NDTV Khabar

लोकसभा चुनाव 2019 : दिल्ली में बीजेपी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने उतारे कितने दागी उम्मीदवार

पश्चिमी दिल्ली में भाजपा और आप ने ऐसे उम्मीदवार उतारे हैं, जिन पर कोई आपराधिक मुकदमा नहीं है, जबकि कांग्रेस ने पूर्व सांसद महाबल मिश्रा पर दांव चला है, जिन्होंने तीन आपराधिक मुकदमे की घोषणा की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लोकसभा चुनाव 2019 : दिल्ली में बीजेपी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने उतारे कितने दागी उम्मीदवार

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

दिल्ली में लोकसभा चुनाव लड़ रहे भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के ज्यादातर उम्मीदवारों ने घोषणा की है कि उन पर आपराधिक मुकदमे चल रहे हैं. इस मामले में आम आदमी पार्टी (आप) का दूसरा स्थान है. दिल्ली के सात लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों में छठे चरण के तहत 12 मई को मतदान होना है. सभी सीटों पर भाजपा, आप और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबले के आसार हैं. सात में से भाजपा के तीन और आप के दो उम्मीदवारों ने अपने ऊपर चल रहे आपराधिक मुकदमे की घोषणा की है.  कांगेस के सिर्फ एक उम्मीदवार ने अपने हलफनामे में आपराधिक मुकदमे का जिक्र किया है. चांदनी चौक, नई दिल्ली और उत्तरी-पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीटों पर वैसे उम्मीदवारों के बीच मुकाबला है, जिनके दामन पर आपराधिक मुकदमे के दाग नहीं हैं. उत्तरी-पूर्वी दिल्ली सीट पर दो उम्मीदवार ऐसे हैं, जिन पर क्रमश: तीन और एक आपराधिक मुकदमे का दाग है. ये हैं भाजपा के मौजूदा सांसद मनोज तिवारी और आप के दिलीप पांडेय.  तिवारी के खिलाफ मुकदमा डराने-धमकाने से संबंधित हैं, जो सरकारी अधिकारी द्वारा आदेश की अवहेलना किए जाने पर कई लोगों की साझा मंशा पूरी करने के लिए किया गया. पांडेय पर जो एक मुकदमा है, वह प्रेस और पुस्तक पंजीकरण अधिनियम के तहत पोस्टर प्रकाशन से संबंधित है.

दिल्ली में दो सीटों पर APP और बाकी पर BSP को समर्थन करेगी सपा


ये दोनों दिल्ली की तीन बार मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं. शीला के हलफनामे में किसी मुकदमे का जिक्र नहीं है. पूर्वी दिल्ली में तीन प्रमुख उम्मीदवारों में से दो- भाजपा के चर्चित उम्मीदवार गौतम गंभीर और आप की आतिशी ने अपने हलफनामे में एक-एक आपराधिक मुकदमे की घोषणा की है. इन दोनों का मुकाबला कांग्रेस के अरविंदर सिंह लवली से है, जिन्होंने किसी आपराधिक मुकदमे की घोषणा नहीं की है. दक्षिणी दिल्ली में मौजूदा भाजपा प्रत्याशी रमेश बिधूड़ी ने दो आपराधिक मुकदमों की घोषणा की है. उनका मुकाबला दो युवा नेताओं से है, जिनके दामन पर आपराधिक मुकदमे का कोई दाग नहीं है. इनमें से एक हैं आप के 30 वर्षीय चार्टर्ड एकाउंटेंट राघव चड्ढा और दूसरे हैं चर्चित मुक्केबाज विजेंदर सिंह जो कांग्रेस के उम्मीदवार हैं.

राहुल गांधी ने केजरीवाल पर साधा निशाना, 'आप' के साथ गठबंधन ना होने की वजह भी बताई

पश्चिमी दिल्ली में भाजपा और आप ने ऐसे उम्मीदवार उतारे हैं, जिन पर कोई आपराधिक मुकदमा नहीं है, जबकि कांग्रेस ने पूर्व सांसद महाबल मिश्रा पर दांव चला है, जिन्होंने तीन आपराधिक मुकदमे की घोषणा की है. मिश्रा जिन मुकदमों का सामना कर रहे हैं, वे धमकाने, दुष्कर्म, अपहरण, मारपीट, धोखाधड़ी, संपत्ति की खरीद-बिक्री में बेईमानी, फर्जीवाड़े जैसे दंडनीय अपराधों से संबंधित हैं. चांदनी चौक संसदीय सीट पर भाजपा के मौजूदा सांसद हर्षवर्धन का मुकाबला आप के पंकज गुप्ता और कांग्रेस के जे.पी. अग्रवाल से है। इन तीनों के दामन पर किसी आपराधिक मुकदमे का दाग नहीं है. इसी तरह नई दिल्ली लोकसभा सीट पर भाजपा की मौजूदा सांसद मीनाक्षी लेखी का मुकाबला कांग्रेस नेता अजय माकन और आप के ब्रजेश गोयल से है. ये तीनों भी बेदाग हैं.

दूसरे दलों से भले ही पैसा ले लेना, लेकिन वोट आम आदमी पार्टी को ही देना: अरविंद केजरीवाल

उत्तरी-पूर्वी सीट पर मशहूर गायक हंसराज हंस भाजपा उम्मीदवार हैं. उनका मुकाबला आप के गुगन सिंह और कांग्रेस के राजेश लिलोठिया से है. इन तीनों के हलफनामे में भी किसी आपराधिक मुकदमे का जिक्र नहीं है.  साल 2014 के लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सातों सीटों पर भाजपा को जीत मिली थी.

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement