NDTV Khabar

Google Doodle Celebrates Fearless Nadia's 110 Birth Anniversary: घुड़सवारी से लेकर निशानेबाजी तक में माहिर मैरी ऐसे बनी 'हंटरवाली'

गूगल ने आज 'Stunt Queen of India' यानी फियरलेस नादिया को अपना डूडल समर्पित किया है. गूगल ने Fearless Nadia's 110 Birthday शीर्षक से डूडल बनाया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Google Doodle Celebrates Fearless Nadia's 110 Birth Anniversary: घुड़सवारी से लेकर निशानेबाजी तक में माहिर मैरी ऐसे बनी 'हंटरवाली'

Fearless Nadia's 110 Birthday शीर्षक से Google ने बनाया Doodle

खास बातें

  1. 8 जनवरी, 1908 में हुआ था जन्म
  2. ऑस्ट्रेलिया से 5 साल की उम्र में भारत आई थीं
  3. हैरतअंगेज स्टंट किया करती थीं
नई दिल्ली: गूगल ने आज फियरलेस नादिया को अपना डूडल समर्पित किया है. गूगल ने Fearless Nadia's 110 Birthday शीर्षक से डूडल बनाया है. नादिया को अपने हैरतअंगेज स्टंट्स की वजह से जाना जाता है. उनका असली नाम मैरी एन इवांस था. उनका फिल्मी नाम फियरलेस नादिया था. उनका जन्म ऑस्ट्रेलिया में हुआ था. नादिया ने हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में बतौर एक्ट्रेस और स्टंटवूमन अपनी खास पहचान बनाई. वे ऐसे एक्शन करती थीं कि अच्छे-अच्छों के पसीने छूटने जाते थे. उनकी यादगार फिल्म 1935 की 'हंटरवाली' है. इसी फिल्म की वजह से उनका नाम हंटरवाली पड़ गया था. वैसे भी नादिया सर्कस में हाथ आजमा चुकी थीं और वहां वे खतरनाक स्टंट करती थीं. इसी वजह से उन्हें स्टंट करने की आदत पड़ी.

Mirza Ghalib Urdu poet: महान शायर ग़ालिब को थे ये तीन शौक जिन्हें वे आखिरी सांस तक नहीं छोड़ पाए



Mohammed Rafi 93rd Birth Anniversary: इसलिए लता ने मोहम्मद रफी के साथ बंद कर दी थी गायकी

नादिया ने फिल्म निर्माता होमी वाडिया से विवाह किया था और 9 जनवरी 1996 (मुंबई ) को उनका देहांत हो गया था. नादिया का जन्म 8 जनवरी, 1908 में (ऑस्ट्रेलिया के पर्थ) हुआ था. नादिया पांच साल की उम्र में भारत आई थीं और उन्होंने यहां पर घुड़सवारी, शिकार और शूटिंग जैसे हुनर सीखे. नादिया 'देश दीपक' और 'नूर-ए-यमन' जैसी फिल्मों में भी नजर आईं लेकिन उन्होंने लोकप्रियता दिलाने का काम किया 'हंटरवाली' ने. 

Mirza Ghalib: दिलोदिमाग पर छा जाएगी उर्दू के महान शायर मिर्ज़ा ग़ालिब की ये इश्किया शायरी

हंटरवाली मे स्टंट्स में अपने हाथ दिखाने के बाद तो उनकी हर फिल्म ही इस तरह की रहने लगी. वे जेम्स बॉन्ड पर बनी स्पूफ (मजाकिया) फिल्म 'खिलाड़ी' में भी नजर आई थीं. उन्होंने कई ऐसे स्टंट किए जिनमें उनकी जान को भी खतरा था लेकिन उन्होंने इसकी परवाह कभी नहीं की. फियरलेस नादिया को भारत की स्टंट क्वीन'' भी कहा जाता है.

Mirza Ghalib: महान शायर मिर्ज़ा ग़ालिब के बॉलीवुड से लेकर असल जिंदगी तक में हिट 10 शेर

टिप्पणियां
दिलचस्प यह है कि फियरलेस नादिया को परदे पर एक बार फिर लाने का काम विशाल भारद्वाज ने किया. उन्होंने अपनी फिल्म 'रंगून' में जांबाज जूलिया नाम के कैरेक्टर की रचना की जो काफी कुछ फियरलेस नादिया जैसी थी. इस तरह नादिया बेशक इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन अपनी रिस्क लेने की आदत और हैरतअंगेज कारनामों की वजह से वे हमेशा यादों में जिंदा रहेंगी.

 ...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement