NDTV Khabar

महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार की कवायद अंतिम चरण में, शिवसेना एक कदम और आगे बढ़ गई

एनसीपी प्रमुख शरद पवार, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और सोनिया गांधी की मुलाकात पर टिकी सभी की निगाहें

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार की कवायद अंतिम चरण में, शिवसेना एक कदम और आगे बढ़ गई

एनसीपी प्रमुख शरद पवार और कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. सहमति होने के बाद बैठक मंगलवार या बुधवार को होने की संभावना
  2. शरद पवार सोमवार को दिल्ली में कांग्रेस के प्रतिनिधियों से मिलेंगे
  3. संसद के शीतकालीन सत्र में विपक्ष के साथ बैठेगी शिवसेना
नई दिल्ली:

महाराष्ट्र (Maharashtra) में एनसीपी-कांग्रेस (NCP-Congress) और शिवसेना (Shiv Sena) की गठबंधन सरकार के गठन की कवायद अंतिम चरण में है. शरद पवार, उद्धव ठाकरे और सोनिया गांधी की मुलाकात जल्द होने के संभावना है. इस मुलाकात में ही गठबंधन में शामिल दलों के न्यूनतम साझा कार्यक्रम को सहमति के साथ अंतिम रूप दिया जा सकता है. इन तीन दलों के गठबंधन को मजबूत करने के लिए शिवसेना एक कदम और आगे बढ़ गई है. शिवसेना संसद के शीतकालीन सत्र में लोकसभा और राज्यसभा में सत्ता पक्ष के बजाय विपक्ष के साथ बैठेगी.  

महाराष्ट्र सरकार के गठन को लेकर सभी की निगाहें सोनिया गांधी के साथ शरद पवार की अंतिम मुलाकात पर टिकी हैं. सूत्रों का कहना है कि शरद पवार, उद्धव ठाकरे के साथ सोनिया गांधी से मिल सकते हैं. ऐसा कहा जा रहा है कि राज्य में सरकार बनाने को लेकर विचार-विमर्श अंतिम चरण में है और कांग्रेस, राकांपा व शिवसेना के बीच न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर सहमति बनने की देरी है. न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर सहमति होने के बाद बैठक मंगलवार या बुधवार को होने की संभावना है. शरद पवार सोमवार को नई दिल्ली में सोनिया गांधी द्वारा नामित कांग्रेस के प्रतिनिधियों से मिलने वाले हैं.


सूत्रों ने कहा है कि कांग्रेस के तीन नेता अहमद पटेल, मल्लिकार्जुन खड़गे और केसी वेणुगोपाल शरद पवार के साथ बैठक करेंगे ताकि सोनिया गांधी द्वारा इस डील को अंतिम करार देने से पहले सत्ता के समझौते को लेकर तीनों पक्षों के बीच न्यूनतम साझा कार्यक्रम पर सहमति बन सके.

महाराष्ट्र : कैसे टूटा सत्ता का चक्रव्यूह, शरद पवार कैसे बने राजनीति के चाणक्य?

एक सूत्र ने कहा कि पावर शेयरिंग समझौता अंतिम चरण में है. राज्य से एक वरिष्ठ नेता ने कहा, "हम जल्दबाजी में नहीं हैं विचारधारा एक बड़ी बात है, जिसे हल किया जा रहा है. इस प्रकार के गठबंधन में समय लगता ही है."

शिवसेना पर हिंदुत्व का एजेंडा छोड़ने का दबाव, ऐसा होगा महाराष्ट्र की नई सरकार का स्वरूप

इस बीच एक प्रमुख राजनीतिक घटनाक्रम में शिवसेना संसद के दोनों सदनों में विपक्ष के साथ बैठेगी. सोमवार से संसद का सत्र शुरू हो रहा है. पार्टी के इस कदम से विपक्ष को शीतकालीन सत्र से पहले बढ़ावा मिलेगा. शिवसेना के लोकसभा में 18 और राज्यसभा में तीन सांसद हैं.

बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देने पहुंचे देवेंद्र फडणवीस, शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने लगाये नारे

VIDEO : शिवसेना अब NDA का हिस्सा नहीं

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement