NDTV Khabar

The Sholay Girl Review: 'बंसती' नहीं.. रेशमा ने जख्मी पैर से एक पहिए पर 'धन्नो' को दौड़ाया, पहली स्टंटवुमन की धांसू कहानी

The Sholay Girl Review: बॉलीवुड की एवरग्रीन और सुपर-डुपर हिट फिल्म का नाम लिया जाए तो सबसे पहले अमिताभ बच्चन, धर्मेंद्र और हेमा मालिनी की 'शोले' ही जुबां पर आती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
The Sholay Girl Review: 'बंसती' नहीं.. रेशमा ने जख्मी पैर से एक पहिए पर 'धन्नो' को दौड़ाया, पहली स्टंटवुमन की धांसू कहानी

The Sholay Girl Review: फिल्म 'द शोले गर्ल' (The Sholay Girl) में बिदिता बेग

नई दिल्ली:

बॉलीवुड की एवरग्रीन और सुपर-डुपर हिट फिल्म का नाम लिया जाए तो सबसे पहले अमिताभ बच्चन, धर्मेंद्र और हेमा मालिनी की 'शोले' ही जुबां पर आती है. ऐसे में अगर फिल्म की पीछे की असली कहानी पता चल जाए तो आपके होश जरूर फाख्ते हो जाएंगे. हेमा मालिनी के किरदार का नाम 'बसंती' तो आपको जरूर याद होगा, लेकिन आपको बता दें कि एक पहिए पर घोड़ी 'धन्नो' को दौड़ाने वाली खुद हेमा मालिनी नहीं थीं. क्यों रह गए ना हैरान! जी हां, जब गब्बर के आदमी बंसती का पीछा करते हुए अपने घोड़ों से दौड़ाते हैं तो 'धन्नो' को तांगा से संभालने वाली देश की पहले स्टंटवुमन रेशमा थी. जिसने जख्मी पैर के साथ ही आधे-अधूरी सीन को पूरा किया. उसी रेशमा के लाइफ पर बनी है फिल्म 'द शोले गर्ल' (The Sholay Girl). इसे ZEE5 पर रिलीज किया गया है.

आकाश अंबानी की शादी में जमकर नाचे रणबीर कपूर, वायरल हुआ Video


फिल्म की शुरुआत साल रेशमा के बचपन से शुरू होती है, जब उसकी मां को चावल चुराने के आरोप में हिरासत में पुलिस ले जाती है. फिर शुरू होती है रेशमा (बिदिता बेग) के जीवन का संघर्ष. सड़कों पर कूद-फांद करके परिवार का खर्चा निकालने वाली रेशमा पर अचानक एक स्टंट डायरेक्टर की नजर पड़ती है और उसे फिल्म में काम करने का ऑफर मिलता है, लेकिन महिला होने की वजह से परिवारवाले राजी नहीं होते. फिर भी जिद करके वह स्टंट करने स्टूडियो पहुंच जाती है और फिर एक मौका मिलते ही अपने स्टंट से सभी का दिल जीत लेती है. वहां से लेकर शोले की बसंती का स्टंट करने वाली रेशमा की पूरी कहानी इस फिल्म में देखने को मिलेगी.

अमिताभ बच्चन ने मांगी नौकरी तो शाहरुख खान बोले- आपको मिल जाए तो मुझे भी बता देना...

फिल्म 'द शोले गर्ल' (The Sholay Girl) में रेशमा की बेहद शानदार एक्टिंग करने वाली एक्ट्रेस बिदिता बेग है. जबकि डायरेक्टर आदित्य सरपोतदर ने रेशमा के किरदार को बखूबी निखारा है. एक घंटे 25 मिनट की फिल्म में रेशमा के बोलचाल, चाल-ढाल और रहन-सहन के साथ साहसी और हिम्मतवाली स्टंटवुमन की पूरी कहानी सीक्वेन्स में समझा दी. बैकग्राउंड स्कोर थोड़ा कमजोर लगा, लेकिन कहानी और किरदार इस पर ज्यादा हावी रहा. पहली स्टंटवुमन रेशमा के जिंदगी पर बनी बायोपिक जरूर देखनी चाहिए, क्योंकि बॉलीवुड स्टार्स के चमक के पीछे कई बेनाम शख्सियत होती हैं, जो चार चांद लगाने वाले में से एक हिस्सा होती हैं. फिल्म में सहर्ष शुक्ला ने भी शानदार अभिनय किया है.

रेटिंग: 3/5
कलाकार: बिदिता बेग, चंदन रॉय सन्याल, सहर्ष शुक्ला, दृश्या कल्याणी
डायरेक्टर: आदित्य सरपोतदर

देखें ट्रेलर-

टिप्पणियां

...और भी हैं बॉलीवुड से जुड़ी ढेरों ख़बरें...



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement