NDTV Khabar

हमने पाक के एक लड़ाकू विमान को मार गिराया, हमें एक मिग 21 (MIG 21) का नुकसान, एक पायलट अब भी लापता: विदेश मंत्रालय

IAF attack on Jaish Camp in Pakistan: भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि हमने पाकिस्तान के एक विमान को मार गिराया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

भारतीय वायुसेना (IAF) द्वारा पाकिस्तान की सीमा में घुसकर जैश के आतंकी कैंपों पर भारतीय वायुसेना के हवाई हमले के बाद पाकिस्तान और भारत के बीच तनातनी काफी बढ़ गई है. इस बीच भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि पाकिस्तान की कोशिश को सफलतापूर्वक नाकाम किया गया और हमने उनके एक फाइटर विमान को मार गिराया. हालांकि, इस एक्शन के दौरान हमें एक मिग 21  विमान का नुकसान हुआ. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि पाकिस्तान की कोशिशों को नाकाम करने के दौरान हमें एक विमान का नुकसान हुआ. हमारा एक मिग 21 विमान नुकसान हो गया और एक पायलट (Pilot Missing) भी लापता है.

पाकिस्तान सरकार का दावा: हमने अपने एयरस्पेस से एलओसी के पार हमला किया


विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि हम अब भी अपने पायलट का पता लगाने में जुटे हैं. पाक का दावा है कि हमारे एक पायलट उसके कब्जे में है. हम पाकिस्तान के दावे की पड़ताल कर रहे हैं. 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तानी वायुसेना को भारतीय वायुसेना ने देखा और उसके बाद जवाबी हमला बोला. इस कार्रवाई में भारतीय वायुसेना के मिग 21 ने पाकिस्तानी फाइटर जेट को मार गिराया. पाकिस्तान की तरफ ही पाकिस्तानी फाइटर विमान को आसमान से जमीन पर गिरते देखा गया. इस कार्रवाई में दुर्भाग्य से हमारा एक मिग 21 विमान खत्म हो गया. इस विमान का पायलट लापता है. पाकिस्तान ने दावा किया है कि हमारा एक पालट उसके कब्जे में है. हम उसके दावों की पड़ताल कर रहे हैं. 

इससे पहले सीमा पर पाकिस्तान की नापाक हरकतों के बीच प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई गई. बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजित डोभाल, रॉ प्रमुख, गृह सचिव और अन्य प्रमुख अधिकारी शामिल हुए. करीब 20 मिनट तक यह बैठक चली. आतंकी कैंपों पर भारतीय वायुसेना के हमले से बौखलाए पाकिस्तान की ओर से 15 से अधिक स्थानों पर सीजफायर उल्लंघन किए जाने की घटना सामने आई है. 

आतंकी कैंप पर भारत के हमले के बाद विजय गोखले ने क्या कहा था:

इससे पहले भारतीय वायुसेना (indian air force) की पाकिस्तान की सीमा में आतंकी कैंपों पर बड़ी कार्रवाई पर विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा था कि 14 फरवरी को जैश ए मोहम्मद ने सीआरपीएफ पर फिदायीन हमला किया था. ये संगठन पाकिस्तान में दो दशक से सक्रिय है. पाकिस्तान को उनके कैंप के बारे में लगातार जानकारी दी जाती रही है, लेकिन उन्होंने इनकार किया है. उन्होंने कोई एक्शन नहीं लिया. हमें सूचना मिली कि वे देश में और फिदायीन हमले कर सकते हैं. इसके बाद भारत ने बालाकोट में जैश के कैंप पर कार्रवाई की. जिसमें जैश के आतंकी और ट्रेनर ढेर हुए हैं. जैश कमांडर युसूफ अजहर भी मारा गया, वही यह कैंप चल रहा था. उन्होंने कहा कि भारत सरकार आतंकवाद से लड़ने के लिए दृढ़संकल्प है. विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि एयरफोर्स के ऑपरेशन का निशाना खासतौर से आतंकी अड्डे को बनाया गया था, ताकि नागरिकों को नुकसान न हो..." उन्होंने कहा कि यह ऑपरेशन पूरी तरह आतंकियों के खिलाफ था, न की कोई मीलिट्री ऑपरेशन.

इससे पहले 14 फरवरी को पुलवामा में हुए एक आत्‍मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थें. हमले की जिम्‍मेदारी पाकिस्‍तान स्‍थ‍ित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद ने ली थी. भारत ने इसके अगले दिन ही सेना को खुली छूट देने की बात कही थी और पाकिस्‍तान से 'मोस्‍ट फेवरेट नेशन' दर्जा वापस ले लिया था. इसके बाद घाटी में हुए सर्च ऑपरेशन में जैश के कई आतंकवादी मारे गए थें. 26 फरवरी की रात में वायु सेना ने अपने असैन्‍य कार्रवाई में पाकिस्‍तान के बालाकोट स्‍थ‍ित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद के कैंप को ध्‍वस्‍त कर दिया था. भारत के इस कार्रवाई को पूरी दुनिया ने समर्थन किया.

टिप्पणियां

वीडियो- एलओसी के कई इलाकों में पाकिस्तान ने की फायरिंग, भारत ने दिया जवाब



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement