आखिर क्‍यों कबीरदास ने मगहर में जाकर त्‍यागे थे प्राण?

कबीर दास ने अंधविश्वास को तोड़ने के लिए मगहर में 1518 में देह त्यागी थी. मगहर के बारे में कहा जाता था कि यहां मरने वाला व्यक्ति नरक में जाता है.

आखिर क्‍यों कबीरदास ने मगहर में जाकर त्‍यागे थे प्राण?

कबीर का अधिकांश जीवन काशी में व्यतीत हुआ था.

खास बातें

  • कबीर दास प्रसिद्ध कवि और संत थे.
  • संत कबीर ने लगभग पूरा जीवन काशी में बिताया था.
  • कबीर दास अपने जीवन के आखिरे समय में मगहर चले आए थे.
नई दिल्ली:

संत कबीर दास ने अपना पूरा जीवन काशी में बिताया लेकिन जीवन का अंतिम समय मगहर में बिताया था. मगहर संत कबीर नगर जिले में छोटा सा कस्बा है. मगहर के बारे में कहा जाता था कि यहां मरने वाला व्यक्ति नरक में जाता है. कबीर दास ने इस प्रचलित धारणा को तोड़ा और मगहर में ही 1518 में देह त्यागी. मगहर के पक्ष में यह तर्क दिया जाता है कि कबीर ने अपनी रचना में इसका उल्लेख किया है, ''पहिले दरसन मगहर पायो, पुनि कासी बसे आई'' यानी काशी में रहने से पहले उन्होंने मगहर देखा.

Amarnath Yatra 2018: 'बम-बम भोले' से गूंज उठा अमरनाथ, शिव भक्‍त बोले- 'डर से ऊपर आस्‍था'

कबीर का अधिकांश जीवन काशी में व्यतीत हुआ. वे काशी के जुलाहे के रूप में ही जाने जाते हैं. ऐसी मान्यता है कि मृत्यु के बाद कबीर दास के शव को लेकर विवाद उत्पन्न हो गया था. हिन्दू कहते थे कि उनका अंतिम संस्कार हिन्दू रीति से होना चाहिए और मुस्लिम कहते थे कि मुस्लिम रीति से. ऐसा कहा जाता है कि जब उनके शव पर से चादर हटाई गई, तब लोगों ने वहां फूलों का ढेर पड़ा देखा. बाद में आधे फूल हिन्दुओं ने ले लिए और आधे मुसलमानों ने. मुसलमानों ने मुस्लिम रीति से और हिंदुओं ने हिंदू रीति से उन फूलों का अंतिम संस्कार किया.

जगन्नाथ मंदिर में बढ़ाई जाएगी सुरक्षा, परिसर के अंदर लगेंगे 23 सीसीटीवी

मगहर में कबीर की समाधि है. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मगहर में आज कबीर दास की समाधि पर चादर चढाई और पुष्प अर्पित किये. उसके बाद उन्होंने 24 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली संत कबीर अकादमी का शिलान्यास किया.
 

narendra modi yogi adityanath kabir academy twitter

शिलान्यास के बाद मोदी ने एक जनसभा में कहा कि, कबीर अपने कर्म से वन्दनीय हो गये. कबीर धूल से उठे थे लेकिन माथे का चंदन बन गये.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: कबीर की धरती से पीएम मोदी ने किया कांग्रेस पर हमला