प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गोद लिए गांवे में लगे पोस्टर, लिखा- 'ये चौकीदार का गांव है, कोई चोर न आना...'

'चौकीदार चोर है' का नारा देने वाली कांग्रेस का नारा उसके लिए ही गले की फांस बनता जा रहा है. ग्रामीणों ने गांव में जगह-जगह 'यह चौकीदारों का गांव है, यहां चोरों का आना वर्जित' लिखा पोस्टर लगाया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गोद लिए गांवे में लगे पोस्टर, लिखा- 'ये चौकीदार का गांव है, कोई चोर न आना...'

प्रधानमंत्री के गोद लिए गांव में लगे 'चौकीदारों का गांव है, यहां चोरों का आना वर्जित' के पोस्टर.

वाराणसी. 'चौकीदार चोर है' का नारा देने वाली कांग्रेस का नारा उसके लिए ही गले की फांस बनता जा रहा है. इसे लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा सांसद आदर्श ग्राम योजना के तहत गोद लिए गांव ककरहिया में लगा पोस्टर चर्चा का केंद्र बना है. ग्रामीणों ने गांव में जगह-जगह 'यह चौकीदारों का गांव है, यहां चोरों का आना वर्जित' लिखा पोस्टर लगाया है.

AIIMS ऋषिकेश में डॉक्टर्स ने कहा- 'तुम HIV Positive हो...', नहीं निकला AIDS तो कोर्ट ने किया ऐसा

गांव में रहने वाले भाजपा से जुड़े कार्यकर्ताओं का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 23 अक्टूबर 2017 को ककरहिया गांव गोद लिया था. उनके द्वारा गांव को गोद लेने से इसका कायाकल्प हो गया। यह देश-दुनिया में चर्चित हो गया. यहां काफी विकास भी हुआ है.

कुवैत एयरपोर्ट पर केरल के शख्स की हुई प्लेन के नीचे आने से मौत, कर रहा था ये काम

एक ग्रामीण ने बताया, 'प्रधानमंत्री को चोर कहकर संबोधित करने वालों ने पूरे देश की गरिमा को ठेस पहुंचाई है. ऐसे लोगों का हमारे गांव में कदम नहीं पड़े इसलिए ऐसे पोस्टर लगाए हैं.'

बेटे का नहीं आया A+ ग्रेड तो पिता ने गुस्से में पीट-पीटकर किया ऐसा हाल, मां ने बुलाई पुलिस और...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इससे पहले जो भी सांसद व विधायक जीत कर आता था वह हमारे गांव के विकास को दरकिनार कर देता था, लेकिन मोदी ने गांव का कायाकल्प कर दिया. 

(इनपुट-आईएएनएस)