बिहार: शिवानंद तिवारी बोले, 'मर्डर मामले में RJD नेता तेजस्‍वी यादव पर लगे आरोप निराधार, CBI जांच हो'

आरजेडी नेता तिवारी ने कहा, 'विधानसभा का चुनाव सर पर है. ऐसे समय में नेता प्रतिपक्ष और उनके बड़े भाई को हत्या के मामले में नामजद अभियुक्त बनाने को हम एक गंभीर राजनीतिक साजिश के रूप में देख रहे हैं.

बिहार: शिवानंद तिवारी बोले, 'मर्डर मामले में RJD नेता तेजस्‍वी यादव पर लगे आरोप निराधार, CBI जांच हो'

आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है

खास बातें

  • बाल्‍मीकि समाज के नेता के मर्डर का है मामला
  • मृतक के परिजनों ने पुलिस में दर्ज कराई है एफआईआर
  • इसमें तेजस्‍वी और उनके बड़े भाई पर लगाया गया है आरोप
पटना:

Bihar Assembly Elections 2020: बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) के पहले पूर्णिया जिले के बाल्मीकि समाज के एक नेता की हत्या का मामला गरमा गया है. मामले में मृतक के परिवार के लोगों ने पुलिस के समक्ष नामजद FIR दर्ज कराई है, जिसमें बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) और उनके बड़े भाई तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav )पर हत्‍या (Murder) का आरोप लगाया है. दूसरी ओर, राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) ने हत्‍या की तीखे शब्‍दों में निंदा की है, साथ ही अपने प्रमुख नेता और उनके भाई पर लगे आरोपों को निराधार बताया है. इसके साथ ही पार्टी ने मामले की सीबीआई (CBI) से जांच की माँग की है.बिहार के आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी (Shivanand Tiwari)ने कहा, 'पूर्णिया जिले के बाल्मीकि समाज के एक नेता की हत्या हुई है. RJD इस हत्या की घोर निंदा करता है. मृतक के परिजनों ने पुलिस के समक्ष FIR दर्ज कराई है जिसमें नेता प्रतिपक्ष तथा उनके बड़े भाई पर हत्या का आरोप लगाया गया है. हम इस आरोप को मजबूती के साथ नकारते हैं.'

बिहार : LJP ने अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान कर 'बिगाड़ा' BJP का गणित

आरजेडी नेता तिवारी ने कहा, 'विधानसभा का चुनाव सर पर है. ऐसे समय में नेता प्रतिपक्ष और उनके बड़े भाई को हत्या के मामले में नामजद अभियुक्त बनाने को हम एक गंभीर राजनीतिक साजिश के रूप में देख रहे हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी की पार्टी के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने इस मामले की जांच से कराने की मांग की है. संजय जी के इस बयान को हम मुख्यमंत्री जी की पार्टी का आधिकारिक बयान मान रहे हैं. हम जदयू की इस मांग का समर्थन करते हैं. हम भी मुख्यमंत्री से मांग करते हैं कि सरकार तत्काल इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपे. आरजेडी ने कहा कि साथ ही हम यह भी मांग करते हैं कि जब तक सीबीआई की जांच पूरी न हो जाए तब तक मुख्यमंत्री, अपने तथा अपने सहयोगी दलों के नेताओं को अनर्गल बयान देने पर रोक लगाएं. हम आशा करते हैं कि नीति और नैतिकता की बराबर दुहाई देने वाले मुख्यमंत्री जी हमारी बातों को गंभीरता से लेंगे.

Newsbeep

बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले बनते, बिगड़ते समीकरण

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com