NDTV Khabar

माइकल होल्डिंग ने ब्रायन लारा की आलोचना को खारिज किया, कहा-'मुझे लारा की बातों में दिलचस्‍पी नहीं'

अपने जमाने के दिग्गज तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने ब्रायन लारा की 1980 में न्यूजीलैंड दौरे के दौरान उनके व्यवहार की आलोचना को आज सिरे से खारिज कर दिया. वेस्‍टइंडीज क्रिकेट के सुनहरे दौर में टीम के चार प्रमुख तेज गेंदबाजों में से एक रहे होल्डिंग ने कहा कि उनकी इस महान बल्लेबाज (ब्रायन लारा) की राय में ‘कोई भी दिलचस्पी’ नहीं है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
माइकल होल्डिंग ने ब्रायन लारा की आलोचना को खारिज किया, कहा-'मुझे लारा की बातों में दिलचस्‍पी नहीं'

ब्रायन लारा ने अपने लेक्चर के दौरान 63 वर्षीय होल्डिंग के खिलाफ टिप्पणी की थी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. लारा ने मैदान पर खराब व्‍यवहार के लिए होल्डिंग की आलोचना की थी
  2. कहा-खेल भावना के विपरीत इस व्‍यवहार से वे बेहद शर्मिंदा थे
  3. 1980 में न्‍यूजीलैंड से मैच के दौरान होल्डिंग ने स्‍टंप पर किक मारी थी
नई दिल्ली:

अपने जमाने के दिग्गज तेज गेंदबाज माइकल होल्डिंग ने ब्रायन लारा की 1980 में न्यूजीलैंड दौरे के दौरान उनके व्यवहार की आलोचना को आज सिरे से खारिज कर दिया. वेस्‍टइंडीज क्रिकेट के सुनहरे दौर में टीम के चार प्रमुख तेज गेंदबाजों में से एक रहे होल्डिंग ने कहा कि उनकी इस महान बल्लेबाज (ब्रायन लारा) की राय में ‘कोई भी दिलचस्पी’ नहीं है. जब पीटीआई ने होल्डिंग से लारा की टिप्पणी के बारे में पूछा तो उन्होंने सपाट जवाब देते हुए कहा, ‘ब्रायन लारा जो कुछ भी कहता है, मेरी उसमें कोई दिलचस्पी नहीं है. कभी थी भी नहीं और कभी होगी भी नहीं.’

वेस्टइंडीज की जीत पर सचिन ने दी लारा को बधाई, कहा- इस जीत की सख्त जरूरत थी

ब्रायन लारा ने लार्ड्स पर एमसीसी ‘स्प्रिरिट ऑफ क्रिकेट काउड्रे लेक्चर’ के दौरान 63 वर्षीय होल्डिंग के खिलाफ टिप्पणी की थी. यह जगजाहिर है कि वेस्टइंडीज के दोनों महान खिलाड़ियों लारा और होल्डिंग में दोस्ती नहीं है. एमसीसी भाषण के दौरान लारा ने कहा कि वह वेस्टइंडीज के 80 और 90 के दशक में खेल भावना के विपरीत व्यवहार से काफी ‘शर्मिंदा’ थे. उन्होंने विशेषकर उस घटना की बात की जो 1980 में न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज के दौरान घटी जिसमें होल्डिंग ने हताशा में पैर से स्टंप पर किक मारी थी.


टिप्पणियां

वीडियो : ब्रायन लारा ने दिया दरियादिली का परिचय
लारा ने कहा था, ‘माइकल होल्डिंग ने फैसला किया कि वह अब क्रिकेटर नहीं बल्कि फुटबॉलर हैं और उन्होंने स्टंप पर किक मार दी. मुझे लगता है कि उस समय हुई घटनाओं का क्रिकेट पर काफी बड़ा असर पड़ा.’होल्डिंग ने सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली की तुलना की हाइप पर भी अपने विचार व्यक्त किए. श्रीलंका के खिलाफ समाप्त हुई सीरीज में कोहली ने 30 वनडे शतक पूरे किये हैं. होल्डिंग ने कहा, ‘अभी लंबा सफर तय करना है (तेंदुलकर के रिकॉर्ड के करीब पहुंचने के लिये) लेकिन वह निश्चित रूप से महान बल्लेबाज है.’ यह पूछने पर कि कोहली क्या तेंदुलकर की तुलना में बेहतर बल्लेबाज हैं या इसके उलट है तो होल्डिंग ने कहा, ‘वैसे, मुझे तुलनायें पसंद नहीं हैं.’

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement