NDTV Khabar

बिस्किट चुराने पर सीनियर्स ने बल्ले से मारकर ली जान, मामला छुपाने के लिए स्कूल प्रबंधन ने किया ऐसा

एक बोर्डिंग स्कूल में पढ़ने वाले सातवीं कक्षा के एक छात्र की उसके सीनियर छात्रों ने पीट-पीट कर जान ले ली और मामले को छुपाने के लिये स्कूल प्रबंधन ने उसके शव को कैंपस में ही दफना दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बिस्किट चुराने पर सीनियर्स ने बल्ले से मारकर ली जान, मामला छुपाने के लिए स्कूल प्रबंधन ने किया ऐसा

दहरादून. ऋषिकेश (Rishikesh) के पास एक बोर्डिंग स्कूल (Boarding School) में पढ़ने वाले सातवीं कक्षा के एक छात्र की उसके सीनियर छात्रों ने पीट-पीट कर जान ले ली और मामले को छुपाने के लिये स्कूल प्रबंधन (School Management) ने उसके शव को कैंपस में ही दफना दिया. देहरादून की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक निवेदिता कुकरेती ने बताया कि यह जघन्य घटना गत 10 मार्च को हुई थी लेकिन उत्तराखंड बाल अधिकार संरक्षण आयोग के दखल के बाद इसके बारे में पता चला.

Railway Station पर ऐसे बन रहा था नींबू पानी, वायरल हुआ Video तो रेलवे ने किया ऐसा

निवेदिता ने बताया कि उत्तर प्रदेश के हापुड़ के रहने वाले 12 वर्षीय छात्र वासु यादव (Vasu Yadav) की उसके सीनियर छात्रों ने क्रिकेट के बल्ले और विकेटों से जमकर पिटाई की. उनका मानना था कि वासु की वजह से स्कूल प्रबंधन (School Management) ने सभी छात्रों के कैंपस से बाहर जाने पर रोक लगा दी थी. उन्होंने बताया कि मृत छात्र ने एक आउटिंग के दौरान रास्ते में पड़ने वाली एक दुकान से बिस्किट चुरा लिया था जिसकी शिकायत दुकानदार ने स्कूल स्टॉफ से की. इसके बाद स्कूल प्रबंधन ने दंडस्वरूप छात्रों के कैंपस से बाहर जाने पर रोक लगा दी थी.

20 साल की महिला ने पहले दिया बच्चे को जन्म, एक महीने बाद फिर हुए Twins, पति रह गया हैरान


दस मार्च को दोपहर में छात्र को उसके सीनियर छात्रों ने पकड़ लिया और उसकी जमकर पिटाई की. इस घटना का पता देर शाम को लगा जिसके बाद उसको अस्पताल ले जाया गया जहां छात्र को मृत घोषित कर दिया गया. पुलिस अधिकारी ने बताया कि मामले के बारे में पुलिस को सूचित करने की बजाय स्कूल के अधिकारियों ने लड़के के शव को कैंपस में ही दफना दिया और मामला रफा-दफा करने की कोशिश की. स्कूल प्रबंधन ने इस बारे में हापुड़ में रहने वाले छात्र के माता-पिता को भी सूचित नहीं किया.

भारी बारिश से मची तबाही, बहा ले गई पूरा Bridge, बार-बार देखा जा रहा है दिल दहलानेवाला ये Video

टिप्पणियां

उन्होंने बताया कि स्कूल प्रबंधक, वार्डन, शारीरिक व्यायाम शिक्षक और स्कूल के दो छात्रों को इस घटना के संबंध में गिरफ्तार कर उनके खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 302 सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है. मामले के सामने आने के बाद पुलिस ने 26 मार्च को बच्चे का शव खोदकर बाहर निकाला और उसकी मौत का सही कारण जानने के उद्देश्य से शव पोस्टमार्टम के लिये भेजा.

(इनपुट-भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement