IND vs SL: बासिल थंपी की गेंदबाजी को बेहतर बनाने में इस ऑस्‍ट्रेलियाई दिग्‍गज का है अहम योगदान

भारतीय टी20 टीम में चुने गए युवा बासिल थंपी की गेंदबाजी को बेहतर बनाने में ऑस्‍ट्रेलिया के महान गेंदबाज ग्‍लेन मैक्‍ग्राथ का अहम योगदान रहा है.

IND vs SL: बासिल थंपी की गेंदबाजी को बेहतर बनाने में इस ऑस्‍ट्रेलियाई दिग्‍गज का है अहम योगदान

बासिल थंपी की यॉर्कर फेंकने की क्षमता से ग्‍लेन मैक्‍ग्राथ बेहद प्रभावित हैं (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कहा, मैक्‍ग्राथ ने कहा था गेंदों की गति कम नहीं करना
  • भारत की टी20 टीम में चुने गए हैं केरल के थंपी
  • आईपीएल में एमर्जिंग प्‍लेयर का पुरस्‍कार मिला था
चेन्‍नई:

भारतीय टी20 टीम में चुने गए युवा बासिल थंपी की गेंदबाजी को बेहतर बनाने में ऑस्‍ट्रेलिया के महान गेंदबाज ग्‍लेन मैक्‍ग्राथ का अहम योगदान रहा है. थंपी ने कहा कि मैक्‍ग्राथ से मैंने गेंदबाजी के बारे में बहुत कुछ सीखा है. केरल के इस तेज गेंदबाज को भारतीय टी20 टीम में अपने चयन से हैरानी हुई है हालांकि उन्हें उम्मीद है कि पिछले एक साल में हासिल किए गए आत्मविश्वास के दम पर वह श्रीलंका के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने में सफल रहेंगे. इस साल आईपीएल का ‘एमर्जिंग प्लेयर’ का पुरस्कार हासिल करना और अब भारतीय टी20 टीम में जगह बनाना, थंपी ने तेजी से कदम आगे बढ़ाए हैं. इस 24 वर्षीय गेंदबाज पर पिछले कुछ समय से चयनकर्ताओं की निगाह थी.

थंपी ने सूरत से पीटीआई से बातचीत के दौरान कहा, ‘मैं बहुत गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं. जब केसीए सचिव जयेश जार्ज ने मुझे बताया कि मेरा चयन राष्ट्रीय टीम में हुआ तो मैं हैरान था. यह मेरे लिए शानदार क्षण है. राष्ट्रीय टीम में जगह बनाना शुरू से मेरा सपना था.’ यह तेज गेंदबाज अभी रणजी ट्राफी क्वार्टर फाइनल के लिये केरल टीम के साथ है. केरल को 7 दिसंबर से विदर्भ के खिलाफ सूरत में मैच खेलना है. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ग्लेन मैक्‍ग्राथ से चेन्नई में एमआरएफ पेस फाउंडेशन में प्रशिक्षण लेने वाले थंपी ने कहा, ‘पिछले एक साल में मैं काफी आत्मविश्वास के साथ गेंदबाजी कर रहा हूं और मुझे श्रीलंका के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद है.’

वीडियो: गावस्‍कर बोले, निडर गेंदबाज हैं चहल और कुलदीप यादव
इस तेज गेंदबाज ने कहा कि उन्होंने पेस फाउंडेशन में मैक्‍ग्राथ से काफी कुछ सीखा.उन्होंने मुझे सलाह दी कि गेंदबाजी करते समय किसी भी समय तेजी कम नहीं करना और मैंने इसे दिमाग में रखा. इसके अलावा सेंथिल सर (एम सेंथिलनाथन, मुख्य कोच पेस फाउंडेशन) से भी मैंने बहुत कुछ सीखा. उन्होंने मुझे काफी प्रेरित किया और मेरा आत्मविश्वास बढ़ाया’ (इनपुट: एजेंसी)

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com