NDTV Khabar

राहुल बजाज के ‘डर का माहौल' के बयान पर बोलीं वित्त मंत्री- ऐसे विचारों के प्रचार से राष्ट्र हित को नुकसान होता है

राहुल बजाज ने कहा कि इससे पहले की यूपीए-2 में हम सरकार को गाली भी दे सकते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होता.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राहुल बजाज के ‘डर का माहौल' के बयान पर बोलीं वित्त मंत्री- ऐसे विचारों के प्रचार से राष्ट्र हित को नुकसान होता है

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण.

खास बातें

  1. राहुल बजाज ने साधा था मोदी सरकार पर निशाना
  2. कहा था- आज डर का माहौल है
  3. 'कोई भी सरकार की आलोचना नहीं कर सकता'
नई दिल्ली:

उद्योगपति राहुल बजाज मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में ऐसा माहौल है कि लोग सरकार की आलोचना नहीं कर सकते. राहुल बजाज ने कहा है कि इस समय ऐसा माहौल है कि लोग सरकार की आलोचना करने से डरते हैं कि पता नहीं उनकी आलोचना को सही से लिया जाएगा या सरकार में बैठे लोग नाराज हो जाएंगे. गृह मंत्री अमित शाह, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल की मौजूदगी वाले मीडिया के एक कार्यक्रम में उन्होंने सीधे अमित शाह से ही ये बातें कहीं. राहुल बजाज ने कहा कि इससे पहले की यूपीए-2 में हम सरकार को गाली भी दे सकते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होता. उद्योग जगत में एक तरह से कहा गया है कि किसी को कुछ नहीं बोलना है. ऐसा माहौल ठीक नहीं है. राहुल बजाज के इस बयान के बाद सोशल मीडिया पर भाजपा से जुड़े लोगों ने उनकी ट्रोलिंग शुरु कर दी.

देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण में राहुल बजाज के इस बयान पर ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है, 'गृह मंत्री अमित शाह ने उन सवालों का जवाब दे दिया है जिन्हें राहुल बजाज ने उठाया है. सवाल-आलोचनाएं सुनी जाती हैं और उसका हल निकाला जाता है. अपने विचार का प्रचार करने के बजाय जवाब पाने का बेहतर तरीका ढूंढना चाहिए. ऐसे विचार के प्रचार से राष्ट्रीय हित को नुकसान होता है.' वहीं, गृह मंत्री अमित शाह ने का जवाब दिया कि आपका सवाल सुनकर मुझे नहीं लगता है कि लोगों में डर होने के आपके दावे पर कोई यकीन करेगा.


कांग्रेस ने राहुल बजाज के ‘डर का माहौल' बयान को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा, कहा- ...तो सबसे बुरा समय आ जायेगा

अन्य केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'राहुल बजाज गृहमंत्री अमित शाह के सामने खड़े हो सकते हैं, बिना किसी डर के अपनी बात रख सकते हैं और दूसरों को उनके साथ जुड़ने के लिए संकेत दे सकते हैं तो इसका सीधा सा मतलब है कि भारत में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता और लोकतांत्रिक मूल्य जीवित और समृद्ध हैं. यही लोकतंत्र है.'

वहीं, कांग्रेस नेताओं ने बजाज के बयान के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने पत्रकारों से कहा, ‘राहुल बजाज ने जो कहा, वह देशभर में, हर क्षेत्र की साझी भावना है. यदि एक समाज में, एक देश में, एक शहर में सामंजस्य नहीं है तो आप कैसे यह उम्मीद कर सकते हैं कि निवेशक आयेंगे और अपना पैसा वहां लगायेंगे. पैसा केवल वहीं निवेश किया जाता है जहां वह बढ़ सकता है और जहां उसके कई गुणा बढ़ने की उम्मीद हो सकती है.'

उद्योगपति राहुल बजाज के सवाल पर बोले अमित शाह- BJP ने प्रज्ञा ठाकुर के बयान की निंदा की 

साथ ही उन्होंने कहा, ‘और यह केवल उन क्षेत्रों में बढ़ सकता है जहां शांति, सद्भाव, पारस्परिक निर्भरता और खुशी का माहौल हो.' कांग्रेस के एक अन्य प्रवक्ता अभिषेक सिंघवी ने कहा कि काफी समय बाद ‘कॉरपोरेट जगत से किसी व्यक्ति ने सत्ता के बारे में कुछ सच बोलने का साहस दिखाया है.' पार्टी के एक वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने एक ट्वीट में कहा, ‘भारतीय कॉरपोरेट विज्ञापन उद्योग में सबसे प्रसिद्ध टैगलाइनों में से एक है कि ‘आप बजाज को हरा नहीं सकते हैं.' अमित शाह को भी पता चल गया है कि आप बस एक बजाज को चुप नहीं करा सकते हैं. हमारा बजाज ने बैंड बजा दिया.'

बिजनेसमैन राहुल बजाज ने अमित शाह से पूछा यह सवाल, तो बॉलीवुड के म्यूजिक डायरेक्टर बोले- 'कोई तो है...'

टिप्पणियां

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मिलिंद देवड़ा ने ट्वीट किया, ‘मैं राहुल बजाज को हमेशा से ही गैर राजनीतिक, प्रखर राष्ट्रवादी और बहुत ईमानदार व्यक्ति के रूप में जानता हूं. उनकी कल की टिप्पणी उसी के अनुरूप है जो एमएसएमई, बैंकर और उद्योगपति मुझे बता रहे हैं कि अगर कारोबारी भावना जल्द नहीं सुधरी तो सबसे बुरा समय आ जायेगा.'

VIDEO: उद्योगपति राहुल बजाज ने कहा- देश में डर का माहौल



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement