NDTV Khabar

Moscow में दिसंबर महीने में निकला सिर्फ 6 मिनट सूरज, लोगों का हुआ ऐसा हाल

दुनिया में ठंड का कहर जारी है. हर कोई ठंड से परेशान है. कहीं स्मॉग ने परेशान कर रखा है तो कहीं नदियां जमी हुई हैं. रशिया में सबसे ज्यादा ठंड पड़ रही है. रूस की राजधानी मॉस्को में लोग ठंड से काफी परेशान हैं.

850 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
Moscow में दिसंबर महीने में निकला सिर्फ 6 मिनट सूरज, लोगों का हुआ ऐसा हाल

दिसंबर में मॉस्को में सिर्फ 6 मिनट सूरज निकला है.

खास बातें

  1. रूस की राजधानी मॉस्को में दिसंबर में सिर्फ 6 मिनट सूरज निकला.
  2. TASS न्यूज एजेंसी ने दी ये जानकारी.
  3. इससे पहले साल 2000 में मॉस्को में दिसंबर में सबसे कम रोशनी हुई थी.
नई दिल्ली: दुनिया में ठंड का कहर जारी है. हर कोई ठंड से परेशान है. कहीं स्मॉग ने परेशान कर रखा है तो कहीं नदियां जमी हुई हैं. रशिया में सबसे ज्यादा ठंड पड़ रही है. रूस की राजधानी मॉस्को में लोग ठंड से काफी परेशान हैं. आपको जानकर हैरानी होगी कि दिसंबर में मॉस्को में सिर्फ 6 से 7 मिनट सूरज निकला है. वैसे वहां दिसंबर के महीने में 18 घंटे सूरज निकलता है. लेकिन इस बार मॉस्को में बहुत ज्यादा ठंड पड़ी. 

पढ़ें- यहां पड़ रही है दुनिया की सबसे ज्यादा ठंड, -62 डिग्री में देखें लोगों की कैसी हुई हालत

TASS न्यूज एजेंसी के मुताकबिक, मॉस्को स्टेट यूनिवर्सिटी के मेटियोलोजिस्ट स्टोशन ने बताया कि 2017 के पूरे दिसंबर में मॉस्को में सिर्फ 6 या 7 मिनट के लिए सूरज निकला है. इससे पहले साल 2000 में मॉस्को में दिसंबर में सबसे कम रोशनी हुई थी. जो सिर्फ तीन घंटे थी. इतनी ठंड को देखते हुए लोकल पुलिस ने माता-पिता को बच्चों को घर के अंदर ही रहने को कहा है.

VIDEO: लड़के को नदी में उतरना पड़ा महंगा, फंस गया बर्फ के नीचे​
 
oymyakon frozen eyelashes

रूस के ओइमाकॉन में पड़ी दुनिया की सबसे ज्यादा ठंड
रूस के एक गांव में दुनिया की सबसे ज्यादा ठंड पड़ रही है. वहां का तापमान -67 डिग्री तक पहुंच चुका है. इस गांव का नाम ओइमाकॉन है. इसे दुनिया का सबसे ठंडी जगह माना जाता है. इस गांव की कुल आबादी 500 है. यहां के लोगों का गुजर-बसर करना मुश्किल हो गया है. नदी से लेकर पेड़ सभी चीज जमी हुई है.

टिप्पणियां
SMOG से बचने के लिए CHINA ने निकाला तगड़ा जुगाड़, जो दिल्ली नहीं कर पाया वो कर दिखाया

सोशल मीडिया पर यहां की तस्वीरें काफी वायरल हो रही हैं. बता दें, ओइमाकॉन का मतलब होता है, ऐसी जगह जहां पानी जमता नहीं हो, लेकिन यहां पानी से लेकर इंसान भी जम गया है. यहां सबसे कम तापमान -72 डिग्री रिकॉर्ड किया गया था. इस जगह को 'पोल ऑफ कोल्ड' भी कहा जाता है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement