NDTV Khabar

कांग्रेसी मुख्यमंत्री भी राहुल को मनाने में रहे नाकाम, पार्टी अध्यक्ष बोले- अपना फैसला स्पष्ट बता चुका हूं

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मीडिया से बातचीत में सभी मुख्यमंत्रियों की तरफ से कहा कि राहुल के साथ 90 मिनट तक खुलकर बात हुई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेसी मुख्यमंत्री भी राहुल को मनाने में रहे नाकाम, पार्टी अध्यक्ष बोले- अपना फैसला स्पष्ट बता चुका हूं

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी( File Photo)

नई दिल्ली:

कांग्रेस शासित पांच राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने सोमवार को पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की, लेकिन लोकसभा चुनाव में पराजय की त्रासदी झेलने के बावजूद पार्टी की नैया खेवनहार बने रहने के लिए उन्हें मनाने में नाकाम रहे. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मीडिया से बातचीत में सभी मुख्यमंत्रियों की तरफ से कहा कि राहुल के साथ 90 मिनट तक खुलकर बात हुई. सभी ने उनसे कहा कि चुनाव में हार कोई नई बात नहीं है. उन्होंने कहा, 'हमने उन्हें अपनी भावनाओं से अवगत कराया. उन्होंने हमें ध्यान से सुना और हमें लगता है कि वह उचित समय पर फैसला लेंगे.'

यह पूछे जाने पर कि क्या वह (गहलोत) और मध्य प्रदेश के कमलनाथ ने अपने-अपने राज्य में महज दो सीटों तक सिमट जाने के बाद अपने पद से इस्तीफा देने की पेशकश की थी, गहलोत ने कहा कि पेशकश तो चुनाव के नतीजे आते ही, उसी दिन की गई थी. उस पर फैसला तो पार्टी नेतृत्व और हाईकमान को लेना है. राहुल गांधी से उनके आवास पर मिलने वालों में पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, मध्य प्रदेश के कमलनाथ, छत्तीसगढ़ के भूपेश बघेल और पुडुचेरी के वी. नारायणसामी शामिल थे.

राहुल गांधी से मिले कांग्रेस शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री, अशोक गहलोत ने कहा - अध्यक्ष पद पर बने रहने का किया है आग्रह 


बैठक शुरू होने से पहले गहलोत और बघेल ने कहा कि राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बने रहना चाहिए. उधर, राहुल गांधी ने संसद भवन में मीडिया से कहा, 'मैं अपना फैसला स्पष्ट बता चुका हूं. आप सभी यह जानते हैं.' राहुल गांधी फैसला ले चुके हैं कि वह अब पार्टी का नेतृत्व नहीं करेंगे. लोकसभा चुनाव में पार्टी के महज 52 सीटों तक सिमटने के बाद पार्टी के मुख्यमंत्रियों के साथ उनकी यह पहली बैठक थी.

मोहन मरकाम को बनाया गया छत्तीसगढ़ कांग्रेस का नया अध्यक्ष तो विदाई भाषण में रो पड़े CM बघेल, देखें VIDEO

राहुल के फैसला लेने के बाद उनके साथ 'एकजुटता' दिखाने के लिए कांग्रेस के बहुत सारे नेता अपने पद से इस्तीफा दे चुके हैं, ताकि वह देश की सबसे पुरानी राजनीतिक पार्टी का पुनर्गठन स्वतंत्र होकर कर सकें. बैठक से पहले गहलोत ने ट्वीट किया था, 'हमारा दृढ़ विश्वास है कि वर्तमान परिदृश्य में केवल वही (राहुल) पार्टी का नेतृत्व कर सकते हैं. उनकी प्रतिबद्धता जो हमारे देश और देश के लोगों के हित से जुड़ी हुई है, उससे कोई समझौता नहीं हो सकता, वह अतुलनीय है.'

सिद्धू से तनातनी के बीच अहमद पटेल से मिले CM अमरिंदर सिंह, अटकलें शुरू

वहीं, बघेल ने कहा, "हम सभी चाहते हैं कि राहुलजी अध्यक्ष बने रहें. उन्हें हमारा नेतृत्व करते रहना चाहिए." सोमवार को कई पार्टी कार्यकर्ताओं ने राहुल के समर्थन में कांग्रेस मुख्यालय में अनशन किया और बाद में समर्थन में नारे लगाते हुए उनके आवास पर गए.

(इनपुट- आईएएनएस)

कांग्रेस में इस्तीफों का दौर जारी, अब किसान प्रकोष्ठ के प्रमुख नाना पटोले समेत इन दिग्गज नेताओं ने दिया इस्तीफा

टिप्पणियां

Video: कांग्रेस शासित राज्यों के सीएम से मिले राहुल गांधी



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement