NDTV Khabar

विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान से मिलीं रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, घंटे भर चली मुलाकात...

सूत्रों के अनुसार भारतीय वायुसेना के एक मेडिकल संस्थान में हुई मुलाकात के दौरान अभिनंदन ने पाकिस्तान की गिरफ्त में करीब 60 घंटे रहने के बारे में रक्षा मंत्री को विस्तार से जानकारी दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने विंग कमांडर अभिनंदन से शनिवार दोपहर मुलाकात की. इस दौरान रक्षा मंत्री ने कहा कि समूचे राष्ट्र को उनके साहस एवं दृढ़ता पर गर्व है. इस दौरान वायु सेना के वरिष्ठ अधिकारी भी उनके साथ मौजूद थे. सूत्रों के अनुसार भारतीय वायुसेना के एक मेडिकल संस्थान में हुई मुलाकात के दौरान अभिनंदन ने पाकिस्तान की गिरफ्त में करीब 60 घंटे रहने के बारे में रक्षा मंत्री को विस्तार से जानकारी दी. ध्यान हो कि अभिनंदन शुक्रवार देर शाम अटारी - वाघा सीमा होते हुए भारत पहुंचे और इसके करीब ढाई घंटे बाद रात करीब पौने 12 बजे वह वायुसेना के एक विमान से नयी दिल्ली पहुंचे. उनके भारतीय सीमा में प्रवेश करने पर यह पाया गया कि उनकी दायीं आंख के पास सूजन है.

विंग कमांडर अभिनन्दन की वापसी पर स्वरा भास्कर ने किया ट्वीट, कही ये बात


एयर फोर्स सेंट्रल मेडिकल एस्टैबलिशमेंट (एएफसीएमई) में अभी उनकी मेडिकल जांच चल रही है. बता दें कि उन्हें पाकिस्तानी अधिकारियों ने 27 फरवरी को पकड़ लिया था. दरअसल, पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों के साथ हुई एक झड़प के दौरान उनका मिग 21 गिर गया था. लेकिन उन्होंने अपने विमान के गिरने से पहले पाकिस्तानी वायुसेना के एफ - 16 को मार गिराया था. वतन वापसी के बाद अभिनंदन की मेडिकल जांच के बाद उन्हें अब वायु सेना के हॉस्टल में शिफ्ट करा दिया गया है. हालांकि अभी तक यह साफ नहीं पाया है कि अभिनंदन की मेडिकल रिपोर्ट में क्या निकल कर आया है. 

विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की मेडिकल जांच हुई पूरी, वायु सेना के हॉस्टल में किया गया शिफ्ट

दरअसल, शुक्रवार को पाकिस्तान विंग कमांडर अभिनंदन को भारत को सौंपने वाला था. इसके लिए भारत की ओर से पूरी तैयारियां की जा चुकी थीं. वायुसेना के अधिकारी, भारतीय दूतावास के अधिकारी और सरकार के प्रतिनिधि सभी समय पर तैयार थे, मगर पाकिस्तान की चालबाजियों ने दोपहर से रात कर दिया. पहले पाकिस्तान की ओर से ही बताया गया था कि अभिनंदन को वह करीब दोपहर में 3 से चार बजे के बीच में रिहा कर देगा, मगर उसने बार-बार देरी की. इसके पीछे कई वजहें बताईं जा रही हैं. मसलन, वह इस घटना को लाइम लाइट में लाना चाहता था. वह चाहता था कि पूरी दुनिया की नजर इस खबर पर हो.

पाकिस्तान के PM इमरान खान अभिनंदन वर्धमान को सौंपने की प्रक्रिया सुचारू बनाने के लिये लाहौर में थे: सूत्र

क्या देरी पाकिस्तान की कोई चाल थी?

शुक्रवार शाम के तीन बजे के आस-पास अभिनंदन को पाकिस्तान ने रावलपिंडी से लाहौर पहुंचा दिया गया था. मगर लाहौर से वाघा बॉर्डर लाने में उसने इतनी देर लगा दी, जिससे उसके नापाक इरादे भी सबसे सामने जाहिर हो गए. सूत्रों की मानें तो अभिनंदन को लाहौर में स्थित किसी सेना के छावनी में रोक कर रखा गया था और पाकिस्तान ने अभिनंदन का जबरन एक वीडियो बनवाया.

Abhinandan Varthaman: विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की वतन वापसी भारत-पाकिस्तान के बीच कम कर सकती है तनाव

यह बात भी सही है कि पाकिस्तान और भारत के बीच दस्तावेज की प्रक्रिया में भी कुछ समय की देरी हुई थी, मगर यह देरी इतनी भी नहीं थी कि अभिनंदन की वापसी में दोपहर से रात हो जाए. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भारतीय पायलट अभिनंदन को भारत को सौंपे जाने में देरी इसलिए हुई क्योंकि, उनसे पाकिस्तानी अधिकारियों ने कैमरे पर बयान दर्ज करने को कहा. इसके बाद ही उन्हें सीमा पार करके स्वदेश जाने दिया गया. इसके अलावा दस्तावेजों से संबंधित मुद्दे भी देरी की वजह बनी. सूत्रों ने बताया था कि पाकिस्तान ने उनकी रिहाई का समय दो बार टाल दिया.

स्वदेश पहुंचने के बाद विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने सबसे पहले कही यह बात...

वतन वापसी पर क्या थी अभिनंदन के पहली प्रतिक्रिया?

अमृतसर के उपायुक्त शिव दुलार सिंह ढिल्लों ने बताया कि बहादुर पायलट अपने देश लौटकर खुश है. यह पूछे जाने पर कि अभिनंदन ने स्वदेश लौटने पर अधिकारियों से क्या कहा, उपायुक्त ने कहा था कि वह पहले मुस्कुराए और बोले, 'मैं अपने देश वापस लौटकर खुश हूं.' वाघा अटारी सीमा पर कुछ औपचारिकताओं के बाद उन्हें बीएसएफ अधिकारियों को सौंप दिया गया. बाद में वायुसेना के अधिकारी अपने साथ अभिनंदन को लेकर आए. इसके बाद विंग कमांडर को अटारी सीमा से वायुसेना के वाहन में अमृतसर ले जाया गया. इस दौरान पंजाब पुलिस की गाड़ियां उनके वाहन के साथ चल रही थीं. इसके बाद वर्धमान को हवाई मार्ग से दिल्ली लाया गया.

...इस वजह से IAF पायलट अभिनंदन वर्धमान को पाकिस्तान ने भारत को लौटाने में की देरी!

पाक सरजमीं पर अभिनंदन के वो 60 घंटे:

विंग कमांडर अभिनंदन 27 फरवरी को सुबह करीब दस बजे पाकिस्तानी वायुसेना के फाइटर प्लेन का पीछा करते हुए पाकिस्तान की सीमा में जा घुसे थे. पाकिस्तान के एफ-16 को मार गिराने के बाद अभिनंदन का विमान भी क्रैश हो गया. इस वजह से उन्हें किसी तरह पैराशूट की मदद से उतरना पड़ा. जब वह नीचे आए तब उन्हें एहसास नहीं था कि वह दुश्मन देश की धरती पर जा पहुंचे है. कुछ लोग उनके पास आए, जिनसे अभिनंदन ने पूछा कि वह कहां हैं. इस पर कुछ पाकिस्तानियों ने चालबाजी दिखाते हुए उनसे कहा कि आप भारत की धऱती पर हैं. मगर अभिनंदन को कुछ शक हुआ. इसके बाद वह भारत माता की जय के नारे लगाए. इसके बाद फिर पाकिस्तानियों ने उन्हें घेर लिया. अभिनंदन किसी तरह खुद को बचाने के लिए वहां से भागे. बाद में उन्हें पाकिस्तानी सेना ने अपनी हिरासत में ले लिया. सेना ने उनसे पूछताछ की, मगर अभिनंदन ने उतना ही मुंह खोला, जितना उन्हें बताने की इजाजत होती है वायुसेना में. इसके बाद उन्हें पाकिस्तानी सेना ने चाय-कॉफी भी पिलाई. उसके बाद फिर इमरान खान की घोषणा के बाद दुनिया को पता चला कि वह महज दो दिन के बाद ही वतन वापस हो जाएंगे. 

पीएम मोदी ने कहा- घर वापसी की बधाई

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अभिनंदन की वापसी का स्वागत करते हुए ट्वीट में कहा था कि ‘विंग कमांडर अभिनंदन आपका घर में स्वागत है. राष्ट्र को आपके अदम्य साहस पर गर्व है. हमारे सशस्त्र बल देश के 130 करोड़ भारतीयों के लिये प्रेरणा का स्रोत हैं.' विंग कमांडर अभिनंदन की स्वदेश वापसी पर पूरे देश की निगाहें वाघा बॉर्डर पर दिन भर लगी रही. इतना ही नहीं, विंग कमांडर अभिनंदन को राहुल गांधी, समेत कई राजनीतिक नेताओं ने बधाई दी और उनकी वतन वापसी पर ट्वीट किए.

टिप्पणियां

वीडियो- पाक के एक विमान को मार गिराया: एमईए​


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement