नवजोत सिंह सिद्धू ने बताई वजह, आखिर क्यों कैप्टन अमरिंदर सिंह की बात को दरकिनार कर गए पाकिस्तान

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि हम राहुल गांधी के सिपाही हैं. मेरा नारा है कि बुरे दिन जाने वाले हैं और राहुल गांधी आने वाले हैं...लाल किले पे झंडा फहराने वाले हैं. कोई रोक सके तो रोक ले.

नवजोत सिंह सिद्धू ने बताई वजह, आखिर क्यों कैप्टन अमरिंदर सिंह की बात को दरकिनार कर गए पाकिस्तान

नवजोत सिंह सिद्धू.

खास बातें

  • सिद्धू बोले- राहुल गांधी मेरे कैप्टन हैं
  • उन्होंने ही मुझे पाकिस्तान भेजा था
  • कहा- अमरिंदर सिंह मेरे पिता समान हैं
नई दिल्ली:

पंजाब सरकार के कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) के इस बार के पाकिस्तान दौरे के बाद भी विवाद हुआ. पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास समारोह के दौरान भारत विरोधी और खालिस्तान समर्थक गोपाल चावला के साथ तस्वीर पर कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू विवादों में घिर गए. हालांकि इस पर उनकी सफाई भी आई. कॉरिडोर के शिलान्यास का न्योता पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को भी पहुंचा था, लेकिन उन्होंने इसे स्वीकार नहीं किया. हालांकि, पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू इस कार्यक्रम में शामिल होने पाकिस्तान गए थे. सवाल उठा कि जब कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू से पाकिस्तान जाने के फैसले पर पुनर्विचार करने के लिए कहा था, इसके बावजूद वह क्यों गए.

यह भी पढ़ें: आतंकी हाफिज सईद के करीबी खालिस्तान समर्थक चावला के साथ दिखे सिद्धू, सरकार बोली- जोश में होश नहीं खोना चाहिए

नवजोत सिंह सिद्धू ने हैदराबाद में कहा कि राहुल गांधी मेरे कैप्टन हैं और उन्होंने ही मुझे हर जगह (करतारपुर कॉरिडोर) भेजा है. सिद्धू ने कहा कि हम राहुल गांधी के सिपाही हैं. मेरा नारा है कि बुरे दिन जाने वाले हैं और राहुल गांधी आने वाले हैं...लाल किले पे झंडा फहराने वाले हैं. कोई रोक सके तो रोक ले.

 


नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह मेरे पिता समान हैं. मैंने उनसे कहा कि मैं पहले ही पाकिस्तान को वादा कर चुका हूं इसलिए मैं जाउंगा. बता दें कि अमरिंदर सिंह ने सिद्धू को पाकिस्तान नहीं जाने के लिए कहा था. सिद्धू ने कहा कि अमरिंदर सिंह ने मुझे जाने के लिए मना किया था, लेकिन 20 से अधिक कांग्रेस नेताओं के अलावा मुझे केंद्रीय नेतृत्व ने भी जाने के लिए कहा था.  

यह भी पढ़ें: करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास पर सिद्धू बोले- मेरे यार, दिलदार इमरान खान का शुक्रिया

बता दें कि सिद्धू के दौरे से पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह चिढ़े हुए हैं. उन्होंने कहा था कि अपने मंत्रिमंडल के सदस्य सिद्धू को उन्होंने अमृतसर में एक धार्मिक कार्यक्रम पर ग्रेनेड हमले में तीन लोगों के मारे जाने के बाद पाकिस्तान जाने से रोकने की कोशिश की थी, लेकिन उन्होंने इसे अनसुना कर दिया. अमरिंदर सिंह ने इस हमले के लिए पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई को जिम्मेदार बताया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

साथ ही अमरिंदर सिंह ने कहा था कि उन्होंने अनुमति के लिए सिद्धू का अनुरोध इसलिए स्वीकार कर लिया, क्योंकि वह किसी को 'निजी यात्रा' करने से मना नहीं कर सकते हैं. अमरिंदर ने कहा, 'सिद्धू ने मुझे बताया था कि वह पहले ही जाने का वादा कर चुके हैं. जब मैंने उन्हें इस मुद्दे पर अपने रुख से अवगत कराया तो उन्होंने कहा कि यह व्यक्तिगत यात्रा है.

VIDEO: पाकिस्तान में खालिस्तान समर्थक चावला के साथ नजर आए नवजोत सिंह सिद्धू