NDTV Khabar

International Tiger Day: बाघों की संख्या बढ़ने पर बोले पीएम मोदी- यह सफर 'एक था टाइगर' से 'टाइगर जिंदा है' तक पहुंचा, पर...

International Tiger Day: रिपोर्ट के अनुसार, देश में बाघों की संख्या 2014 की 1400 से बढ़कर 2019 में 2977 हो गई है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Modi) ने सोमवार को अखिल भारतीय बाघ अनुमान रिपोर्ट 2018 (International Tiger Day) जारी की. इस मौके पर उन्होंने कहा कि देश आज दुनिया में बाघों के लिये सबसे सुरक्षित और सबड़े बड़े पर्यावास क्षेत्रों में से एक के रूप में उभर कर सामने आया है. रिपोर्ट के अनुसार, देश में बाघों (International Tiger Day) की संख्या 2014 की 1400 से बढ़कर 2019 में 2977 हो गई है. पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा कि आज हम गर्व के साथ कह सकते हैं कि भारत करीब 3000 बाघों के साथ दुनिया के सबसे बड़े और सबसे सुरक्षित पर्यावास में से एक है. विकास या पर्यावरण की चर्चा पुरानी है. हमें सहअस्तित्व को भी स्वीकारना होगा और सहयात्रा के महत्व को भी समझना होगा. प्रधानमंत्री (PM Modi) ने कहा कि मैं महसूस करता हूं कि विकास और पर्यावरण के बीच स्वस्थ संतुलन बनाना संभव है. हमारी नीति में, हमारे अर्थशास्त्र में, हमें संरक्षण के बारे में संवाद को बदलना होगा.


उन्होंने कहा कि बीते पांच वर्षों में जहां देश में अगली पीढ़ी के आधारभूत ढांचे के लिए तेजी से कार्य हुआ है, वहीं भारत में वन क्षेत्र का दायरा भी बढ़ रहा है. देश में संरक्षित क्षेत्रों की संख्या में भी वृद्धि हुई है. पीएम मोदी ने कहा कि 2014 में भारत में संरक्षित क्षेत्रों की संख्या 692 थी जो 2019 में बढ़कर अब 860 से ज्यादा हो गई है. साथ ही सामुदायिक संरक्षित क्षेत्रों की संख्या भी साल 2014 के 43 से बढ़कर अब सौ से ज्यादा हो गई है.

टिप्पणियां

PM मोदी ने 'मन की बात' में चंद्रयान-2 और जल संरक्षण पर की बात, 10 बड़ी बातें

मैं इस क्षेत्र से जुड़े लोगों से यही कहूंगा कि जो कहानी ‘एक था टाइगर' के साथ शुरू होकर ‘टाइगर जिंदा है'तक पहुंची है, वो वहीं न रुके, इसके लिए केवल टाइगर जिंदा है से काम नहीं चलेगा. बाघ संरक्षण से जुड़े जो प्रयास हैं उनका और विस्तार होना चाहिए, उनकी गति और तेज की जानी चाहिए.पीएम मोदी ने कहा कि मुझे विश्वास है कि भारत आर्थिक एवं पर्यावरण के दृष्टिकोण से समृद्ध होगा . भारत अधिक संख्या में सड़कें बनायेगा और देश में अधिक संख्या में स्वच्छ नदियां होंगी. भारत में अधिक रेल सम्पर्क होगा और अधिक संख्या में वृक्षों का दायरा बढ़ेगा. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement