अजित पवार की 'घर वापसी' पर आया शरद पवार के पोते रोहित का बयान, कहा- हमारा परिवार...

रोहित पवार (Rohit Pawar) ने कहा, ''मैं भरोसा नहीं कर पाया कि यह कैसे हुआ. एक कार्यकर्ता के तौर पर मुझे इसकी विस्तृत जानकारी नहीं है. परिवार के सदस्य के तौर पर कुछ कशमकश थी, मैं समझ नहीं सका कि क्या हो रहा है.''

अजित पवार की 'घर वापसी' पर आया शरद पवार के पोते रोहित का बयान, कहा- हमारा परिवार...

रोहित पवार ने कहा, मुझे यकीन था कि अजित पवार वापस लौटेंगे.

मुंबई:

राकांपा (NCP) विधायक रोहित पवार (Rohit Pawar) ने बुधवार को कहा कि उन्हें भरोसा था कि उनके चाचा अजित पवार (Ajit Pawar) पार्टी में लौट आएंगे और उन्हें खुशी है कि अजित पवार ने पार्टी प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) से मुलाकात की. उन्होंने यह भी कहा कि पवार परिवार ''एकजुट'' है और हमेशा रहेगा. अजित पवार ने मंगलवार देर रात अपने चाचा और राकांपा के दिग्गज नेता शरद पवार से मुलाकात की थी. अजित के महाराष्ट्र में सरकार बनाने के लिए भाजपा से हाथ मिलाने और फिर इस्तीफा देने के बाद यह शरद पवार से पहली मुलाकात थी.

यह भी पढ़ें: महाराष्ट्र में किसके होंगे कितने मंत्री, Congress-NCP और शिवसेना का बंटवारे को लेकर आया बयान

शरद पवार के बड़े भाई अप्पासाहेब पवार के पोते रोहित पवार ने एक समाचार चैनल से कहा, ''मैं भरोसा नहीं कर पाया कि यह कैसे हुआ. एक कार्यकर्ता के तौर पर मुझे इसकी विस्तृत जानकारी नहीं है. परिवार के सदस्य के तौर पर कुछ कशमकश थी, मैं समझ नहीं सका कि क्या हो रहा है.'' उनसे पूछा गया था कि भाजपा के साथ हाथ मिलाने के बाद अजित पवार के उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेने पर उन्हें कैसा लगा था.

महाराष्ट्र: डिप्टी CM पद से इस्तीफे से पहले अजित पवार ने देवेंद्र फडणवीस को क्या कहा था?

रोहित पवार ने कहा, ''लेकिन हमें उनकी वापसी का पूरा यकीन था. हम दादा को बहुत अच्छी तरह जानते हैं.'' अजित पवार की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि वह बहुत सक्षम प्रशासक हैं और शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस 'महाराष्ट्र विकास अघाड़ी' के लिए महत्वपूर्ण है जो राज्य में सरकार बनाएगी. उन्होंने कहा, ''इसलिए मुझे लगा कि परिवार के सदस्य और राकांपा कार्यकर्ता के तौर पर जब दादा कल साहेब (शरद पवार) से मिले तो मुझे खुशी हुई.''

...जब अजित पवार पहुंचे विधानसभा तो सुप्रिया सुले पहले लगीं गले और फिर छुए पैर

Newsbeep

रोहित पवार ने भाजपा पर अन्य दलों से नेताओं की खरीद-फरोख्त का हथकंडा अपनाने का भी आरोप लगाया. रोहित ने कहा, ''उन्होंने इस मामले में भी कुछ हद तक इस शैली (हथकंडे) का इस्तेमाल किया. दादा को यह पसंद नहीं आया होगा और फिर उन्होंने साहेब से मुलाकात की. मुझे उम्मीद है कि हम उनके (अजित पवार) मार्गदर्शन में जल्द ही लोगों की सेवा करेंगे.''

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: महाराष्ट्र: आखिर अजित पवार की वापसी कैसे हुई?



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)