NDTV Khabar

मिजोरम विधानसभा चुनाव परिणाम : एमएनएफ ने एक दशक बाद की सत्ता में वापसी

40 सदस्यीय विधानसभा के चुनाव में 26 सीटें जीतकर मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) राज्य की सबसे बड़ी पार्टी बनी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मिजोरम विधानसभा चुनाव परिणाम : एमएनएफ ने एक दशक बाद की सत्ता में वापसी

मिजोरम में एमएनएफ प्रमुख और मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार जोरामथांगा आइजोल पूर्व-1 से पांचवी बार चुनाव जीते.

खास बातें

  1. कांग्रेस ने 34 सीटों से पांच सीटों पर सिमटकर रह गई
  2. बीजेपी ने तुइचावंग सीट जीतकर राज्य में अपना खाता खोला
  3. जोरम पीपुल्स मूवमेंट (जेपीएम) ने आठ सीटों पर जीत हासिल की
आइजोल:

मिजोरम की 40 सदस्यीय विधानसभा में 26 सीटें जीतकर मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) ने मंगलवार को एक दशक बाद यहां सत्ता में वापसी की है. इसके साथ ही कांग्रेस पूर्वोत्तर में अपना अंतिम गढ़ भी हार गई. साल 2013 विधानसभा चुनाव में एमएनएफ को केवल पांच सीटें प्राप्त हुई थीं, जबकि कांग्रेस ने यहां 34 सीटों पर जीत दर्ज कराई थी.

इस बार सत्तारूढ़ कांग्रेस यहां केवल पांच सीटों पर ही जीत दर्ज कर सकी है. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने यहां तुइचावंग सीट पर जीत दर्ज कर राज्य में अपना खाता खोला है.

यहां एक महत्वपूर्ण राजनीतिक घटनाक्रम के तहत यहां के छह स्थानीय दलों के एक फोरम और एनजीओ से पार्टी बने 'द पीपुल्स रिप्रजेंटेशन फॉर आइडेंटिटी एंड स्टेट्स ऑफ मिजोरम (प्रिज्म)' के संगठन जोरम पीपुल्स मूवमेंट (जेपीएम) ने इस चुनाव में आठ सीटों पर जीत दर्ज की है. जेपीएम के उम्मीदवारों ने निर्दलीय के तौर पर चुनाव लड़ा था.


यह भी पढ़ें : विधानसभा चुनाव परिणाम 2018 : इस प्रत्याशी ने सिर्फ तीन वोटों से हासिल कर ली जीत

कांग्रेस ने यहां 2008 और 2013 के चुनावों में सत्ता हासिल की थी. मुख्यमंत्री लल थनहावला को चंपई दक्षिण और सेरछिप दोनों विधानसभा सीटों पर हार का सामना करना पड़ा है. उन्हें यहां क्रमश: एमएनएफ के टीजे लालनुन्टुआंगा और जोराम पीपुल्स मूवमेंट (जेडपीएम) के अध्यक्ष लालदुहोमा से हार का सामना करना पड़ा.
 

विधानसभा चुनाव परिणाम 2018 : मिजोरम


एमएनएफ प्रमुख और मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार जोरामथांगा आइजोल पूर्व-1 से पांचवी बार चुने गए हैं. उन्होंने यहां निर्दलीय उम्मीदवार के सेपदांगा को हराया. कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे और 28 नवंबर को होने वाले चुनाव से ठीक पहले बीजेपी में शामिल हुए बुद्धा धन चकमा ने चकमा जनजातीय बहुल तुइचवांग सीट पर एमएनएफ के अपने प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार को 1,594 मतों से हराया.

यह भी पढ़ें : Mizoram Election Results 2018: इस पुराने कांग्रेसी नेता ने रखी बीजेपी की 'लाज', मिजोरम में पहली बार खोला खाता

पूर्व आईपीएस अधिकारी और जोराम पीपुल्स मूवमेंट (जेडपीएम) प्रमुख लालदुहोमा ने मुख्यमंत्री थनहावला को सेरछिप में 410 मतों से हराया. लालदुहोमा ने दो वर्ष पहले जेपीएम का गठन करने के लिए कांग्रेस छोड़ दी थी. प्रसिद्ध आइजोल फुटबॉल क्लब (आइजोल एफसी) के मालिक राबर्ट रोमाविया रोयटे ने भी जीत हासिल की है. वह एमएनएफ के टिकट पर आइजोल ईस्ट-2 सीट से चुनाव लड़ रहे थे.

बीजेपी ने पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों में खुद के दम या अन्य पार्टियों के सहयोग से सरकार गठन के बाद कांग्रेस को मिजोरम से उखाड़ फेंकने के लिए काफी जोर लगाया था. बीजेपी नीत नार्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक गठबंधन (एनईडीए) के घटक दल रहे एमएनएफ ने 10 वर्षो (1998-2003 और 2003-2008) तक मिजोरम में राज किया था.

टिप्पणियां

VIDEO : मिजोरम में 40 सीटों के लिए हुआ मतदान

हालांकि इस बार बीजेपी और एमएनएफ ने क्रमश: 40 और 39 सीटों पर अपने-अपने उम्मीदवार खड़े किए थे.
( इनपुट आईएएनएस से)



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement