इंग्लैंड में पहली अंग्रेजी किताब को प्रकाशित किया. भारत और इंग्लैंड के बीच रिश्ते बढ़ाने में उनका अहम योगदान रहा है. उनके पिता ईस्ट इंडिया कंपनी (East India Company) में काम किया करते थे. जब शेक दीन मोहम्मद (Google Doodle on Sake Dean Mahomed) 10 साल के थे तो उनके पिता का निधन हो गया. जिसके बाद उन्हें कैप्टन गॉडफ्रे इवान बेकर के विंग में शामिल कर लिया गया. वो ईस्ट इंडिया कंपनी की बंगाल रेजिमेंट के सैनिक रहे. 

Indian Army Day 2019: जानिए क्यों मनाया जाता है आर्मी डे, ये बातें जानकर आपको भी होगा गर्व

qjop5uqg

(Google ने Sake Dean Mahomed का डूडल बनाया है)


उन्होंने इंग्लैंड में पहला भारतीय रेस्तरां खोला था. लेकिन 2 साल में ही इसे बंद कर दिया गया था. जिसका नाम हिंदुस्तान कॉफी हाउज (Hindoostanee Coffee House) रखा गया था. 1759 में जन्में शेक दीन मोहम्मद 1782 में इंग्लैंड में ही बस गए. रेस्तरां बंद होने के बाद उन्होंने स्पा खोला. जहां वो लोगों को हर्बल स्टीम देते थे. वहां चंपी मालिश भी की जाती थी. इस चंपी को शैंपू कहा जाने लगा.

टिप्पणियां

इस तरह हर साल कमा रही है 28 लाख रुपये, ऐसे दूर करती हैं लोगों का स्ट्रेस

कुछ सालों में मोहम्मद की चंपी पूरे ब्रिटेन और यूरोप में फेमस हो गई. 1822 में चौथे किंग जॉर्ज ने उन्हें अपने पर्सनल चंपी सर्जन के तौर पर नियुक्त कर लिया. ऐसा होने के बाद शेक दीन मोहम्मद दुनिया में फेमस हो गए. वो इंग्लैंड के ब्राइटन शहर में रहते थे. आज भी ब्राइटन संग्राहालय में शेक मोहम्मद की तस्वीर मौजूद है. उनकी मृत्यु 1851 में हुई. उनको सेंट निकोलस चर्च के एक कब्रिस्तान में दफनाया गया. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement