NDTV Khabar

राहुल गांधी को बधाई देने के लिए कांग्रेस मुख्‍यालय के आगे पार्टी कार्यकर्ता ने किया हवन

राहुल गांधी को शिव का अवतार बताया है. पूछे जाने पर कि ऐसा क्यों, फूल सिंह कहते हैं राहुल गांधी शिव के भक्त हैं और जो भक्त होता है वह एक रूप में अवतार भी होता है.

1.7K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
राहुल गांधी को बधाई देने के लिए कांग्रेस मुख्‍यालय के आगे पार्टी कार्यकर्ता ने किया हवन

दिल्‍ली में कांग्रेस मुख्‍यालय के सामने हवन करता कांग्रेस कार्यकर्ता

खास बातें

  1. 'राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष बनते ही गुजरात में जीत हासिल करें'
  2. सोमवार को राहुल गांधी के निर्विरोध अध्यक्ष चुने जाने का ऐलान किया गया
  3. 16 दिसंबर को औपचारिक रूप से कांग्रेस अध्‍यक्ष का पद संभालेंगे राहुल
नई दिल्‍ली: कांग्रेस मुख्यालय 24 अकबर रोड से थोड़ी सी दूरी पर फूल सिंह नाम का कांग्रेस के एक कार्यकर्ता ने हवन किया. यह हवन राहुल गांधी के पार्टी अध्यक्ष बनने के उपलक्ष्य में हुआ. यहां राहुल गांधी की तस्वीर के साथ-साथ सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी की तस्वीर भी लगाई गई. राहुल गांधी को शिव का अवतार बताया गया. पूछे जाने पर कि ऐसा क्यों, फूल सिंह कहते हैं राहुल गांधी शिव के भक्त हैं और जो भक्त होता है वह एक रूप में अवतार भी होता है. यूं तो इस तरह के मौके पर ढोल, पटाखे, नगाड़े, नारेबाजी यह सब आम है और शायद हवन भी, लेकिन जिस तरह से गुजरात चुनाव के दौरान राहुल गांधी अलग-अलग मंदिरों में गए, बीजेपी ने आरोप लगाया कि वह हिंदू वोटों को अपनी ओर करने की कोशिश में ऐसा कर रहे हैं. यानी राहुल अपनी और कांग्रेस पार्टी की छवि बदलने की कोशिश में जुटे हैं. यहीं आकर फूल सिंह का इस तरह से हवन करना ज्यादा ध्यान खींचता है.

राहुल गांधी एक न एक दिन देश के प्रधानमंत्री जरूर बनेंगे : तेजस्वी यादव

हवन की ये जगह अकबर रोड पर नए बन रहे गुजरात सदन के सामने की है और फूल सिंह बताते हैं कि इसका सांकेतिक संदेश यही है कि राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष बनते ही गुजरात में जीत हासिल करें.

मोदी जी, गुजरात में हम आपको प्यार से, बिना गुस्से के हराने जा रहे हैं : राहुल गांधी

यह पूछे जाने पर कि क्या वह राहुल गांधी के हिंदू चरित्र को या हिंदू व्यक्तित्व को उभारने की कोशिश कर रहे हैं, वह कहते हैं राहुल पूरे देश के हैं, हर धर्म के हैं लेकिन क्योंकि वह खुद हिंदू हैं इसलिए वह हिंदू कर्मकांड के हिसाब से इस मौके पर अपनी खुशी जता रहे हैं.

भाजपा की नकल हम नहीं करेंगे, उनकी गालियों पर हम जवाब नहीं देंगे : राहुल गांधी

इससे पहले राहुल गांधी के निर्विरोध अध्यक्ष चुने जाने का ऐलान किया गया. कुल 89 नामांकन में सभी नामांकन राहुल गांधी के नाम का था, कोई दूसरा उम्मीदवार मैदान में था नहीं. नाम वापस लेने की आखिरी समय सीमा 11 तारीख 3:00 बजे बीत गई. इसके बाद कांग्रेस के चुनाव प्राधिकरण ने राहुल के निर्विरोध चुने जाने का ऐलान किया. राहुल गांधी गुजरात चुनाव में व्यस्त हैं इसलिए 16 तारीख को सुबह 11:00 बजे एआईसीसी मुख्यालय आकर वह कांग्रेस चुनाव प्राधिकरण से अपना सर्टिफिकेट हासिल करेंगे और औपचारिक तौर पर तभी कांग्रेस अध्यक्ष की कमान भी संभाल लेंगे. यानी 16 तारीख को कांग्रेस मुख्यालय में एक और जश्न देखने को मिलेगा.

टिप्पणियां
VIDEO: बीजेपी की विकास यात्रा फ्लॉप : राहुल गांधी

इसके अगले ही दिन कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी की तरफ से पार्टी के तमाम नेताओं के लिए एक रात्रि भोज का आयोजन किया गया है जो एक निजी जगह पर होगा, शायद किसी फाइव स्टार होटल में. मकसद राहुल के अध्यक्ष चुने जाने के बाद तमाम नेताओं से मुलाकात का है. हालांकि इसके अगले ही दिन यानी 18 दिसंबर को गुजरात के नतीजे आएंगे और तब यह तय होगा कि जश्न का जो माहौल अध्यक्ष बनने के बाद नजर आया है क्या 18 तारीख को भी जारी रहेगा या फिर कांग्रेस के नवनिर्वाचित अध्यक्ष को अपने कार्यकर्ताओं के साथ तुरंत ही जुट जाना पड़ेगा 2019 के लिए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement