NDTV Khabar

पाकिस्तान को जवाब देने के लिए भारतीय वायुसेना ने 60 साल पुराने मिग-21 को ही क्यों चुना?

पाकिस्तानी जहाजों को खदेड़ने वाले विमानों में भारत का मिग 21 ( MiG-21) बायसन विमान भी शामिल था, जिसे विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान (Abhinandan) उड़ा रहे थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकिस्तान को जवाब देने के लिए भारतीय वायुसेना ने 60 साल पुराने मिग-21 को ही क्यों चुना?

पाकिस्तानी जहाजों को खदेड़ने वाले विमानों में भारत का मिग 21 ( MiG-21) भी शामिल था.

खास बातें

  1. स्वदेश लौट आए विंग कमांडर अभिनंदन
  2. पाकिस्तानी वायुसेना के F-16 को मार गिराया था
  3. मिग-21 लड़ाकू जहाज में सवार थे अभिनंदन
नई दिल्ली :

भारतीय वायुसेना (IAF) के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान (Abhinandan Varthaman)  वतन वापस लौटे आए हैं. आपको बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी की सुबह पाकिस्तान के बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के प्रशिक्षण शिविर पर बम गिराए थे. इस दौरान आतंकियों के कई ठिकानों को ध्वस्त कर दिया गया. इसके अगले दिन एलओसी के पास 24 पाकिस्‍तानी विमानों को भारतीय लड़ाकू विमानों ने खदेड़ा. इन 8 विमानों में वह मिग 21 ( MiG-21) बायसन विमान भी शामिल था जिसे विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान (Abhinandan) उड़ा रहे थे. विंग कमांडर पाकिस्‍तानी एफ-16 विमान के साथ उलझे हुए थे, जिसपर उन्‍होंने हवा से हवा में मार करने वाली R-73 मिसाइल दागी. स्‍टेट ऑफ द आर्ट पाकिस्‍तानी विमान, जिसमें माना जा रहा है दो पायलट थे, मार गिराया गया. दोनों ही पायलटों को नियंत्रण रेखा के उस तरफ पैराशूट से उतरते देखा गया. पाकिस्तान ने हमले में एफ-16 विमान के शामिल होने से इनकार किया, लेकिन भारत ने इसका साक्ष्य प्रस्तुत किया है. 

यह भी पढ़ें : अभिनंदन ने ही मार गिराया था पाकिस्तानी वायुसेना का F-16 


आपको बता दें कि एफ-16 विमान  मिग-21 की तुलना में काफी उन्नत हैं लेकिन भारतीय पायलट अभिनंदन (Abhinandan) ने मिग-21 ( MiG-21) से ही  एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराया था, जिसकी सराहना हो रही है. विशेषज्ञों का कहना है कि IAF का विमान भले ही सोवियत का पुराना था, लेकिन इसका उन्नत संस्करण बाइसन निस्संदेह पुराना नहीं है. मिग-21 व एफ-16 अलग-अलग पीढ़ियों के हैं. पीएएफ ने अमेरिका निर्मित लड़ाकू विमान एफ-16सी/डी के उन्नत संस्करण को उड़ाया था, जबकि मिग-21 बाइसन, 60 साल से सेवा दे रहे एक विमान का उन्नत अवतार है. विशेषज्ञों का कहना है कि एफ-16 निसंदेह गतिशीलता व हथियार से लक्ष्य साधने के संदर्भ में बहुत ही बेहतर है, लेकिन मिग-21 ( MiG-21) की अपनी खासियत है. मिग-21 स्पष्ट तौर पर भारतीय वायुसेना की पसंद है, ऐसा इसके गश्त के लिए तत्परता की वजह से है, जो 100 नंबर पुलिस के समान है, जिसका किसी भी आपात स्थिति में हर समय इस्तेमाल किया जाता है. 

यह भी पढ़ें : विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान के खानदान से है मिग-21 लड़ाकू विमान का पुराना रिश्ता

सिर्फ 21 मिनट में किया जा सकता है लॉन्च 

टिप्पणियां

विशेषज्ञों का कहना है कि इस तरह की भूमिका के लिए मिग-21 (MiG-21) सबसे तरजीही विमान है, क्योंकि वे अन्य दूसरे सभी लड़ाकू विमानों की तुलना में हवाई यात्रा करने के लिए सबसे कम समय लेते हैंय मिग-21 केवल दो मिनट में लॉन्च किया जा सकता है. मिग-21 बाइसन किसी अन्य आधुनिक लड़ाकू विमान की तरह हथियारों की एक रेंज को ले जा सकता हैं और इसमें काफी अच्छी सुविधाएं हैं. इसमें आर073 की लड़ाकू मिसाइल है, जिसकी रेंज 20-25 किमी है और विजुअल रेंज की मिसाइल से परे फायर कर सकता है। इसमें रडार, जैमर्स व प्रतिरोधी उपाय के तौर डिस्पेंसिंग सिस्टम चफ व फ्लेयर्स शामिल हैं. (इनपुट- IANS)

VIDEO: भारत को सौंपे गए विंग कमांडर अभिनंदन



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement