NDTV Khabar

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदम्बरम ने की मोदी सरकार की जमकर तारीफ, कही यह बात...

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदम्बरम (P Chidambaram) को आमतौर पर मोदी सरकार की आलोचना करते ही देखा गया है, लेकिन इस बार उनके रुख में बदलाव देखने को मिला.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदम्बरम ने की मोदी सरकार की जमकर तारीफ, कही यह बात...

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदम्बरम (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. पी. चिदम्बरम ने की मोदी सरकार की तारीफ
  2. गंगा सफाई को लेकर की तारीफ
  3. राजमार्ग निर्माण एवं आधार को लेकर किए गए कार्यों की भी प्रशंसा की
चेन्नई:

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदम्बरम (P Chidambaram) को आमतौर पर मोदी सरकार की आलोचना करते ही देखा गया है, लेकिन इस बार उनके रुख में बदलाव देखने को मिला है. दरअसल, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदम्बरम (P Chidambaram) ने केंद्र की भाजपा नीत सरकार की गंगा सफाई, राजमार्ग निर्माण एवं आधार को लेकर किए गए कार्यों की शनिवार को प्रशंसा की है. उन्होंने कहा कि एक दृढ़निश्चयी प्रयास से ही गंगा नदी की सफाई हो सकी है और वह इसे लेकर गर्व महसूस करते हैं. प्रत्येक सरकार कुछ पहल करती है जो कि अच्छे और लाभकारी होते हैं. पी. चिदम्बरम (P Chidambaram) ने राजग सरकार की प्रशंसा करते हुये कहा कि उसके राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण कार्यक्रम को सफलता मिली है अैर संप्रग सरकार के समय आधार जैसी पहल को और मजबूत बनाया गया. 

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम की बढ़ेंगी मुश्किलें, INX मीडिया मामले में दर्ज होगा मुकदमा: सूत्र



इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कहा था कि पुलवामा हमले को लेकर एक मीडिया रिपोर्ट में खुफियागीरी की विफलता के आरोप पर सरकार जवाब देने को बाध्य है क्योंकि घटना और उसके बाद के घटनाक्रम को नजरअंदाज करना या भूल जाना खतरनाक होगा. उन्होंने ‘द वीक' की एक खबर का हवाला देते हुए पूछा, "दिल्ली और राज्य की राजधानियों में स्थापित ‘मल्टी एजेंसी सेंटर' (मैक) का क्या हुआ?''    पूर्व केंद्रीय गृह एवं वित्त मंत्री ने कहा, ‘‘ खुफिया रिपोर्टों के हवाले से 'वीक' पत्रिका ने तीन मार्च के अंक में कहा है कि ‘पुलवामा हमला खुफिया चूक थी'." 

गोहत्या में NSA लगाने पर अपनों से घिरी कमलनाथ सरकार, अब चिदंबरम ने भी कहा- फैसला गलत था   

चिदंबरम ने ट्विटर पर कहा कि सरकार 'वीक' पत्रिका के आरोपों का जवाब देने और मल्टी एजेंसी सेंटर की भूमिका का खुलासा करने के लिए बाध्य है. पुलवामा और उसके बाद की घटनाओं को नजरअंदाज करना या कुछ दिनों के बाद भूल जाना बेहद खतरनाक होगा. गौरतलब है कि 14 फरवरी को पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के फिदाई हमलावर ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था जिसमें बल के 40 कर्मी शहीद हो गए.

 

VIDEO: आईएनएक्स मीडिया से जुड़े मनी लांड्रिंग मामले में चिदंबरम से हुई पूछताछ

टिप्पणियां

(इनपुट भाषा से)
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement