NDTV Khabar

पीएम ने की सौभाग्‍य योजना की घोषणा, कहा- गरीब कल्‍याण इस सरकार की पहचान, गरीबों को मिलेगा मुफ्त कनेक्‍शन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दीनदयाल ऊर्जा भवन का लोकार्पण किया. इस दौरान उन्होंने देश के हर घर में बिजली पहुंचाने की घोषणा की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम ने की सौभाग्‍य योजना की घोषणा, कहा- गरीब कल्‍याण इस सरकार की पहचान, गरीबों को मिलेगा मुफ्त कनेक्‍शन

प्रधानमंत्री ने ओएनजीसी के दीनदयाल उपाध्याय ऊर्जा भवन को राष्ट्र को समर्पित किया

खास बातें

  1. बीपीएल परिवारों को मुफ्त में मिलेगी बिजली और एलईडी बल्ब
  2. घरों में लगाए जाएंगे स्मार्ट प्रीपेड मीटर, मोबाइल से होंगे चार्ज
  3. एपीएल परिवारों से 10 किश्तों में वसूले जाएंगे 500 रुपये
नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार शाम दीनदयाल ऊर्जा भवन का लोकार्पण किया. इस दौरान उन्होंने हर घर को बिजली देने की घोषणा करते हुए सौभाग्य योजना का ऐलान किया. इस योजना के तहत गरीबों को मुफ्त में बिजली के कनेक्शन दिए जाएंगे. प्रधानमंत्री ने रिमोट के माध्यम से इस योजना का लोकोर्पण किया. इस योजना के तहत हर घर को रोशनी में समेट कर प्रगति के पथ पर ले जाना है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि गरीब कल्‍याण इस सरकार की पहचान के साथ जुड़ा हुआ है. उन्‍होंने कहा कि किसी भी गरीब से बिजली कनेक्‍शन के लिए कोई शुल्‍क नहीं लिया जाएगा. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में बीपीएल परिवारों को उज्‍ज्‍वला योजना के तहत पहले से ही बिजली के कनेक्‍शन मुफ्त में दिए जा रहे हैं. प्रधानमंत्री ने दीनदयाल उपाध्‍याय ऊर्जा भवन को राष्‍ट्र के नाम समर्पित किया और सौभाग्‍य योजना की घोषणा की.

मोदी ने कहा कि पिछले वर्ष आज के दिन पंडित दीनदयाल उपाध्‍याय के जन्‍मदिवस के अवसर पर गरीब कल्‍याण वर्ष का ऐलान किया गया था जिसकी आज हम समाप्‍ति‍ कर रहे हैं. इस पूरे वर्ष हमने गरीबों के लिए काम किया.' उन्‍होंने कहा कि इस सरकार ने 30 करोड़ लोगों का खाता खुलवाया और 15 करोड़ लोगों को बीमा दिया. प्रधानमंत्री ने कहा कि 9 करोड़ खाता धारकों को बिना किसी गारंटी के 3.5 लाख करोड़ रुपये का लोन दिया गया.' भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के समापन भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बोल रहे थे. प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में उज्‍ज्‍वला योजना का भी जिक्र किया. उन्‍होंने कहा कि न्‍यू इंडिया के हर घर में बिजली का कनेक्‍शन होगा. प्रधानमंत्री ने कहा कि अभी देश में 25 करोड़ घर है जिनमें से 4 करोड़ घरों में बिजली का कनेक्‍शन नहीं है.

यह भी पढ़ें: भ्रष्टाचार के मामले में जो भी पकड़ा जाएगा वह नहीं बचेगा, मेरा कोई रिश्‍तेदार नहीं : पीएम नरेंद्र मोदी

इस योजना का पूरा नाम 'प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना' है. इसके तहत 31 मार्च, 2019 तक हर घर में बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया है. सोमवार को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जन्म शताब्दी मनाई गई. इस मौके पर पीएम ने ओएनजीसी के दीनदयाल ऊर्जा भवन को राष्ट्र का समर्पित किया. इस मौके पर पट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान केंद्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री आरके सिंह भी मौजूद थे.

VIDEO: 2 जून 2017 की रिपोर्ट : यूपी के गांवों में बिजली पहुंचाने के पीयूष गोयल के दावों की हकीकत

प्रधानमंत्री ने 'सौभाग्य योजना' का शुभारंभ करते हुए कहा कि चार करोड़ घर आज भी 18वीं शताब्दी में गुजारा कर रहे थे. बिजली बल्ब का अविष्कार हुए सवा सौ साल हो चुके हैं, लेकिन हमारे देश में चार करोड़ परिवार आज भी लालटेन जला रहे हैं.  रोशनी न होने की वजह से महिलाओं को सबसे ज्यादा मुश्किलों का सामना करना पड़ता है. बिना बिजली वाले घरों में जब बिजली का कनेक्शन पहुंचेगा तभी उनका भाग्य बदलेगा. उन्होंने कहा कि किसी भी गरीब से बिजली कनेक्शन का कोई शुल्क नहीं वसूला जाएगा. सरकार घर-घर जाकर बिजली का कनेक्शन देगी. 16 हजार करोड़ से ज्यादा का खर्च इस योजना पर आएगा. इसका बोझ किसी गरीब नहीं डाला जाएगा. सरकार पूरा खर्च वहन करेगी. गरीब को सौभाग्य का सकंल्प हम सिद्ध करके रहेंगे. 

प्रधानमंत्री ने कहा कि 18 हजार गांवों में बिजली पहुंचाने की सरकार ने ठानी थी. एक हजार दिन में इस काम को पूरा करने का ऐलान किया था. अब तीन हजार से कम गांव बचे हैं. इनमें भी जल्द ही बिजली पहुंच जाएगी. न्यू इंडिया के हर घर में बिजली का कनेक्शन होगा. देश बिजली संकट को पीछे छोड़कर बिजली सरप्लस की ओर बढ़ रहा है. बिजली उत्पादन, ट्रांसमिशन, डिस्ट्रीब्यूशन और कनेक्शन पर अलग-अलग काम किया गया. कोयला उत्पादन में भी रिकॉर्ड वृद्धि की है. 

प्रधानमंत्री ने इस दौरान अपनी सरकार के कामों को लोगों के सामने रखा. उन्होंने कहा कि दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष को गरीब कल्याण वर्ष के तौर पर मानने का ऐलान किया था. सरकार की कोई भी योजना हो, उसमें गरीब कल्याण ही नजर आता है. किसी ने सोचा था कि कोई ऐसी सरकार आएगी, जो गरीबों का बैंक में खाता खुलवाएगी. किसी ने सोचा था कि ऐसी सरकार आएगी कि जो महिलाओं को रसोई में धुएं से मुक्ति दिलवाएगी. हवाई चप्पल पहने वाले को हवाई जहाज में सफर कराएगी. उन्होंने कहा कि गरीबों की मुश्किलों को कम करना मेरी सरकार का लक्ष्य है. 

टिप्पणियां
इस योजना के तहत बिजली कनेक्शन के लिए 2011 की सामाजिक, आर्थिक और जाति जनगणना के आधार पर पहचान की जाएगी. जो जनगणना में शामिल नहीं हैं, उन्हें 500 रुपये में कनेक्शन दिया जाएगा जो दस किश्तों में वसूला जाएगा. घर में एक एलईडी बल्ब और मोबाइल चार्जर का कनेक्शन दिया जाएगा. घर के मुखिया की फोटो खींचकर बिजली देने की प्रक्रिया शुरू करेंगे.

ऊर्जा राज्य मंत्री आरके सिंह ने कहा कि इस योजना में बड़े पैमाने पर  नौजवानों को रोजगार भी मिलेगा. उन्होंने बताया कि एपीएल परिवार से 500 रुपये दस किश्तों में लिए जाएंगे. गांव-गांव में कैंप लगाकर बिजली कनेक्शन दिए जाएंगे. स्मार्ट और प्रीपेड मीटर लगाएंगे जाएंगे. इसे मोबाइल से रिचार्ज करा सकेंगे. 50 रुपये की बिजली भी मोबाइल की तरह चार्ज की जा सकेगी. मोबाइल टीम तैयार की जाएगी. जहां भी लाइन में कोई खराबी होगी, उसकी तुरंत मरम्मत की जाएगी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement