कांग्रेस में अंदरूनी जंग : अधीर रंजन चौधरी का कपिल सिब्बल पर निशाना - दूसरी पार्टी में जाओ या नई बना लो

लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chaudhary) ने कहा कि जो लोग कांग्रेस की उपेक्षा कर रहे हैं, वह दूसरी पार्टी जॉइन कर सकते हैं या फिर अपनी पार्टी बना सकते हैं.

कांग्रेस में अंदरूनी जंग : अधीर रंजन चौधरी का कपिल सिब्बल पर निशाना - दूसरी पार्टी में जाओ या नई बना लो

कपिल सिब्बल मनमोहन सरकार में मंत्री रह चुके हैं. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कपिल सिब्बल के बयान पर हंगामा
  • अधीर रंजन चौधरी ने साधा निशाना
  • लोकसभा में विपक्ष के नेता हैं चौधरी
नई दिल्ली:

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल (Kapil Sibal) के बयान के बाद कांग्रेस पार्टी (Congress) में रार तेज होती जा रही है. लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी (Adhir Ranjan Chaudhary) ने सिब्बल पर निशाना साधते हुए कहा कि जो लोग कांग्रेस की उपेक्षा कर रहे हैं और शर्मनाक गतिविधियों में लिप्त हो रहे हैं, वह दूसरी पार्टी जॉइन कर सकते हैं या फिर अपनी पार्टी बना सकते हैं. उन्होंने कपिल सिब्बल का नाम लिए बगैर कहा कि ऐसे नेता जो गांधी परिवार के करीबी हैं, मुद्दों को उनके (सोनिया गांधी और राहुल गांधी) सामने रखने के लिए स्वतंत्र रहे हैं.

पश्चिम बंगाल में पत्रकारों से बात करते हुए अधीर रंजन चौधरी ने कहा, 'अगर कोई नेता सोचता है कि कांग्रेस उसके लिए सही पार्टी नहीं है तो वो नई पार्टी बना सकता है या कोई और पार्टी जॉइन कर सकता है, जिसके बारे में वो सोचता हो कि ये उसके लिए सही दल है, लेकिन उनको इस तरह की शर्मनाक गतिविधियों में लिप्त नहीं होना चाहिए, जिससे कांग्रेस पार्टी की विश्वसनीयता पर सवाल खड़े हों.'

BJP-PDP गठबंधन को याद करते हुए कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर साधा निशाना, बोले- 'आप किस गैंग में थे?'

उन्होंने आगे कहा, 'ऐसे वरिष्ठ नेताओं को इस तरह की बयानबाजी में नहीं पड़ना चाहिए. उन्हें गांधी परिवार से निकटता प्राप्त है. वो किसी भी विषय को पार्टी आलाकमान के सामने या फिर पार्टी फोरम में रख सकते हैं.' अधीर रंजन चौधरी ने बिहार चुनाव को लेकर कहा कि अगर ऐसे नेता वाकई संवेदनशील थे तो उनको जमीन पर यह फर्क साबित करना था. क्या उन्होंने पार्टी के हित में बिहार चुनाव में कोई काम किया.

अशोक गहलोत ने कपिल सिब्‍बल पर साधा न‍िशाना, कहा - आंतरिक मसलों को मीडिया में लाने की जरूरत नहीं थी

बता दें कि बीते सोमवार अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से खास बातचीत में कपिल सिब्बल ने कहा कि जनता कांग्रेस को मजबूत विकल्प के तौर पर नहीं देख रही है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने न सिर्फ बिहार चुनाव बल्कि देश के अन्य राज्यों में हुए उपचुनाव को भी पार्टी ने गंभीरता से नहीं लिया. गौरतलब है कि कुछ समय पहले कपिल सिब्बल, गुलाम नबी आजाद समेत 22 बड़े नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखी थी, जिसमें कांग्रेस में आत्ममंथन और बदलाव की बात कही गई थी. इस चिट्ठी के सार्वजनिक होने के बाद पार्टी के भीतर बवाल खड़ा हो गया था.

Newsbeep

VIDEO: कपिल सिब्बल ने पार्टी नेतृत्व पर उठाए सवाल, कहा- लोग कांग्रेस को मजबूत विकल्प नहीं मानते

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com