NDTV Khabar

ओडिशा में बोले पीएम मोदी, हमने चार साल में छह करोड़ से ज्यादा फर्जी राशन कार्ड रद्द किए

पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा हमने हिम्मत के साथ तिजोरी भरने वाले बिचौलियों के फर्जी नामों को रद्द किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ओडिशा में बोले पीएम मोदी, हमने चार साल में छह करोड़ से ज्यादा फर्जी राशन कार्ड रद्द किए

रैली को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी.

खास बातें

  1. हमारा मकसद गरीबों की ताली तक खाना पहुंचाने का है- पीएम मोदी
  2. बिचौलिये भर रहे थे गरीबों के नाम पर अपनी तिजोरी-पीएम
  3. 'हमारी सरकार ने किया गरीबों के लिए काम'
भुवनेश्वर:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने मंगलवार को ओडिशा में एक रैली को संबोधित किया. रैली में उन्होंने विरोधी दलों पर जमकर निशाना साधा, इसके साथ ही पीएम ने अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र भी किया. पीएम मोदी (PM Modi) ने कहा, 'बीते चार वर्षों में हमारी सरकार ने देश में छह करोड़ से ज्यादा फर्जी राशनकार्ड, फर्जी गैस कनेक्शन, गलत नाम से पेंशन लेने वाले लोगों को ढूंढ़ निकाला. हमने पता किया कि ये गरीब का पैसा किसकी मेहरबानी से ले रहे हैं? हमने (PM Modi) हिम्मत के साथ तिजोरी भरने वाले बिचौलियों के फर्जी नामों को रद्द किया है. पूरे ओडिशा की जितनी आबादी है, उससे ज्यादा ऐसे फर्जी लोग देश का रुपया चुरा रहे थे. ये दलाल वह फायदा उठा रहे थे, जिसके असली हकदार आप थे. हमने आपके लिए काम किया है. यह ऐसे लोग थे जो कभी जन्में ही नहीं लेकिन इनके नाम पर दूसरे बिचौलियें अपनी तिजोरियां भर रहे थे. 

यह भी पढ़ें: राम मंदिर के लिए कानून! कैसा कानून? कौन सा कानून?


इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा, 'केंद्र सरकार 24, 25 और 30 रुपए में एक किलो गेंहू खरीद कर उसे सिर्फ दो रुपए में राशन की दुकान में उपलब्ध कराती है. यानी 25 से 27 रुपये का गेंहू गरीब तक दो रुपये में देती है. ताकी गरीब खा सके. चावल भी केंद्र सरकार 30 से 32 रुपए में खरीदकर गरीब को सिर्फ तीन रुपए में गरीब को पहुंचाता है. लेकिन ये गेंहू व चावल उस गरीब तक पहुंचने नहीं दिया जाता है. एक समूचा तंत्र ऐसा बना हुआ था जो फर्जी राशनकार्ड की मदद से अधिकांश अनाज उठवा लेता था. जब गरीब सस्ता राशन लेने दुकान पर जाता था तो उसे बताते थे कि माल नहीं है सामान बिक गया.' गौरतलब है कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब पीएम मोदी ने केंद्र सरकार की तारीफ करते हुए पहले की सरकार पर हमला बोला हो. दिल्ली में बीजेपी के राष्ट्रीय परिषद की बैठक में पीएम मोदी ने कहा था कि समान्य श्रेणी के गरीब युवाओं को शिक्षा और नौकरी क्षेत्र में 10 फीसदी का आरक्षण युवाओं को फायदा देगा.

यह भी पढ़ें: बीजेपी नेता पर संघ कार्यकर्ताओं ने किया हमला, चार स्वयं सेवक गिरफ्तार

यह युवाओं को अवसर देने जैसा है. अंबेडकर द्वारा रचित संविधान में आरक्षण का प्रावधान दिया गया है. मैं सभी को समान्य अधिकारी देना चाहता था.उन्होंने कहा था कि मैं सिर्फ गरीबी के आधार पर समान अधिकार देना चाहता हूं. सभी को अवसरों की समानता और समाजित न्याय की बात करना गलत नहीं. पहले से जिनकों आरक्षण की सुविधा मिल रही थी उसे छेड़े बिना समान्य वर्ग को आरक्षण दिया गया. इतना ही नहीं शिक्षा में दस फीसदी की बढ़ोतरी भी की जाएगी. यानी सीटों को बढ़ाया जाएगा.

यह भी पढ़ें: प्राइम टाइम इंट्रो : क्या मोदी के कारण हारता है विपक्ष?

सबकुछ इसी से ठीक हो जाएगा यह दावा न मैनें किया न करूंगा. लेकिन यह रास्ता है जो समान्य वर्ग के गरीबों को अवसर की समानता देता है. हमारे कार्यकर्ताओं को इसे लेकर चर्चा करनी चाहिए. मैं फिर बता दूं कि हमनें किसी वर्ग को वंचित किए बिना यह व्यवस्था की गई है. कुछ लोग भ्रम फैलाकर असंतोष फैलाना चाहते हैं. हमारे युवा हमारी सबसे बड़ी शक्ति है. 

VIDEO: राष्ट्रीय अधिवेशन को पीएम मोदी ने किया संबोधित.

 

टिप्पणियां

 

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement