Home Remedies For Immunity: इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कमाल है कच्ची हल्दी, जानें इसके सेवन का सही तरीका!

How To Use Turmeric For Immunity: हल्दी, जो एंटीवायरल, एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल है, प्रीबायोटिक भी है जो हमारे पेट में स्वस्थ बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देती है. अगर हल्दी का सही तरीके से सेवन किया जाए तो हल्दी इम्यूनिटी बढ़ाने के घरेलू उपायों (Home Remedies To Increase Immunity) में सबसे बेहतर काम कर सकती है. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कच्ची हल्दी (Raw Turmeric To Increase Immunity) काफी फायदेमंद मानी जाती है.

Home Remedies For Immunity: इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कमाल है कच्ची हल्दी, जानें इसके सेवन का सही तरीका!

Home Remedies For Immunity: इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कच्ची हल्दी का इन दो तरीको से करें इस्तेमाल

खास बातें

  • इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कच्ची हल्दी है कारगर, ऐसे करें सेवन.
  • इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए आजमाएं ये घरेलू उपाय.
  • कच्ची हल्दी न सिर्फ इम्यूनिटी बढ़ाती है बल्कि इसके हैं कई स्वास्थ्य लाभ!

Best Home Remedies For Immunity: हल्दी लगभग हर करी और खाने में इस्तेमाल की जाती है. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए हल्दी (Turmeric To Increase Immunity) एक चमत्कारिक मसाला साबित हो सकती है अगर इसका सही तरह से सेवन किया जाए. हमारी रसोई में हल्दी (Turmeric) एक सबसे जरूरी मसाला है. इम्यूनिटी (Immunity) बढ़ाना कितना जरूरी है यह आप सभी अच्छी तरह से जानते हैं. एक मजबूत इम्यून सिस्टम (Immune System) हमें कई बीमारियों से मुक्त रख सकता है. इस महामारी के दौर में हर किसी अपनी इम्यूनिटी को बढ़ाने के उपाय (Remedies To Increase Immunity) करने होंगे. सालों से हल्दी उन सभी लोगों के लिए एक लोकप्रिय घटक बन गई है जो स्वस्थ जीवन जीने में विश्वास करते हैं. इस आश्चर्यजनक मसाले के लाभों से हमेशा हेल्दी रहा जा सकता है. भारतीय रसोई सदियों से हल्दी पर निर्भर है. हल्दी का उपयोग (Use Of Turmeric) दूध या गर्म पानी या चाय के साथ बिना पकाए किया जाता है, ताकि फ्लू या जुकाम (Flu Or Cold) से बचा जा सकें.

हल्दी इम्यूनिटी को बढ़ाने (Enhance Turmeric Immunity) और सर्दी, खांसी और छाती में जकड़न को खत्म करने में मदद कर सकती है. हल्दी में कई एंटी ऑक्सीडेंट्स और एंटी इंफ्लेमेट्री गुण पाए जाते हैं जो इम्यून सिस्टम को बूस्ट (Boost Immune System) करने में मददगार हो सकते हैं. हल्दी, जो एंटीवायरल, एंटी-फंगल और एंटी-बैक्टीरियल है, प्रीबायोटिक भी है जो हमारे पेट में स्वस्थ बैक्टीरिया के विकास को बढ़ावा देती है. हल्दी के फायदे (Turmeric Benefits) कई हैं. अगर हल्दी का सही तरीके से सेवन किया जाए तो हल्दी इम्यूनिटी बढ़ाने के घरेलू उपायों (Home Remedies To Increase Immunity) में सबसे बेहतर काम कर सकती है.

कच्ची हल्दी इम्यूनिटी बढ़ाने में है कारगर | Raw turmeric Is Effective In Increasing Immunity

हल्दी एक शक्तिशाली जड़ी बूटी है जिसमें बीटा-कैरोटीन, एस्कॉर्बिक एसिड (विटामिन सी), कैल्शियम, फ्लेवोनोइड्स, फाइबर, लोहा, नियासिन, पोटेशियम, जस्ता जैसे पोषक तत्व हैं. इसमें सक्रिय यौगिक एंटी इंफ्लेमेट्री और एंटी बैक्टीरियल गुणों के लिए करक्यूमिन पाया जाता है. अगर हल्दी को कच्ची खाया जाए तो यह इम्यूनिटी बढ़ाने की आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों (Ayurvedic Herbs To Increase Immunity) में एक कमाल की औषधि हो सकती है. इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कच्ची हल्दी (Raw Turmeric To Increase Immunity) काफी फायदेमंद मानी जाती है.

immuneHome Remedies For Immunity: कच्ची हल्दी का सेवन करने के कई कमाल के फायदे हैं! 

कच्ची हल्दी का सेवन करने ये हैं दो तरीके | There Are Two Ways To Consume Raw Turmeric

- कच्ची हल्दी डालकर एक चम्मच घी के साथ उबालें और इसे रोज सुबह खाएं. यह प्रतिरक्षा में सुधार और सूखी खांसी को ठीक करने में मदद कर सकता है.

- आप कच्ची हल्दी और एक चम्मच घी भी पीस सकते हैं और अपने दिन को शुरू करने से पहले एक ठंडी मॉर्निंग ड्रिंक बना सकते हैं.

कई स्वास्थ्य समस्याओं के लिए उपयोग किए जाने वाले कई घरेलू उपचारों में कच्ची हल्दी मुख्य सामग्रियों में से एक है. हल्दी दूध एक उदाहरण है जिसमें कद्दूकस की हुई कच्ची हल्दी को दूध के साथ उबाला जाता है, और इसे गर्म परोसा जाता है. इसे आम सर्दी और मौसमी फ्लू से बचाने के लिए एक जादुई अमृत माना जाता है. 

कच्ची हल्दी का सेवन करने के शानदार फायदे | Great Benefits Of Consuming Raw Turmeric

- कच्ची हल्दी पाचन को बेहतर करने में काफी फायदेमंद मानी जाती है.

- कच्ची हल्दी का सेवन पेट के अल्सर और जलन के इलाज में भी मदद कर सकता है.

- यह शरीर में सूजन को कम करने में भी मदद करता है.

- इन सभी कारकों से त्वचा की अशुद्धियों में भी कमी आती है. परंपरागत रूप से, इसका उपयोग त्वचा रोगों के उपचार में भी किया जाता है.

- कच्ची हल्दी को चोट लगने पर मरहम के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है.

- यह रक्त को शुद्ध करता है, इससे विषाक्त पदार्थों को समाप्त कर सकती है.

- कच्ची हल्दी को ब्लड शुगर लेवल को भी नियंत्रित करने के लिए कारगर माना जाता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

- सूजन संक्रमण से लड़ने के लिए इम्यून सिस्टम का मजबूत होना जरूरी है. जब सूजन पुरानी हो जाती है तो यह कैंसर सहित विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं की ओर ले जाती है. हल्दी में एं इंफ्लेमेट्री गुण जो सूजन को कम करने में मदद कर सकते हैं.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.