सांसद गौतम गंभीर ने CM अरविंद केजरीवाल पर कसा तंज, कहा- इन्हें तो अब झूठीवाल कहा जाना चाहिए!

गौतम गंभीर ने लिखा कि जो लोग इतने समर्थ नहीं हैं कि वह सुविधाओं के लिए पैसे दे सकें, उन्हें सुविधाओं मुफ्त में मिलनी चाहिए! इसमे कोई शक नहीं है.

सांसद गौतम गंभीर ने CM अरविंद केजरीवाल पर कसा तंज, कहा- इन्हें तो अब झूठीवाल कहा जाना चाहिए!

गौतम गंभीर ने अरविंद केजरीवाल पर साधा निशाना

खास बातें

  • गौतम गंभीर ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने लोगों से झूठ बोला है
  • सरकारी बंगला और गाड़ी लेने पर गौतम ने साधा अरविंद केजरीवाल पर निशाना
  • विधानसभा चुनाव से पहले तेज हुई दोनों पार्टियों में जुबानी जंग
नई दिल्ली:

दिल्ली विधानसभा चुनाव की तारीखों के नजदीक आने के साथ ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और आम आदमी पार्टी (आप) के बीच जुबानी जंग और तेज होती जा रही है.बुधवार को BJP के सांसद गौतम गंभीर ने सीएम अरविंद केजरीवाल पर लोगों से झूठ बोलने का आरोप लगाया. उन्होंने केजरीवाल पर तंज कसते हुए एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि जो लोग इतने सामर्थ्य नहीं हैं कि वह सुविधाओं के लिए पैसे दे सकें, उन्हें सुविधाओं मुफ्त में मिलनी चाहिए! इसमे कोई शक नहीं है. लेकिन उनका क्या जिन्होंने आम आदमी की तरह रहने की शपथ ली थी लेकिन अब सरकारी बंगला और गाड़ियों का सुख भोग रहे हैं. मुझे लगता है कि ऐसे लोगों को झूठीवाल बुलाना चाहिए!!

बता दें कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब गौतम गंभीर ने आम आदमी पार्टी पर हमला बोला हो. इससे पहले गौतम गंभीर ने पिछले साल अक्टूबर में केंद्र सरकार द्वारा राजधानी की 1700 अवैध कॉलोनियों को नियमित करने के फैसले को लेकर आम आदमी पार्टी की सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि वह (आप) सिर्फ वादा करते हैं जबकि हम (बीजेपी) अपने वादे को पूरा करके दिखाते हैं. केंद्र सरकार ने जिन 1700 कॉलोनियों को नियमित किया है उनमें 40 लाख लोग रहते हैं. केंद्र सरकार के इस फैसले के लिए हम पीएम मोदी का धन्यवाद करते हैं. यह दीवाली दिल्ली के लिए बेहद खास होने वाली है. बता दें कि केंद्र सरकार ने कई अहम फैसले लिये. केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में एक तरफ सरकार ने ईंधन के खुदरा कारोबार को गैर- पेट्रोलियम कंपनियों के लिए खोलने का फैसला लिया था. तो दूसरी तरफ दीवाली से ठीक पहले दिल्ली की अनियमित कॉलोनियों में रहने वाले लोगों को बड़ा तोहफा देते हुए 1797 कॉलोनियों को नियमित करने का फैसला लिया था.

गौतम गंभीर पर मनीष सिसोदिया का आरोप, बोले- खुद एसी गाड़ी में बैठे हैं और कैंपेन के लिए 'डुप्लीकेट'

दिल्ली विधानसभा चुनाव से ठीक पहले सरकार के इस फैसले को मास्टरस्ट्रोक कहा जा रहा था और माना जा रहा था कि सियासी तौर पर इसके दूरगामी परिणाम होंगे. इसी तरह, किसानों को भी तोहफा दिया. सरकार ने गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) 85 रुपये बढ़ाकर 1,925 रुपये क्विंटल कर दिया. वहीं दलहनों के एमएसपी में 325 रुपये क्विंटल तक की वृद्धि की गई है. पिछले साल यह 1,840 रुपये प्रति क्विंटल था. चालू फसल वर्ष के लिये जौ का एमएसपी भी 85 रुपये बढ़ाकर 1,525 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है जो कि पिछले साल 1,440 रुपये प्रति क्विंटल था. 

Lok Sabha Election Updates: आम आदमी पार्टी ने गौतम गंभीर और भारतीय जनता पार्टी को मानहानि नोटिस भेजा

गौतलब है कि इससे पहले दिल्ली में एक विवादित पर्चे को लेकर चुनाव से पहले बीजेपी और आम आदमी पार्टी  के बीच तू-तू, मैं-मैं हुई थी. दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिा ने एनडीटीवी के कहा था कि यह तो उल्टा चोर कोतवाल को डांट रहा है  मानहानि का मुकदमा तो हम करवा रहे हैं. मनीष सिसोदिया ने कहा था कि जिस तरह की हरकत उन्होंने की है हम उनके ऊपर मानहानि का मुकदमा करेंगे. हम नोटिस दे रहे हैं. यह चिट्ठी ही सबसे बड़ा सबूत है.  उनकी पार्टी के लोग इस चिट्ठी का समर्थन कर रहे हैं. उसके बारे में गौतम गंभीर ने एक शब्द नहीं कहा था कि उनकी पार्टी के लोग यह बकवास क्यों कर रहे हैं.  हम इस मामले को आगे तक ले जाएंगे और इस को सबक सिखाएंगे जिसने बदतमीजी की है.

पर्चा विवाद: गौतम गंभीर ने अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और आतिशी को भेजा मानहानि का नोटिस

वहीं इससे पहले एनडीटीवी से बातचीत में कहा था कि अगर आप सच्चे हैं तो आप अपनी लड़ाई बिल्कुल कानून के दायरे में जाकर लड़ेंगे. अगर उनके पास कोई भी सबूत है तो मेरे ऊपर क्रिमिनल केस डालिए मैं कोर्ट में खड़ा होकर इसका जवाब दूंगा.  अगर आपके पास कोई भी सबूत है तो मैं राजनीति से संन्यास लेने के लिए तैयार हूं. और संन्यास पत्र भी केजरीवाल जी ही लिखें. मैं जनता के बीच दस्तखत करने को तैयार हूं.' गौतम गंभीर ने कहा था कि अगर आपके पास कोई सबूत नहीं है तो क्या आप राजनीति से संन्यास लेंगे?  मैं ऐसी कोई टिप्पणी नहीं कर रहा कि यह पर्चे आतिशी या आम आदमी पार्टी ने ही बंटवाये हैं. इसकी जांच होनी चाहिए और अगर मेरे या बीजेपी के खिलाफ कोई भी सबूत मिलता है तो मैं संन्यास लेने को तैयार हूं. 

VIDEO: गौतम गंभीर से एनडीटीवी की खास बातचीत.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com