NDTV Khabar

आर.अश्विन और रवींद्र जडेजा जैसे गेंदबाजों के बारे में कुलदीप यादव ने कही यह बात

टीम इंडिया के चाइनामैन बॉलर कुलदीप यादव भले ही शानदार फॉर्म में चल रहे हों लेकिन वे भारतीय टीम में आधारस्‍तंभ इस समय आर. अश्विन और रविंद्र जडेजा की जगह लेने के बारे में जरा भी नहीं सोच रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आर.अश्विन और रवींद्र जडेजा जैसे गेंदबाजों के बारे में कुलदीप यादव ने कही यह बात

कुलदीप यादव ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में भारत की जीत में सूत्रधार रहे (फाइल फोटो)

गुवाहाटी: टीम इंडिया के चाइनामैन बॉलर कुलदीप यादव भले ही शानदार फॉर्म में चल रहे हों लेकिन वे भारतीय टीम में आधारस्‍तंभ इस समय आर. अश्विन और रविंद्र जडेजा की जगह लेने के बारे में जरा भी नहीं सोच रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो स्पिनरों को उतारने की भारत की रणनीति कारगर साबित हुई है. यादव और युजवेंद्र चहल वनडे सीरीज में भारत की 4-1 से जीत में सूत्रधार रहे जबकि मौजूदा टी20 सीरीज का पहला मैच जीतकर भारत 1-0 से आगे है.

यह भी पढ़ें : कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल ने इन एक्‍ट्रेस को बताया अपनी पसंदीदा

टिप्पणियां
कुलदीप  यादव ने दूसरे टी20 से पहले पत्रकारों से कहा ,‘मैं इतना आगे की नहीं सोचता. अश्विन और जडेजा दोनों ही तीनों प्रारूपों में लगातार अच्छा प्रदर्शन करते आए हैं. उनकी जगह लेने का सवाल ही पैदा नहीं होता. हम अभी काफी युवा है और हमारे भीतर काफी क्रिकेट बाकी है. मैं अभी इस बारे में नहीं सोच रहा.’ उन्होंने कहा कि मैं रहस्यमयी गेंदबाज नहीं हूं जो अलग-अलग हाथों से गेंदबाजी करे. दो-तीन साल बाद फिर बल्लेबाजों के लिये आपको खेलना आसान हो जाता है. यदि आपके बेसिक्स सही है तो आपके लिए गेंदबाजी हो जाती है.’

वीडियो: गावस्‍कर बोले, निडर गेंदबाज हैं चहल और कुलदीप
यादव ने कहा,‘मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि कोई वीडियो समीक्षा करके आपकी गेंदों को भांपने की कोशिश करता है. यदि आप सही दिशा में विविधता के साथ गेंदबाजी करेंगे तो बल्लेबाज निश्चित रूप से परेशान होंगे. फिर चाहे उन्होंने कितनी ही वीडियो समीक्षा कर रखी हो.’उन्होंने कहा कि आईपीएल में ऑस्ट्रेलिया के चाइनामैन गेंदबाज ब्रैड हाग के साथ खेलकर उन्होंने काफी कुछ सीखा और वह अपने आदर्श शेन वॉर्न से भी लगातार संपर्क में हैं. उन्होंने कहा,‘इन दोनों ने मेरे कैरियर में अहम भूमिका निभाई है.  मैं बचपन से शेन वॉर्न को आदर्श मानता रहा हूं. वह मेरे आदर्श हैं. यदि उनकी उपलब्धियों का 50 प्रतिशत भी मैं हासिल कर सका तो मेरा जीवन सफल हो जाएगा.’ (इनपुट: भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement