NDTV Khabar

Parliament Highlights: महागठबंधन-महामिलावट, BC और AD की नई परिभाषा, 55 साल vs 55 महीने, 10 प्वाइंट में पीएम मोदी का भाषण

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) से ठीक पहले संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान कांग्रेस समेत विपक्ष पर जमकर हमला बोला.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Parliament Highlights: महागठबंधन-महामिलावट, BC और AD की नई परिभाषा, 55 साल vs 55 महीने, 10 प्वाइंट में पीएम मोदी का भाषण

Highlights of PM Modi's speech in Lok Sabha: लोकसभा में गरजे पीएम मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) से ठीक पहले संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान कांग्रेस समेत विपक्ष पर जमकर हमला बोला. PM नामदार-कामदार, महामिलावट वाला महागठबंधन, 55 साल बनाम 55 महीने जैसे शब्दबाणों से कांग्रेस पर जमकर बरसे. प्रधानमंत्री ने राष्ट्रमंडल खेल, 2जी घोटाला एवं रक्षा सौदों में भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिये वे संकल्प के साथ चले हैं और पीछे हटने वाले नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि जिन्होंने देश को लूटा है, उन्हें डरना ही होगा. राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भ्रष्टाचार ने देश को दीमक की तरह बर्बाद किया है. सब चाहते हैं कि भ्रष्टाचार खत्म हो. लेकिन किसी न किसी के हाथ कहीं फंसे हुए हैं. हम भ्रष्टाचार को खत्म करने की दिशा में संकल्प के साथ आगे बढ़े हैं.
Highlights of PM Modi's speech in Lok Sabha: पीएम मोदी के भाषण की 10 बातें
  1. लोकसभा में पीएम मोदी (PM Narendra Modi) कहा कि हम पर किसी तरह का बैगेज (अतीत का बोझ) नहीं है. हमें न किसी पर अहसान करना है, ना किसी के अहसान पर जिंदा हूं. इसलिए जी जान से कालाधन, भ्र्रष्टाचार के खिलाफ लगे हुए हैं. मोदी ने कहा कि जिन्होंने देश को लूटा है, उन्हें डरना ही होगा. ऐसे लोगों से लड़ने के लिये जिंदगी खपाई है. देश में चोर, लुटेरों को डर खत्म हो गया था, ऐसे लोगों के मन में डर पैदा करने के लिये जनता ने उन्हें बिठाया है.
  2. पीएम मोदी ने कहा कि अहंकार के चलते कांग्रेस 400 से 40 पर आ गई और हम सेवाभाव की वजह से 2 से यहां तक आ गए हैं. कांग्रेस के पास न गति थी और न ही विजन था. उन्होंने कहा कि देश को लूटने वाले को मोदी डराकर रहेगा, देश ने मुझे इसी काम के लिए यहां बिठाया है. पीएम मोदी ने इस दौरान BC और AD की भी नई परिभाषा दी. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि आज मैंने भाषण सुना 1947 से 2014 तक...1947 से 2014 तक...उन्होंने  'BC को बिफोर कांग्रेस और AD को आफ्टर डायनेस्‍टी कहा.' BC का मतलब बिफोर कांग्रेस...मतलब कांग्रेस से पहले कुछ नहीं था...AD का मतलब आफटर डाइनेस्टी...यानी जो कुछ भी हुआ उनके आने के बाद ही हुआ.
  3. भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी सरकार की पहल का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि करीब आठ करोड़ लोगों को आधार की व्यवस्था के जरिये बाहर कर दिया गया, जो दलाली लेते थे. उन्होंने कहा कि बेनामी संपत्ति कानून के बाद अब बेनामी संपत्तियां जब्त हो रही हैं. अब संपत्ति निकल रहीं हैं. उन्होंने कहा कि अब कौन कौन सी और कहां कहां से संपत्ति निकल रही है. इसलिए परेशानी होना बहुत स्वाभाविक है.
  4. पीएम मोदी ने कहा, ‘‘ लेकिन मैं इस सदन के माध्यम से देश को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि इस संकल्प में हम पीछे हटने वाले नहीं हैं. चुनौतियां बड़ी हैं, रुकावटें बहुत है. लेकिन रुकावटों से ज्यादा मजबूत हमारा संकल्प है.'' उन्होंने कांग्रेस सहित विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि आज चेहरे उतरे हुए हैं क्योंकि एक नहीं, दो नहीं, तीन-तीन राजदार पकड़कर लाये गये हैं. उनका परोक्ष संदर्भ क्रिश्चियन मिशेल सहित कुछ आरोपियों के विदेश से भारत लाये जाने के संबंध में था . नोटबंदी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इसके बाद तीन लाख फर्जी कंपनियां बंद हो गयीं. उन्होंने कहा कि कि अगर पुरानी प्रणाली होती तो चलता रहता. लेकिन यह 55 महीने की सेवाभाव की सरकार की वजह से संभव हुआ.
  5. प्रधानमंत्री ने कहा कि हमने विदेशों से चंदा प्राप्त करने वाले संगठनों से उन्हें मिले अनुदान का हिसाब मांगा. कोई छापा नहीं मारना पड़ा और एक छोटी सी चिट्ठी गयी और 20 हजार से अधिक संगठनों ने अपनी दुकानें बंद कर दीं. उन्होंने आरोप लगाया कि ये संस्थाएं गांवों से लेकर न्याय तंत्र तक प्रभाव डालने का काम करती थीं. उन्होंने कहा कि गुजरात में सरदार सरोवर बांध का शिलान्यस पंडित नेहरू जी ने किया और मैंने हाल ही में उद्घाटन किया है.
  6. मोदी ने कांग्रेस नेताओं से पूछा कि क्या आप नहीं रोक सकते थे. आपका क्या भला होता था. ये विदेशी धन लाने के रास्ते किसके लिए थे. रक्षा क्षेत्र में उनकी सरकार द्वारा पारदर्शी व्यवस्था के तहत काम करने का दावा करते हुए उन्होंने कहा कि जब पारदर्शिता से, ईमानदारी से देश की वायुसेना को मजबूत करने का काम हो रहा है तो कांग्रेस के लोग बौखला जाते हैं.
  7. विजय माल्या जैसे लोगों के बैंकों से कर्ज लेकर विदेश फरार होने के संबंध में विपक्ष के आरोपों पर मोदी ने कहा कि जो भाग गए हैं, वह अब ट्विटर पर रो रहे हैं कि मैं तो 9000 करोड़ रूपये लेकर भागा थे, मोदी ने 13 हजार करोड़ रूपये की सम्पत्ति जब्त कर ली.  उन्होंने कहा कि लूटने वालों को कानून बनाकर वापस लाने की पहल की है .
  8. बैंकों के एनपीए के संबंध में आरोपों पर प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के तहत सत्ता भोग के कारण 2008 से 2014 तक छह वर्षो में बैंक का लोन 18 लाख करोड़ रूपये से बढ़कर 52 लाख करोड़ रूपये हो गया . ‘‘ यह फोन बैंकिंग के कारण हुआ . '' उन्होंने जोर दिया कि जो एनपीए कांग्रेस नीत सरकार 2014 में छोड़ गई थी, उसमें एक पैसा नहीं बढ़ा है. ‘‘ आप जो छोड़कर गए थे, उसका केवल ब्याज बढ़ा है.''
  9. मोदी ने कहा कि भ्रष्टाचार पर कार्रवाई के कारण ही उन्हें गाली-गलौच, गंदे आरोप, अभद्र भाषा सुनने को मिलती है. कारण यही है कि लोगों को इतनी परेशानी हो रही है. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि महात्मा गांधी ने कहा था कि कांग्रेस को बिखेर दो. ‘कांग्रेस मुक्त भारत का सपना मेरा नहीं है, मैं तो महात्मा गांधी का सपना पूरा कर रहा हूं. महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के वर्ष पर यह काम पूरा ही करना है.
  10. प्रधानमंत्री ने कांग्रेस एवं उसके सहयोगी दलों पर वंशवाद की संस्कृति को आगे बढ़ाने का आरोप लगाया . उन्होंने कहा कि ये वंशवादी हैं. थोक में सब जमानत पर हैं. उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग की साख पूरे विश्व में है तथा उन्होंने चुनाव आयोग एवं ईवीएम पर सन्देह जताने के लिए कांग्रेस सहित विपक्षी दलों को आड़े हाथ लिया और पूछा कि आप इतने डरे हुए क्यों हैं?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
टिप्पणियां

Advertisement